केंद्र सरकार ने कहा- श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 97 मजदूरों ने तोड़ा था दम; देश में अब तक 53.12 लाख केस - Jai Bharat Express

Breaking

केंद्र सरकार ने कहा- श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 97 मजदूरों ने तोड़ा था दम; देश में अब तक 53.12 लाख केस

 


संसद में मानसूत्र के छठवें दिन शनिवार को राज्यसभा में महामारी रोग संशोधन विधेयक, 2020 पारित किया गया। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉहर्षवर्धन ने कहा कि स्वास्थ्य पेशेवरों के खिलाफ अपराधों को रोकने के लिए बिल की आवश्यकता थी। विधेयक में महामारी के दौरान देश में डॉक्टर्सनर्सआशा कार्यकर्ताओं की सुरक्षाजबकि हमला करने वालों के लिए सजा का प्रावधान है।

123 साल पुराने कानून में केंद्र सरकार ने बदलाव किया है। इसके तहत डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने वालों को अधिकतम 7 साल तक की सजा हो सकती है। हमला करने वालों पर 50 हजार से 2 लाख के जुर्माने का प्रावधान है। इसके अलावा 3 महीने से 5 साल की सजा भी हो सकती है। जबकि गंभीर चोट के मामले में अधिकतम 7 साल की सजा हो सकती है। ये गैरजमानती अपराध होगा।

इस बीचकेंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में एक सवाल के जवाब में बताया कि लॉकडाउन के दौरान चलाई गई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 97 प्रवासी मजदूरों की सफर के दौरान मौत हुई। गोयल ने कहा कि ये आंकड़े राज्य सरकारों की ओर से मिले हैं।

देश में अब तक कोरोना के कुल 53 लाख 12 हजार 537 केस  चुके हैं। इनमें से 42 लाख 8 हजार 201 लोग ठीक हो चुके हैं। 10 लाख 15 हजार 981 मरीजों का इलाज चल रहा हैजबकि कुल 85 हजार 650 लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।