संबल योजना जो कमलनाथ जी ने बंद कर दी थी वह फिर से चालू जमीन का पट्टा देकर गरीबो को भी बनायेंगे मालिक देखें इस वीडियो में - Jai Bharat Express

Breaking

संबल योजना जो कमलनाथ जी ने बंद कर दी थी वह फिर से चालू जमीन का पट्टा देकर गरीबो को भी बनायेंगे मालिक देखें इस वीडियो में

शिवराज की संबल योजना फिर शुरू, गरीब परिवारों को मिलेगा लाभ, जिन गरीब भाई बहनों के पास रहने की जमीन नहीं है,उन्हें जमीन का पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाया जाएगा।





संबल योजना जो कमलनाथ जी ने बंद कर दी थी वह फिर से चालू कर दी गई है।


6400 करोड़ के कोरोना काल के बिजली के बिल गरीब नहीं भरेगा सरकार भरवाएगी ताकि आप पर बोझ ना आए।


मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना कल फिर से प्रारंभ हो गई है। बेटियों की शादी की तैयारी धूमधाम से करो, शादी सरकार करवाएगी।

 

भोपाल|मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जन कल्याण संबल योजना को फिर से शुरु कर दिया है। असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए 2018 में मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना शुरू की गई थी, बाद में कमलनाथ सरकार के सत्ता में आने के बाद इस योजना को बंद कर दिया गया था।लेकिन अब मध्य प्रदेश में फिर से शिवराज सिंह चौहान की सरकार का राज है। लिहाजा राज्य में जन कल्याण संबल योजना को पुन: प्रभावी तरीके से 5 मई से शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि संबल योजना हमारे गरीब भाई-बहनों के परिवारों को नया जीवन देने वाली योजना है। जन्म से पहले से लेकर जिंदगी के बाद तक इस योजना का गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा, इस योजना का लाभ लेने के लिए असंगठित क्षेत्र में नियोजित श्रमिक अपनी ग्राम पंचायत/जोन में संपर्क कर अपना पंजीयन करवा सकते हैं।

कौन है लाभ लेने के लिए पात्र


मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में असंगठित श्रमिकों को लाभांवित करने का प्रावधान है. असंगठित श्रमिक से आशय उस व्यक्ति से है जो 18 से 60 वर्ष की आयु का हो एवं जो नौकरी, स्वरोजगार, घरों मे कार्य, या वेतन हेतु अन्य अस्थाई प्रकृति के कार्य कर रहा हो, किसी ऐसे कार्य मे नियोजित हो जो किसी एजेंसी, ठेकेदार के माध्यम से या प्रयत्क्ष रूप से किया जा रहा हो और जिन्हें बीमा, भविष्य निधि, ग्रेच्युटी, पेंशन आदि सामाजिक सुरक्षा प्रावधानों का लाभ प्राप्त नहीं होता हो।ऐसे व्यक्ति जो 01 हेक्टेयर से अधिक कृषि भूमि धारित करते हों अथवा शासकीय सेवा मे कार्यरत हो अथवा आयकर दाता हों, वे इस योजना मे असंगठित श्रमिक नहीं माने जाएंगे. वे हितलाभ प्राप्त करने के लिए अपात्र होंगे।

संबल योजना के लाभ


योजना में श्रमिक की असामयिक मृत्यु पर अनुग्रह सहायता, अंत्येष्टि सहायता और अपंगता पर आर्थिक सहायता का प्रावधान है. संबल योजना में 5 हजार रुपये की राशि अंत्येष्टि के लिए सहायता के रूप में दी जाती थी. सामान्य मृत्यु पर 2 लाख रुपये की राशि और दुर्घटना से मृत्यु होने पर चार लाख रुपये की राशि परिजन को देने का प्रावधान किया गया था. स्थाई अपंगता पर 2 लाख रुपये की अनुग्रह सहायता और आंशिक स्थाई अपंगता पर एक लाख रुपये की अनुग्रह सहायता देने का प्रावधान किया गया. उन्नत व्यवसाय के लिए उपकरण क्रय करने बैंक से प्राप्त ऋण का 10 फीसदी अथवा 5 हजार रुपये, जो भी कम हो, वह भी इस योजना में देने का प्रावधान किया गया था।

इसके अलावा शिक्षा प्रोत्साहन योजना, बकाया बिजली बिल माफी योजना, सरल बिजली बिल योजना, निशुल्क चिकित्सा प्रसूति सहायता योजना, रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण योजना भी जन कल्याण संबल योजना के तहत चलती हैं।