दिल्ली में बढ़ रहा है किन्नरों का गैंगवार, वर्चस्व की लड़ाई में बह रहा है खून - Jai Bharat Express

Breaking

दिल्ली में बढ़ रहा है किन्नरों का गैंगवार, वर्चस्व की लड़ाई में बह रहा है खून

दिल्ली के शाहदरा में किन्नर गुरु एकता की हत्या हो गयी. पुलिस का मानना है कि एकता की हत्या वर्चस्व की लड़ाई से जुड़ा है. किन्नर समाज में एकता का दबदबा तेजी से बढ़ रहा था. एकता दिल्ली स्टेट के गुरु बनने की रेस में सबसे आगे थीं. इलाका, वर्चस्व की लड़ाई और गैंगवार किन्नरों में अब आम बात है. हर शहर में इलाके को लेकर किन्नरों के बीच मतभेद रहता है.
कई जगहों पर यह आपसी सहमति से यह इलाका बांट लेते हैं. एक इलाके में दूसरे गुट के किन्नरों को प्रवेश करने की इजाजत नहीं होती ना तो वह उस इलाके में वह बधाई मांगने नहीं जा सकते.
बड़े गैंगवार से कम नहीं है किन्नरों की गैंगवार
किन्नरों के गैंगवार कई घटनाएं सामने आयी है. एक घटना का जिक्र जरूरी है. 28 नवंबर 2018 की रात खेड़कीदौला टोल प्लाजा के नजदीक रजनी नामक किन्नर की हत्या हो जाती है. इस मामले में मीनू का नाम सामने आता है. राजीव चौक के ठीक सामने पुलिस की मौजूदगी में बाइक सवार तीन हथियारबंद बदमाशों ने किन्नर मीनू पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी. उसे तीन गोली लगी एक सिर, एक सीने में और तीसरी हाथ में. पुलिस ने भी उस वक्त माना था कि मामला गैंगवार का है. यह पहला मामला नहीं है दिल्ली में पहले भी किन्नरों के गैंगवार की कई घटनाएं घटी है.
एकता का मर्डर और गैंगवार का कनेक्शन
आशंका जतायी जा रही है कि एकता की हत्या के पीछे भी किसी किन्नर समूह का हाथ है. किसी अपने ने ही सुपारी देकर एकता की हत्या करवा दी. पुलिस सूत्रों की मानें तो जिस तरह से हत्या की गयी है उससे इनकार नहीं किया जा सकता कि यह गैंगवार है. एकता अपने स्वभाव की वजह से आगे बढ़ रही थी वह गरीब लड़कियों की मदद के लिए हमेशा आगे रहती थी.
तेजी से नाम कमा रही थी एकता
किन्नर समाज में एकता की खूब चर्चा थी अपने समाज के लोगों की मदद के लिए भी वह हमेशा तैयार करती थी. पिछले दस वर्षों से एकता जनता फ्लैट्स में रह रही थीं, लेकिन किसी से कभी झगड़ा करते हुए नहीं देखा गया एकता सबके साथ मिलकर रहती थी. एकता की हत्या उसके घर के बाहर हुई जहां तीन सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे. इनके कैमरे के नीचे ही उसकी हत्या की गयी जिससे साजिश का शक औऱ बढ़ जाता है. एकता और अनीता ने गुरु के पद पर रहते हुए करोड़ों रुपये की संपत्ति अर्जित की थी.