ये वलियों का वो मुकाम है कि अगर नजर फेर लेते हैं, तो पूरे शहर वीरान कर देते हैं। जरा हिस्ट्री पढ़ लो तो पता चल जाएगा कव्वाल को पुलिस ने दबोच लिया देखिए - Jai Bharat Express

Breaking

ये वलियों का वो मुकाम है कि अगर नजर फेर लेते हैं, तो पूरे शहर वीरान कर देते हैं। जरा हिस्ट्री पढ़ लो तो पता चल जाएगा कव्वाल को पुलिस ने दबोच लिया देखिए

हिंदुस्तान के खिलाफ जहर उगलने वाला कव्वाल कानपुर से गिरफ्तार।उर्स मेले में हिन्दुस्तान को लेकर विवादित बयान देने वाले कव्वाल शरीफ परवाज को रीवा पुलिस ने कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है।






मोदी जी कहते हैं हम हैं, योगी जी कहते हैं हम हैं, अमित शाह कहते हैं हम हैं... मगर है कौन, कौन हैं। अगर गरीब नवाज (अजमेर दरगाह) चाह ले न, तो हिंदुस्तान का पता ही नहीं चलेगा कि कहां पर बसा था, कहां पर था। ये वलियों का वो मुकाम है कि अगर नजर फेर लेते हैं, तो पूरे शहर वीरान कर देते हैं। जरा हिस्ट्री पढ़ लो तो पता चल जाएगा।


रीवा |हिन्दुस्तान को लेकर विवादित बयान देने वाले कव्वाल शरीफ परवाज को रीवा पुलिस ने कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को रीवा कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।रीवा पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने कहा कि विकास गुप्ता की रिपोर्ट पर मनगवां थाने में शरीफ परवाज सहित उर्स कमेटी के संचालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया था। गिरफ्तारी के लिए टीम कानपुर भेजी गई थी। उक्त टीम ने रविवार शाम कव्वाल को गिरफ्तार कर लिया। उसे सोमवार को रीवा ले आए थे। न्यायालय में पेश किया गया जहां से कव्वाल को जेल भेजा जा चुका है।



आपको बता दें कि रीवा जिले के मनगवां थाना क्षेत्र के मलकपुर तलाब में 28 मार्च को ईदगाह और उर्स कमेटी की ओर से कव्वाली का आयोजन किया गया था। जिसमें  कानपुर का कव्वाल शरीफ परवाज भी अपनी टीम के साथ शामिल हुआ था। उसने कव्वाली के दौरान हिन्दुस्तान पर एक विवादित टिप्पणी की थी, जिसके बाद वो विवादों में आ गया था,  कव्वाल नवाज शरीफ ने कहा था कि- मोदी जी कहते हैं हम हैं, योगी जी कहते हैं हम हैं, अमित शाह कहते हैं हम हैं, मगर है कौन, कौन हैं। अगर गरीब नवाज (अजमेर दरगाह) चाह ले न, तो हिंदुस्तान का पता ही नहीं चलेगा कि कहां पर बसा था, कहां पर था। ये वलियों का वो मुकाम है कि अगर नजर फेर लेते हैं, तो पूरे शहर वीरान कर देते हैं। जरा हिस्ट्री पढ़ लो तो पता चल जाएगा। इस टिप्पणी पर रीवा में एफआईआर दर्ज की गई थी। इसके बाद मध्यप्रदेश पुलिस की दो टीमें उसे पकड़ने के लिए कानपुर गई थी।




मध्यप्रदेश ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा 👇


मामले में प्रदेश के गृहमंत्री ने भी कहा था कि मेरा कव्वाल से निवेदन है कि डोगरी, दादरा, ख्याल कुछ भी गाएं, लेकिन देश के खिलाफ गाने का ख्याल ही निकाल दें। लेखक हो, गायक हो, शायर हो या कव्वाल। राष्ट्रविरोधी ख्याल दिल से निकाल दें। क्योंकि ये राष्ट्रवाद का युग है। अब राष्ट्रवादी सरकार है। इस तरह नहीं चलेगा।