फर्जी शादी कराकर पैंसें ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश , महिला सहित चार आरोपी गिरफ्तार फरार एक की तलाश - Jai Bharat Express

Breaking

फर्जी शादी कराकर पैंसें ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश , महिला सहित चार आरोपी गिरफ्तार फरार एक की तलाश

फर्जी शादी कराकर पैंसें ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश , महिला सहित चार आरोपी गिरफ्तार फरार एक की तलाश

 गिरफ्तार आरोपी -
1 डाल सिंह ठाकुर पिता दलसिंह ठाकुर (लोधी) उम्र 42 वर्ष निवासी ग्राम हिनोती थाना तेजगढ़, जिला दमोह   हाल करोंदा नाला अधारताल, जिला जबलपुर,
2 बबलू यादव पिता हल्ले यादव उम्र 34 वर्ष निवासी . तेंदूखेडा थाना तेंदूखेड़ा जिला दमोह,
3 जितेन्द्र सोनी उर्फ जित्तू पिता स्व. किशोरीलाल सोनी उम्र 48 वर्ष निवासी ग्राम घुघरा पान उमरिया, थाना उमरिया जिला कटनी, हाल आईटीआई माढोताल,
4 दीपिका रैकवार पति प्रकाश रैकवार उम्र 30 वर्ष निवासी सिंधी कैम्प थाना हनुमानताल,

 फरार आरोपी -  1- दिनेश कश्यप निवासी सिंधी कैम्प थाना हनुमानताल 

 जप्त मशरूकाः - 1. एक मोटर साईकिल, 2. फर्जी आधार कार्ड, 3. नगदी 4500 रुपये, 4. शादी कराने की  नोटरी छायाप्रति

                पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) एवं अति. पुलिस अधीक्षक शहर  श्री अमित कुमार (भा.पु.से.) के मार्गदर्शन में न.पु.अ. गोहलपुर श्री अखिलेश गौर एवं थाना प्रभारी हनुमानतल उनि. उमेश गोल्हानी की टीम को फर्जी रूप से शादी कराके रूपये ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने मे महत्वपूर्ण सफलता हासिल हुई है।
            थाना हनुमानताल, में 25-07-2020 की रात्रि में श्रीमति पूजा कश्यप उम्र 38 वर्ष निवासी सिंधी कैम्प पुलिस चैकी के पीछे थाना हनुमानताल ने सूचना दी थी कि उसकी बहन दीपिका रैकवार पति प्रकाश रैकवार उम्र 31 वर्ष निवासी सिंधी कैम्प थाना हनुमानताल जबलपुर दिनांक 15-07-2020 के सुबह 10  बजे घर से सिलाई का काम लेने जाने का कहकर गई थी जो  वापस नहीं लौटी है।
                  दीपिका ने दिनांक 25-7-2020 की सुबह 10 बजे फोन की एवं बोली कि मैं ससना तेंदूखेडा जिला दमोह में हूँ आकर ले जाओ। दीपिका की शादी प्रकाश रैकवार से करीब 10 साल पहले हुई थी जिसका तलाक करीबन 06 माह पहले हो गया है तब से दीपिका उसे यहाॅ रहती है ।  सूचना पर गुमइंसान क्रं. 72/2020 कायम कर जांच में लिया गया।
               दौरान तलाश पतासाजी के गुमशुदा दीपिका रैकवार की बहन पूजा कश्यप व्दारा बताया गया कि   दीपिका ने दिनांक 25-7-2020 को फोन लगाकर बताया कि वह ग्राम ससना तेंदूखेडा में है आकर ले जाओ तथा दिनांक 26-7-2020 को बताया गया कि उसकी बहन तेंदूखेडा के ससना गांव में गौरी शंकर के कब्जे में है। और पैसे की मांग हो रही है।
                  गठित टीम व्दारा ग्राम ससना थाना तेंदूखेडा मे दबिश देते हुये गौरी शंकर के घर से दीपिका को दस्तयाब किया गया, दीपिका ने बताया कि एक ठाकुर नाम के व्यक्ति ने उसकी शादी गौरीशंकर से करवाया था और बदले में गौरीशंकर से पैसे लिये थे।
                  गौरीशंकर तिवारी ने पूछताछ में बताया कि डालसिंह ठाकुर नाम के व्यक्ति ने षडयंत्र करते हुए उससे संपर्क किया कि गरीब परिवार की लडकी अंजली दुबे है और उसके परिवार को आर्थिक मदद के लिए एक लाख रूपये लगेगें शादी हो जायेगी,  गौरी शंकर की कई सालो से शादी नहीं हो पाने के कारण वह इस शर्त पर तैयार हो गया । डालसिंह ठाकुर ने लडकी पक्ष को तेंदूखेडा बुलवाया जहां लडकी व्दारा अपना नाम अंजली दुबे बताया गया एवं लडकी का एक रिश्तेदार भी आया था। लडकी की रजामंदी से दिनांक 15-7-2020 को तेंदूखेडा में शपथ पत्र में शादी किये एवं वहां से गांव जाकर मंदिर में शादी किये शादी के दो चार दिन बाद लडकी ने दूध में नींद की गोली मिलाकर भागने की कोशिश की और बोली कि मुझे यहां नही रहना है । संदेह होने पर उसने  लडकी के परिवार के लोगो को बताया कि मुझसे पैसे लेकर मुझे बेवकूफ बनाया है मेरे रूपये वापस करो और लडकी को वापस ले जाओ ।
                  डालसिंह लोधी उर्फ ठाकुर से पूछताछ की गई, जिसने पूछताछ पर बताया कि लडकी दीपिका के जीजा दिनेश कश्यप ने जित्तू सोनी के माध्यम से संपर्क किया और फर्जी तरीके से शादी करवाने की योजना बनाई उसने कहा कि लडकी हमारे पास है लडके वालो से पैसा लेकर शादी करवा देंगे, और दो चार दिन बाद लडकी को वहां से भगवा देंगे, इसके लिए उसने गौरी शंकर तिवारी से संपर्क कर प्लानिंग के तहत लडकी का फर्जी आधारकार्ड अंजली दुबे के नाम से अपने साथी शिवा दाहिया के माध्यम से बनवाकर अपने अन्य दोस्त बबलू यादव के साथ गौरीशंकर को दिखाया व लडकी को तेंदूखेडा बुलाया, लडकी अपने जीजा दिनेश कश्यप और जित्तू सोनी के साथ दिनांक 15-7-2020 को पहुंची जहां पर शादी पक्की हुई थी 94 हजार रूपये लडके पक्ष से लिये तथा दिनांक 15-7-2020 को ही तेंदूखेडा में तहसीली से नोटरी हुई बाद में मंदिर से शादी कराया। लडके पक्ष से लिए गये रूपयो को आपस में बांट लिये फिर दो चार दिन बाद लडकी का जीजा दिनेश कश्यप तेंदूखेडा आया और हम लोगो ने लडकी को भगाने का प्रयास किया किंतु लडकी भाग नही पाई तो उसके जीजा ने गुमशुदगी थाना हनुमानताल में दर्ज करा दी। 
                       सम्पूर्ण जांच पर दिनेश कश्यप व्दारा आपराधिक षडयंत्र कर अपनी साली दीपिका रैकवार तथा अन्य साथी जित्तू सोनी, डालसिंह ठाकुर, बबलू यादव के साथ योजनाबद्ध तरीके से गौरी शंकर तिवारी निवासी ससना को फर्जी आधारकार्ड दिखाकर फर्जी रूप से शादी करवाके गौरी शंकर तिवारी से 94 हजार रूपये की धोखाधडी करना पाया जाने पर आरोपियों के विरूद्ध धारा 420,468,471,120 बी भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी 1-डाल सिंह ठाकुर, 2-बबलू यादव, 3-जितेन्द्र सोनी उर्फ जित्तू 4. दीपिका रैकवार  को अभिरक्षा मेे लेते हुये फरार दिनेश कश्यप की तलाश जारी है।
 सराहनीय भूमिकाः- थाना प्रभारी हनुमानताल उप निरीक्षक उमेश गोल्हानी, उप निरीक्षक चन्द्रभान सिंह, आभा दुबे, चैकी प्रभारी प्रेमसागर प्रभाकर सिंह, की सराहनीय भूमिका रही।