नशीले इंजेक्शन के कारोबार में लिप्त 2 आरोपी गिरफ्तार 100 नग नशीले इंजैक्शन के साथ आरोपीयों को पुलिस ने दबोचा - Jai Bharat Express

Breaking

नशीले इंजेक्शन के कारोबार में लिप्त 2 आरोपी गिरफ्तार 100 नग नशीले इंजैक्शन के साथ आरोपीयों को पुलिस ने दबोचा


नशीले इंजेक्शन के कारोबार में लिप्त 2 आरोपी गिरफ्तार 100 नग नशीले इंजैक्शन एवं 1500 रूपये नगद तथा 1 एक्टीवा एवं 1 स्कूटी जप्त।


आरोपियों के विरूद्ध धारा 328,34 भादवि एवं 5/13 ड्रग्स कंट्रोल एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।

जबलपुर |नशीले इंजेक्शन के कारोबार में लिप्त 2 आरोपीयों को पुलिस ने 100 नग नशीले इंजैक्शन के साथ दबोचा है। इस संबंध मे थाना प्रभारी हनुमानताल उमेश गोल्हानी ने बताया कि आज दिनांक 12-10-21  को क्राईम ब्रांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि मरघटाई के पास 2 लड़के नीले रंग की स्कूटी एवं सफेद रंग की एक्टीवा में नशीले इंजैैक्शन रखे हुये है।और बेचने की फिराक मे खड़े हैं। सूचना पर योजनाबद्ध तरीेके से क्राईम ब्रांच एवं थाना हनुमानताल की टीम द्वारा मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गई जहॉ दो लड़के स्कूटी एंव एक्टीवा लिये खड़े दिखे जो पुलिस को देखकर भागने लगे जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ा गया एवं नाम पता पूछा तो दोनो ने अपने नाम राजू उर्फ राकेश विश्वकर्मा उम्र 18 वर्ष निवासी गोपाल होटल घमापुर एवं रवि तिवारी उम्र 32 वर्ष निवासी करिया पाथर मरघटाई के पास हनुमाताल बताया, उनकी तलाशी लेने पर राजू विश्वकर्मा स्कूटी क्रमांक एमपी 20 जेडी 1850 की डिक्की में एक पन्नी में फेैनेरामाईन मैलेट इंजेक्शन 10 एमएल वाले 30 नग, एक पन्नी में ब्रूप्रेनोरनफिन इंजेक्शन 30 नग, तथा इंजैक्शन बिक्री की रकम 1500 रूपये तथा रवि तिवारी  बिना नम्बर की एक्टीवा की डिक्की में एक पन्नी में फेैनेरामाईन मैलेट इंजेक्शन 10 एमएल वाले 20 नग, एक पन्नी में ब्रूप्रेनोरनफिन इंजेक्शन 20 नग, रखे मिले। दोनों से कुल 100 नग नशीले इंजैक्शन एवं नगद 1500 रूपये  स्कूटी एवं एक्टीवा जप्त करते हुये दोनों आरोपियों के विरूद्ध धारा 328,34 भादवि एवं 5/13 ड्रग्स कंट्रोल एक्ट  का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।

उल्लेखनीय भूमिका - 2 आरोपियों को नशीले इंजैक्शन के साथ रंगे हाथ पकडने में क्राईम ब्रांच के उप निरीक्षक आर.पी. बर्मन, प्रधान आरक्षक राधेश्याम, ओमनारायण आरक्षक मुकुल गौतम एवं थाना हनुमानताल के प्रधान आरक्षक महेन्द्र बिष्ट, आरक्षक समरेन्द्र, चंद्रभान सिंह, प्रदीप तेकाम की सराहनीय भूमिका रही।