किल कोरोना अभियान : मध्य प्रदेश की 22 हजार 813 ग्राम पंचायतों के 20 हजार 565 गांव कोरोना मुक्त - Jai Bharat Express

Breaking

किल कोरोना अभियान : मध्य प्रदेश की 22 हजार 813 ग्राम पंचायतों के 20 हजार 565 गांव कोरोना मुक्त

 


भोपाल, 28 मई। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर धीमी पड़ती दिखाई दे रही है. केंद्र और राज्य सरकार के प्रयासों का असर है कि देश में कोरोना के मामलों में कमी आई है. सुखद बात ये है कि एक वक्त गांवों में तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे थे लेकिन अब हालात काबू में लग रहे हैं.

एमपी की बात करें तो प्रदेश की 22 हजार 813 ग्राम पंचायतों में से 20 हजार 565 गांव पूरी तरह से कोरोना मुक्त हो चुके हैं. राज्य सरकार ने गांवों में कोरोना के प्रसार की रोकथाम के लिए किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है. माना जा रहा है कि सरकार की इस पहल का फायदा मिला है. भोपाल जिले की 189 ग्राम पंचायतों में से 122 पंचायतें कोरोना मुक्त हो चुकी हैं. साथ ही प्रभावित ग्राम पंचायतों में एक्टिव केस भी सिर्फ 203 ही बचे हैं. जो एक्टिव केस हैं, उनमें से अधिकतर होम आइसोलेशन में हैं.


राज्य के 46 जिलों में पॉजिटिविटी दर 5 फीसदी से भी कम हो गई है. प्रदेश के 6 जिलों इंदौर, भोपाल, सागर, रतलाम, अनूपपुर और रीवा में साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर क्रमशः 8.1 फीसदी, 7.7 फीसदी, 7 फीसदी, 6.1 फीसदी, 6.2 फीसदी और 5.2 फीसदी है.

क्या है किल कोरोना अभियान

किल कोरोना अभियान के तहत सरकार ने गांवों में आंगनबाड़ी और स्वास्थ्य विभाग के लोगों की मदद से घर-घर जाकर सर्वे कराया, टेस्टिंग और प्रभावित लोगों को मेडिकल किट भी उपलब्ध कराई. साथ ही लोगों को बीमारी के प्रति जागरुक किया गया और लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग बरतने की अपील की गई. सरकार की इस कोशिश का असर भी दिखा और एक वक्त गांवों में बेकाबू होता दिखाई दे रहा कोरोना अब ग्रामीण इलाकों में नियंत्रण में दिखाई दे रहा है.

कोरोना की तीसरी लहर के खिलाफ कसी कमर

कोरोना की तीसरी लहर आने की भी आशंका जताई जा रही है. ऐसे में एमपी सरकार ने अभी से ही उसके खिलाफ तैयारी शुरू कर दी है. इसके तहत सरकार गांवों में किल कोरोना अभियान के तहत अधिक से अधिक टेस्ट करने की योजना बना रही है. साथ ही कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए जाने की योजना है. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना समीक्षा के दौरान ये निर्देश दिए हैं.

सीएम शिवराज ने एक-एक मरीज की पहचान कर उन्हें निशुल्क मेडिकल किट प्रदान करने के भी निर्देश दिए हैं. सीएम ने विशेषज्ञों से कहा है कि वह कोरोना की तीसरी लहर को लेकर अध्ययन करें और उसी के अनुसार तैयारी करें. सीएम ने राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को निरंतर बेहतर करने की बात कही.