Diabetes में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए रामबाण है दालचीनी, ऐसे करें यूज - Jai Bharat Express

Breaking

Diabetes में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए रामबाण है दालचीनी, ऐसे करें यूज



 नई दिल्ली: हमारे किचन में मौजूद ज्यादातर मसाले ऐसे हैं जो खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ ही औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं और हमें हेल्दी बनाए रखने में भी मदद करते हैं. हल्दी, हींग, काली मिर्च, जीरा, अजवायन- ये कुछ ऐसे ही मसाले हैं. इसी लिस्ट में शामिल है एक और मसाला- दालचीनी (Cinnamon). सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर की कई डिशेज में दालचीनी का इस्तेमाल होता है. केक, पेस्ट्री जैसे बेक होने वाले डिजर्ट में तो खासतौर पर दालचीनी पाउडर यूज किया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि दालचीनी आपकी सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद है, खासकर डायबिटीज (Diabetes) को मैनेज करने में. यहां जानें कैसे डायबिटीज खासकर टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद कर सकती है दालचीनी.

क्या दालचीनी से ब्लड शुगर लेवल होगा कंट्रोल?

अमेरिकी वेबसाइट healthline.com की मानें तो कई स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि दालचीनी ब्लड शुगर (Blood Sugar) को कम करने में मदद करती है. टाइप 2 डायबिटीज के 543 मरीजों पर एक रिव्यू स्टडी हुई जिसमें उनके ब्लड शुगर लेवल में 24 mg/dL की कमी देखने को मिली. इसके अलावा बहुत से लोगों में भोजन करने के बाद ब्लड शुगर का लेवल तेजी से बढ़ने लगता है. शुगर लेवल में हुई इस बढ़ोतरी की वजह से शरीर में ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस और इन्फ्लेमेशन (Inflammation) भी होने लगता है जिसकी वजह से शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है और डायबिटीज के साथ ही कई और बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे में अगर आप दालचीनी का इस्तेमाल करते हैं तो भोजन करने के बाद बढ़ने वाले शुगर लेवल को कम करने में मदद मिल सकती है.

इंसुलिन की तरह काम करती है दालचीनी

शरीर पर इंसुलिन (Insulin) जो असर दिखाता है कुछ ऐसा ही असर दालचीनी का भी होता है और इस वजह से दालचीनी खून में मौजूद ग्लूकोज (Glucose) को शरीर की कोशिकाओं तक पहुंचाने में मदद करती है. इसके अलावा दालचीनी, इंसुलिन संवेदनशीलता को भी बढ़ाती है जिससे इंसुलिन बेहतर तरीके से काम करने लगता है और ब्लड शुगर का लेवल कम हो जाता है. एक स्टडी में यह बात सामने आयी कि दालचीनी खाने के तुरंत बाद इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ गई और इसका असर करीब 12 घंटे तक रहा. अमेरिकी वेबसाइट webmd.com की एक रिपोर्ट की मानें तो अगर 40 दिनों तक रोजाना 1 से 6 ग्राम तक दालचीनी का सेवन किया जाए तो ब्लड शुगर लेवल को 24 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है.


कई फायदों वाली दालचीनी

दालचीनी औषधीय गुणों से भरपूर (Medicinal Properties) मसाला है जिसका उपयोग प्राचीन समय से पारंपरिक दवाइयां बनाने के साथ ही आयुर्वेद में भी किया जा रहा है. दालचीनी एंटीऑक्सिडेंट गुणों का खजाना है, जो शरीर में मौजूद फ्री रैडिकल्‍स से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करती है. इसके अलावा दालचीनी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं. ब्लड शुगर कंट्रोल के अलावा भी दालचीनी के कई फायदे हैं:
-दालचीनी पेट में दर्द, बदहजमी और सीने में जलन जैसी दिक्कतों को भी दूर करने में मदद करती है.
- दालचीनी जी मचलाने की समस्या, उल्टी और लूज मोशन को भी रोकने में मदद कर सकती है.
- कब्ज और गैस की समस्या में भी फायदेमंद है दालचीनी.