Navratri_Special : राशि के अनुसार करेंगे मां के रूपों की आराधना तो मिलेगा मनचाहा फल - Jai Bharat Express

Breaking

Navratri_Special : राशि के अनुसार करेंगे मां के रूपों की आराधना तो मिलेगा मनचाहा फल


 नवरात्र शुरू होने वाले हैं और ये नौ दिन माता के भक्तों के लिए विशेष महत्व रखते हैं। इस दौरान माता की आराधना करने से कई गुना ज्यादा लाभ मिलता है। नवरात्र (Navratri) के समय भक्तों को माता की शरण में जाकर उनकी आराधना करनी चाहिए। इस साल 17 अक्टूबर से नवरात्र के शुभ दिन का आगाज घटस्थापना के साथ होगा। ऐसी मान्यता है कि इस विशेष पर्व के समय मां का ध्यान और पूजा-पाठ (Worship) करना चाहिए। माता का आशीर्वाद पाने के लिए जातकों को राशि अनुसार मां के रूप की आराधना करनी चाहिए। हम आपको बताते हैं कि आपको राशि के अनुसार किसकी पूजा करना शुभ रहेगा और किस मंत्र का जाप लाभकारी रहेगा .

मेष राशि: इस राशि के जातकों को माता मंगला देवी की आराधना करनी चाहिए। इन्हें ॐ महागौर्यै नम: या ॐ मंगला देवी नम: मंत्र का जाप करना चाहिए।


वृषभ राशि: वृषभ राशि के लोग 'मां कात्यायनी' की आराधना करें, लाभ मिलेगा। आप ॐ कात्यायनी नम: मंत्र का जप करें।


मिथुन राशि: मिथुन राशि के जातकों को मां दुर्गा की आराधना करने से लाभ मिलेगा। आप ॐ दुर्गाये नम: का जाप करें।


कर्क राशि : आप मां शिवाधात्री की आराधना करें। आपके लिए ॐ शिवाय नम: मंत्र का जप लाभकारी रहेगा।


सिंह राशि: मां भद्रकाली की आराधना से आप पर विशेष कृपा बरसेगी। ॐ कालरूपिन्ये नम: का जप करें।


कन्या राशि: कन्या राशि वालों को मां जयंती की आराधना करनी चाहिए। ॐ अम्बे नम: या ॐ जगदंबे नम: का जाप आपके लिए कल्याणकारी रहेगा।


तुला राशि: तुला राशि लोगों को मां के क्षमा रूप की आराधना करनी चाहिए। आप ॐ दुर्गादेव्यै नम: का जाप करें।


वृश्चिक राशि: आपको मां अम्बे की आराधना से लाभ मिलेगा। ॐ महागौर्यै नम: या ॐ अम्बिके नम: का जाप करें।


धनु राशि: मां दुर्गा की आरधना से आपके बिगड़ते काम बन जाएंगे। ॐ दूं दुर्गाये नम: का जाप करें।


मकर राशि: शक्ति रूप की आराधना आपके लिए लाभदायी होगा। ॐ दैत्य-मर्दिनी नम: का जाप करें।


कुंभ राशि: कुंभ राशि वालों की नैय्या मां चामुण्डा देवी की आराधना से पार लग जाएगी। ॐ महागौर्यै नम: या ॐ चामुण्डायै नम: का जाप करें।


मीन राशि: मीन राशि वाले लोग मां तुलजा की आराधना करें और साथ ही ॐ तुलजा देव्यै नम: का जाप करें।