24 घंटे के अंदर हुई 4 चैन स्नेचिंग की घटनाओं का पुलिस ने किया खुलासा, - Jai Bharat Express

Breaking

24 घंटे के अंदर हुई 4 चैन स्नेचिंग की घटनाओं का पुलिस ने किया खुलासा,

  24  घंटे के अंदर हुई 4 चैन स्नेचिंग की घटनाओं का खुलासा, 1 आरोपी गिरफ्तार  , छीनी हुई सोने की 4 चैन कीमती लगभग 2 लाख रूपये की जप्त , अन्य साथी वर्तमान में केंन्द्रीय जेल नैनी प्रयागराज में हैं निरूद्ध



थाना विजय नगर अपराध क्र 12/2021 धारा 457, 380 भा.द.वि

 गिरफ्तार आरोपी-  

1- अजय सिंह उर्फ नरेश पिता राजेन्द्र सिंह  उम्र 43 वर्ष निवासी संग्राम कालोनी रघुराज नगर जिला सतना हाल निवासी गांधी नगर शुक्लागंज थाना गंगाघाट उन्नाव जिला उन्नाव उत्तर प्रदेश

 साथी दौरान जिनके साथ मिलकर वारदात की गयी 

1-अर्पित उर्फ मोहन निवासी कल्याणपुर,

2- गौरव सिंह परमार निवासी काशीगंज

3-अभिषेक सिंह निवासी कानपुर

4-राजू निवासी जिला एटा


घटना का संक्षिप्त विवरण - 

1- थाना गोरखपुर में दिनांक 16-9-2020 की रात्रि लगभग 11 बजे श्रीमती ललिता राणा उम्र 48 वर्ष निवासी अंजनी इनक्लेव गोरखपुर ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि वह भारतीय सर्वेक्षण विभाग में असिस्टेंट डायरेक्टर के पद पर पदस्थ है दि. 16-9-2020 को शाम लगभग 7 बजे अपने घर से अकेली पैदल नामदेव किराना स्टोर जा रही थी थाने से कुछ ही पहले वाउण्ड्री वाल से लगी सड़क पर सामने से एक काले रंग की मोटर सायकिल में 2 लड़के आये पीछे वाले लड़के ने सामने से उसके गले में पहनी सोने की चैन छीन ली और दोनों लड़के रामपुर की तरफ भाग गये लड़कों की उम्र लगभग 25 वर्ष की होगी, उसकी चैन वजनी लगभग एक तोला की थी। रिपोर्ट पर धारा 392, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

2- थाना लार्डगंज में  दिनांक 17-9-2020 की दोपहर लगभग 2-30 बजे स्वप्निल जैन उम्र 32 वर्ष निवासी शिवनगर विजय नगर ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह विजय नगर में डेंटल क्लीनिक चलाता है आज सुबह लगभग 10-45 बजे घर से अपनी पत्नी ऋतु जैन को अपनी एक्टिवा क्रमांक एमपी 20 एसडब्ल्यु 5561 से इलाज कराने निधि जैन मेैडम की क्लीनिक यादव कालोनी आया था इलाज करवाने के बाद यादव कालौनी से लेबर चैक होकर घर जा रहे थे, लेबर चौक से गजानन सोसायटी वाली रोड में गजानन सोसायटी गेट के पास 02 लड़के काले रंग की मोटर सायकिल से आये तथा पीछे से उसकी पत्नी के गले में पहनी सोने की एक चैन खींच कर भागने लगे जिसका उसने एमआर 4 रोड दरयानी हाउस , एसबीआई बैंक मेहता पेट्रोल पम्प से होते हुये लेबर चौक तक पीछा किया लेकिन दोनों लड़के काफी तेज गाड़ी चलाते हुये भाग गये।  रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

3- थाना कैंट में दिनाॅक 17-9-2020 को डाॅ. निमिशा चौधरी उम्र 44 वर्ष निवासी डायमंड अपार्टमेंट सिविल लाईन ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि वह श्रम विभाग में बीमा अस्पताल हाथीताल गोरखपुर में औषधालय के डाक्टर के पद पर पदस्थ है, आज दोपहर लगभग 4-30 बजे अपनी कार से आफिस से घर जा रही थी, रास्ते में पुल नम्बर 3 के पास गोलछा बारात घर के सामने आफिसर मैस चौराहे के आगे गमले की दुकान फुटपाथ पर लगी थी, तो वह वहीं पर रोड किनारे अपनी कार खडी कर गमले खरीद रही थी, तभी पुल न. 3 के पास से काले सफेद रंग की बाईक मे सवार 2 व्यक्ति आये और उसके पीछे गाड़ी खड़ी कर कहने लगे गमले कितने के दिये, तभी अचानक उसका सिर पीछे से दबाया और उसकी सोने की चैन खींच कर सदर तरफ भाग गये, दो अज्ञात मोटर सायकिल सवार उसकी सोने की चैन छीनकर भाग गये है। रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।                    

               उपरोक्त चैन स्नेचिंग की घटनाओं को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगणा स्वयं घटना स्थल गोलछा बारात घर सामने, थाना गोरखपुर के पास एवं लेबर चौक के पास पहुंचे थे पूर्व से मौके पर मौजूद नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर आलोक शर्मा, थाना प्रभारी कैंट विजय तिवारी, थाना प्रभारी गोरखपुर सारिका पाण्डे एवं प्रभारी थाना लार्डगंज उप निरीक्षक अनिल मिश्रा को लुटेरों की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की गयी, वहीं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार कन्ट्रोलरूम पहुंचे, एवं कन्ट्रोलरूम में सीसीटीव्ही कैमरा की निगरानी मे लगे स्टाफ को घटित हुई घटना के सम्बंध में विस्तार से ब्रीफ करते हुये पतासाजी हेतु लगाया गया है।                                         सीसीटीव्ही फुटेज के आधार पर मोटर सायकिल क्रमांक एमपी 19 एमएक्स 9666 चिन्हित की गयी, जिसके सम्बंध मे पतासाजी की गयी तो मोटर सायकिल अजय सिंह  निवासी संग्राम कालोनी रघुराज नगर जिला सतना के नाम पर रजिस्टर्ड होना पायी गयी, तस्दीक हेतु थाना गोरखपुर एवं क्राईम ब्रांच की एक संयुक्त टीम जिला सतना भेजी गयी, पतासाजी पर अजय सिंह का इलाहबाद मे रहना मालूम पड़ा । सूचना के आधार पर थाना गोरखपुर एवं क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम इलाहाबाद भेजी गई जहां पर उक्त मोटर सायकिल थाना कोतवाली प्रयागराज में जप्त होना पायी गयी।

              फुटेज एवं गाड़ी नम्बर के आधार पर आरोपी अजय का प्रोडक्शन वारंट जारी कराया जाकर अजय उर्फ नरेश सिंह को पुलिस रिमांड पर लिया जाकर अजय से पूछताछ की गई जिसने करीब 03 माह पहले अपनें साथीगण अर्पित उर्फ मनमोहन निवासी कल्याणपुर उ.प्र., गौरव सिंह परमार निवासी कासगंज उ.प्र.अभिषेक सिंह निवासी कानपुर उ.प्र., राजू निवासी एटा के साथ ग्वारीघाट जबलपुर के जय झूलेलाल अन्न क्षेत्र आश्रम में रूकना बताते हुये 03 मोटर सायकिल (02 अपाचे एवं 01 पल्सर) सें शहर के विभिन्न क्षेत्रों में राह चलते महिलाओ के गले से चैन छीनकर भाग जाना बताया ।अजय सिंह ने अपने साथी अर्पित के साथ गोरखपुर क्षेत्र में एक सोनें की चैन छीनना तथा अन्य साथियों द्वारा शहर के अन्य क्षेत्रों में लूट की वारदात करना बताया ।अजय सिंह की निशादेही पर थाना गोरखपुर क्षेत्र से लूटी गई एक सोनें की चैन एवं लार्डगंज, केैंट क्षेत्र से छीनी हुई 2 चेन तथा 1 अन्य सोने की चैन जो अजय सिंह को नहीं मालूम है साथियों के द्वारा छीनी गयी है कुल 4 चैन धारा 41(1-4) जा.फौ., 392 भादवि में जप्त की गई है।            उल्लेखनीय है जबलपुर शहर के विभिन्न क्षेत्र में  घटना को अंजाम देनें के पश्चात जबलपुर पुलिस की चौतरफा नाकाबंदी को देखते हुए सभी प्रयागराज वापस भाग गये थे प्रयागराज में भी इसी तरह आपराधिक घटनाक्रम को अंजाम देते हुए अजय सिंह , अर्पित, गौरव, अभिषेक एवं राजू पकड़े गये थे, अजय सिंह के अलावा  चारों वर्तमान में केन्द्रीय नैनी जेल प्रयागराज में निरूद्ध है, कैंट एवं अन्य थानों की पुलिस मान्नीय न्यायालय से प्रोडक्शन वारंट जारी करा कर शीघ्र ही  पूछताछ करेगी।  

उल्लेखनीय भूमिका - थाना प्रभारी गोरखपुर सारिका पाण्डेय, उप निरीक्षक शेषनारायण दुबे, आरक्षक अमरेन्द्र , क्राइम ब्रांच के प्रधान आरक्षक धनंजय सिंह, विजय शुक्ला, आरक्षक मोहित उपाध्याय, बीरबल, नीरज तिवारी, ब्रजेन्द्र कसाना, दीपक तिवारी की उल्लेखनीय भूमिका रही।