मोदी के कृषि कानून पर राहुल का वार, सरकार बनते ही रद्दी में डालेंगे काला कानून - Jai Bharat Express

Breaking

मोदी के कृषि कानून पर राहुल का वार, सरकार बनते ही रद्दी में डालेंगे काला कानून

 


मोगा (पंजाब): केंद्र सरकार के कृषि कानूनों का तीखा विरोध कर रही कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने रविवार को पंजाब के मोगा शहर में किसानों की ट्रैक्टर रैली में कहा कि केंद्र में कांग्रेस सरकार बनते ही इन तीनों काले कानून को रद्दी की टोकरी में डाल देंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने तीनों काले कानून को गुपचुप पास कराया है। इन बिलों को लेकर मोदी सरकार देश के किसानों के पास नहीं गई और न उनकी राय मांगी गई।

किसानों की ट्रैक्टर रैली रविवार को पंजाब के मोगा से शुरू हो रही है

किसानों की ट्रैक्टर रैली रविवार को पंजाब के मोगा से शुरू हो रही है। यह रैली हरियाणा होते हुए दिल्ली तक जाएगी। रैली में हजारों किसान अपने ट्रैक्टर के साथ शामिल हो रहे हैं। मोगा में रैली शुरू होने से पहले यात्रा में शामिल हुए किसानों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र की भाजपानीत सरकार ने कृषि क्षेत्र में आनन-फानन तीन बिल संसद से पारित करा दिए लेकिन इसके लिए न संसद में चर्चा कराई और न नियमानुसार इसे पारित ही कराया। राज्य सभा में बहुमत नहीं होने के बावजूद सरकार ने धांधली कर बिल को पास कराया है। उन्होंने कहा कि कायदे से तो बिल पास होने से पहले पूरे देश के किसानों को इसके बारे में बताया जाना चाहिए था और किसानों की राय जानने के बाद ही बिल लाया जाता।

वह किसानों को भरोसा दिलाना चाहते हैं

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह किसानों को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि इन तीनों काले कानून को रद्द कराने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता किसानों के कदम से कदम मिलाकर संघर्ष करेंगे। अगर मोदी सरकार ने इन बिलों को रद्द नहीं किया अथवा इसमें न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी प्रावधान नहीं जोड़े। किसानों के हितों की रक्षा करने का इंतजाम नहीं किया गया तो कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने के तुरंत बाद इन तीनों काले कानूनों को कूडेदान में डाल दिया जाएगा। कांग्रेस सरकार एक झटके में इन कानूनों को रद्द कर देगी।

उन्होंने कहा कि वह पंजाब के किसानों को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि कांग्रेस हर पल उनके साथ खड़ी है। किसानों की लड़ाई में कांग्रेस कार्यकर्ता एक इंच भी पीछे नहीं हटेगा। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के कृषि कानूनों से अगर देश का किसान खुश होता तो आज यहां इतनी बड़ी तादाद में किसान इकट्ठा होकर आंदोलन नहीं कर रहा होता। पंजाब में किसान अपनी खेती-किसानी छोड़कर आंदोलन करने के लिए क्यों मजबूर हो रहा है। केंद्र की मोदी सरकार दरअसल देश की कृषि को अपने पूंजीपति दोस्तों अंबानी और अडानी के हवाले कर देना चाहती है इसलिए यह काला कानून बनाया गया है लेकिन कांग्रेस कभी किसानों के हित के साथ खिलवाड़ नहीं होने देगी।