जबलपुर जिले को औद्योगिक विकास की रफ्तार देने के प्रयास में जल्द ही एक और रेडीमेड गारमेंट्स कलस्टर की स्थापना - Jai Bharat Express

Breaking

जबलपुर जिले को औद्योगिक विकास की रफ्तार देने के प्रयास में जल्द ही एक और रेडीमेड गारमेंट्स कलस्टर की स्थापना


जबलपुर में हो सकती है एक और रेडीमेड गारमेंट्स कलस्टर की स्थापना संभावनाओं पर चर्चा करने कलेक्टर ने ली रेडीमेड गारमेंट् निर्माताओं की बैठक।


जबलपुर
|जिले के औद्योगिक विकास में गति देने के प्रयासों के तहत जबलपुर में जल्दी ही एक और रेडीमेड गारमेंट्स कलस्टर की स्थापना हो सकती है, इस बारे में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में आज दोपहर विधि कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में रेडीमेड गारमेंट्स एवं होजरी निर्माण संघ के पदाधिकारियों की संपन्न हुई, बैठक में कलस्टर विकास की संभावना पर विस्तार से चर्चा की गई तथा शासन की नई कलस्टर विकास नीति के प्रावधानों को ध्यान में रखते हुए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने का निर्णय लिया गया।
कलेक्टर श्री शर्मा ने बैठक में कहा कि जबलपुर में बने रेडीमेड वस्त्रों के राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए लेमा गारमेंट्स के अलावा एक और रेडीमेड गारमेंट्स कलस्टर की स्थापना की जानी चाहिए, उन्होंने कहा कि यदि गारमेंट्स एवं होजिरी निर्माता एक संगठन के रूप में कलस्टर का विकास चाहते हैं तो इसके लिए शासन की शर्तों के अधीन उन्हें भूमि उपलब्ध कराई जायेगी। कलेक्टर ने रेडीमेड गारमेंट एवं होजिरी निर्माताओं से उद्योग विभाग के अधिकारियों के साथ बैठकर शासन द्वारा दी जाने वाली सहायता और सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए रेडीमेड गारमेंट कलस्टर की रूपरेखा तैयार करने का सुझाव दिया।
श्री शर्मा ने गारमेंट एवं होजिरी निर्माताओं से कहा कि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यहां के रेडिमेड वस्त्रों को ब्रांडिंग के लिए सबसे पहले कॉमन “लोगोʼʼ बनाया जाये उन्होंने “लोगो’’ तैयार करने के लिए प्रतियोगिता आयोजित करने की सलाह भी दी। 
बैठक में रेडीमेड गारमेंट्स एवं होजिरी निर्माता संघ के पदाधिकारियों ने कलस्टर के विकास के लिए लगभग दस एकड़ भूमि की आवश्यकता बताई गई तथा मनमोहन नगर, खजरी खिरिया अथवा कठौंदा में उपलब्ध भूमि को उपयुक्त बताया गया, बैठक में जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक विनीत रजक ने केन्द्र शासन के द्वारा भूमि प्रबंधन अधिनियम तथा कलस्टर विकास नीति के प्रावधानों की जानकारी दी।