राजमाता जीजाबाई की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने दी विनम्र श्रद्धांजलि - Jai Bharat Express

Breaking

राजमाता जीजाबाई की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने दी विनम्र श्रद्धांजलि

 




भोपाल, मध्यप्रदेश। जहां मध्यप्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना का संकट काल जारी है वहीं इस बीच कई महान विभूतियों को भी याद किया जा रहा है,बता दें कि आज मराठा गौरव, छत्रपति शिवाजी महाराज की जन्मदात्री राजमाता जीजाबाई (Rajamata Jijabai) की पुण्यतिथि है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राजमाता जीजाबाई की पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि दी है।

सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि

इस संबंध में, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर लिखा कि- मराठा गौरव, छत्रपति शिवाजी महाराज जी की जन्मदात्री राजमाता जीजाबाई की पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि! कठोर अनुशासन के साथ उच्च संस्कार के आपके आशीर्वाद का ही सुफल था, जो विपरीत परिस्थितियों में भी वो मातृभूमि के गौरव की रक्षा के लिए चट्टान बनकर खड़े रहे। मां तुम्हें प्रणाम!

नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट कर कहा-

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट कर कहा- "एक माँ ही संतान की पहली "गुरु" होती है।" इस आदर्श वाक्य को चरितार्थ कर राजमाता जीजाबाई ने अपनी शिक्षा, लगन,कठिन परिश्रम से 'शिवराया' को मराठा साम्राज्य के महान शासक छत्रपति शिवाजी के रूप मे परिवर्तित किया। राजमाता जीजाबाई की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन।

12 जनवरी सन् 1598 में हुआ था राजमाता जीजाबाई का जन्म :

बता दें जीजाबाई का जन्म 12 जनवरी 1598 बुलढाणा जिले के सिंधखेड़ में हुआ था, उनके पिता लखुजी जाधव एक शक्तिशाली सामन्त थे, माता का नाम महालसाबाई था। वे बचपन से बहुत बहादुर एवं असाधारण व्यक्तित्व वाली महिला थीं। साल 1605 में काफी कम उम्र में उऩका विवाह दौलताबाद के राजा शाह भोसले के साथ हो गया था। विवाहोपरांत जीजामाता अपने पति की हर राजनीतिक गतिविधियों में सक्रियता से भाग लेती थीं।

17 जून को सन् 1674 में राजमाता जीजाबाई की हो गई थी मृत्यु :

बताते चले कि राजमाता जीजाबाई, जिन्हें राजमाता जीजाऊ के नाम से जाना जाता है, राजमाता जीजाबाई एक प्रशासक, योद्धा और छत्रपति शिवाजी महाराज की माँ थीं। वही 17 जून को सन् 1674 में राजमाता जीजाबाई की मृत्यु हो गई थी। हर साल 17 जून को राजमाता जीजाबाई की Death Anniversary मनाई जाती है।