गले में खराश को हल्के में न लें, ठीक करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके - Jai Bharat Express

Breaking

गले में खराश को हल्के में न लें, ठीक करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके

गले में खराश सामान्य समस्या है. इसे चार-पांच दिनों में ठीक किया जा सकता है. अगर दर्द ठीक नहीं हो रहा है तो डॉक्टर से मिलना चाहिए. ज्यादातर मामलों में गले की खराश वायरस के कारण होता है लेकिन कभी-कभी बैक्टीरिया भी इसकी वजह बनता है.

स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया से होनेवाला स्ट्रेप थ्रोट ज्यादा खतरनाक होता है. स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया इंफेक्शन से तेज बुखार भी आ सकता है. वायरल थ्रोट इंफेकशन की तुलना में स्ट्रेप थ्रोट इंफेक्शन ज्यादा मुसीबत में डालता है. स्ट्रेप थ्रोट का इलाज नहीं करने पर रूमेटिक बुखार होने का भी खतरा रहता है. गले में खराश कभी भी हो सकता है. इसका इलाज घरेलू तरीके से भी किया जा सकता है.

1. नमक युक्त पानी से कुल्ला करना

पानी में नमक मिलाकर गर्म करना चाहिए. उसके बाद नमक युक्त पानी से कुल्ला करने पर खराश में राहत मिलेगी. नमक बलगम को सूजे हुए ऊत्तकों से बाहर निकालता है. इसके लिए आधा चम्मच नमक के साथ 4-8 औंस गर्म पानी होना चाहिए. नमक के पानी में मिलने तक गर्म करते रहना चाहिए. फिर उसके बाद चंद मिनटों तक मुंह में इस्तेमाल करने के बाद कुल्ला करना चाहिए. दिन में कई बार आसान और घरेलू नुस्खे को आजमाया जा सकता है.

2. हाइड्रेटेड रहिए

गले की खराश में हाइड्रेटेड रहना जरूरी होता है. डिहाइड्रेटेड रहने से शरीर सलाइवा का ज्यादा उत्पादन नहीं कर पाता. जिसकी वजह से बलगम आपके गले को प्राकृतिक रूप से चिकना बनाए रखता है. इससे सूजन की स्थिति में और ज्यादा खराबी आ जाती है. समस्या दूर करने में गर्म चाय या गर्म सूप के तौर पर पानी अच्छा विकल्प है. विशेषज्ञों के मुताबिक कैफीन, अल्कोहल आपके गले को ज्यादा सूखा बना सकते हैं.

3. चाय के साथ शहद के कतरे

अगर आप चाय का सेवन करने जा रहे हैं तो उसमें शहद मिला लें. शोध से पता चला है कि शहद खांसी के निवारण का प्रभावी कारक है. चाय को शहद से मीठा बनाकर गले में जलन को शांत किया जा सकता है. चाय आपको हाइड्रेटेड भी रखती है. आप चाय के विकल्प के तौर पर ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं. ग्रीन टी में एंटी बैक्टीरियल और दर्द निवारक तत्व पाए जाते हैं. ये एंटी ऑक्सीडेंट्स का अहम स्रोत होता है. जिससे सूजन को कम करने में मदद मिलती है.