पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने जिले में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की ली बैठक, दिये कार्यवाही के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश - Jai Bharat Express

Breaking

पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने जिले में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की ली बैठक, दिये कार्यवाही के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश

 





             पुलिस कन्ट्रोलरूम जबलपुर मे पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा आज दिनाॅक 20-1-21 को शाम 7-30 बजे जिले में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं शहर थाना प्रभारियों की बैठक ली गयी। 

              बैठक में अति. पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार अति. पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर अगम जैन अति. पुलिस अधीक्षक अपराध गोपाल प्रसाद खाण्डेल , अतिरिक्त ग्रामीण शिवेश सिंह बघेल, सहित जिले में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारी एंव समस्त थाना प्रभारी शहर उपस्थित थे।

जबलपुर | पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि सी.एम. हेल्प लाइन से संबंधित शिकायतों की थाना प्रभारी स्वयं सुनवाई करते हुए शिकायतकर्ता से विनम्रता पूर्वक चर्चा करें एवं उनकी जो भी शिकायत है वैधानिक कार्यवाही करते हुए उसका प्राथमिकता के आधार पर त्वरित निकाल करें एवं शिकायतकर्ता को की गई कार्यवाही से अवगत भी करायें, साथ ही समस्त राजपत्रित अधिकारी भी अपने-अपने अनुभाग की सीएम हेल्प लाइन से संबंधित शिकायतों की सुनवाई हेतु सप्ताह में 1 दिन अनुभाग के किसी भी एक थाने में कैंप लगायें, एवं लंबित शिकायतों की स्वयं सुनवाई करें।

                 साथ ही सभी को महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों की रोकथाम एवं महिला सुरक्षा को समाज के केन्द्र बिन्दु पर लाने हेतु चलाये जा रहे प्रदेश स्तरीय जन-जागरुकता अभियान सम्मान के तहत कार्यवाही के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये लंबित धारा 363 भादवि के प्रकरण में नाबालिक बालक/बालिकाओं की दस्तयाबी के प्रयास एवं लंबित अनुसूचित जाति/जनजाति के प्रकरणों की समीक्षा करते हुये अपहृत अवयस्क बालक/बालिकाओं  की हर सम्भव प्रयास कर दस्तयाब करने हेतु तथा एससी/एसटी के प्रकरणों में पीड़ित को तत्काल राहत राशि दिलाये जाने हेतु आदेशित किया गया।

                   महिलाओं, बच्चों, वृद्धों एवं समाज के कमजोर वर्गो के प्रति संवेदनशील रहते हुये इनके द्वारा की गयी शिकायतों पर तत्काल विधिसंगत कार्यवाही करते हुये राहत पहुंचाये, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होना चाहिये , आपके द्वारा की गयी कार्यवाही निष्पक्ष एवं पारदर्शी होनी चाहिए।

                         भू-माफिया, अवैध रेत का उत्खनन एवं परिवहन तथा राशन एवं यूरिया की काला बाजारी करने वालों तथा मिलावटखोरों,  चिटफंड कंपनी के कारोबारियों एवं सूदखोरों  तथा संगठित जुआं सट्टा खिलाने वालों, अवैध शराब एवं मादक पदार्थ एवं नशीले इंजेक्शन के कारोबार में लिप्त आरोपियों  को चिन्हित करते हुये कार्यवाही करें साथ ही उनके विरूद्ध उनके आपराधिक रिकार्ड को दृष्टिगत रखते हुए प्रभावी प्रतिबंधात्मक कार्यवाही, 110 जाफौ. जिलाबदर, एन.एस.ए. की जाये, इसके साथ ही पूर्व में पकड़े गए चाकूबाजों एवं संपत्ति संबंधी अपराधियों की चैकिंग करते हुए उनके गुजर-बसर की जाॅच की जाय। प्रायः देखा गया है कि पूर्व में पकड़े गए गुण्डे, बदमाश एवं संपत्ति संबंधी अपराधियों के द्वारा ही घटनाये की जाती है।

                     पूर्व में चिटफंड कम्पनी से सम्बंधित जहाॅ भी प्रकरण कायम हुये है उनमें पकडे़ गये आरोपियों की सम्पत्ति का विवरण अनिवार्य रूप से अटैच किया जाये ताकि सम्पत्ति को नियमानुसार कुर्क कराकर इन्वेस्टर की राशि वापस दिलाई जा सके।