15 किलो 300 ग्राम गांजा कीमती लगभग डेढ़ लाख रुपए का जप्त - Jai Bharat Express

Breaking

15 किलो 300 ग्राम गांजा कीमती लगभग डेढ़ लाख रुपए का जप्त

 




मादक पदार्थ गांजा की तस्करी मे लिप्त 03 आरोपी पुलिस गिरफ्त में, 15 किलो 300 ग्राम गांजा कीमती लगभग डेढ़ लाख रुपए का  जप्त


              क्राइम ब्रांच एवं थाना कुण्डम की टीम को 15 किलो 300 ग्राम गांजा के साथ 3 आरोपियों को रंगे हाथ पकडने में महत्पूर्ण सफलता प्राप्त हुई है।  

जबलपुर | थाना प्रभारी कुण्डम प्रताप सिंह मरकाम  ने बताया कि दिनाॅक 21-02-2021 की शाम को क्राईम ब्रांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम तिलसानी बस स्टेण्ड में तीन व्यक्ति अपने अपने हाथों  में लिये बैग में अवेैध मादक पदार्थ गांजा रखकर बेचने के फिराक में खड़े हैं सूचना पर एन.डी.पी.एस. एक्ट के प्रावधानो के तहत कार्यवाही करते हुये तत्काल योजनाबद्ध तरीके से क्राईम ब्रांच एवं थाना कुण्डम पुलिस द्वारा दबिश दी गयी  तिलसानी बस स्टेण्ड के पास मुखबिर के बताये हुलिये के 3 व्यक्ति अपने हाथों मे बैग लिये खड़े दिखे जो पुलिस को देखकर भागने लगे जिन्हें घेराबंदी कर संग्राम ढाबा के बाजू में यात्री प्रतीक्षालय में पकड़ा , नाम पता पूछने पर तीनों ने अपने नाम प्रमोद रघुवंशी उम्र 47 वर्ष निवासी न्यू कंचनपुर अधारताल, एवं भानू ठाकुर उम्र 40 वर्ष इंडस्ट्रियल एरिया 22 नम्बर फैक्ट्री अधारताल तथा चन्द्रशेखर उर्फ मनीष जोगी उम्र 38 वर्ष निवासी पुराना कंचनपुर  बताये, सूचना से अवगत कराते हुये तलाशी लेने पर तीनों अपने लिये हुये बैगो में मादक पदार्थ गांजा रखे मिले तौल करने पर प्रमोद रघुवंशी  के 2 काले रंग के बैग में 5 किलो 100 ग्राम, एवं भानू ठाकुर के ग्रे कलर के बैग में 5 किलो 100 ग्राम तथा चन्द्रशेखर उर्फ मनीष जोगी के ग्रे कलर के बैग  में 5 किलो 100 ग्राम गांजा होना पाया गया तीनों से कुल 15 किलो 300 ग्राम अवैध मादक पदार्थ गांजा कीमती 01 लाख 53 हजार रूपये का जप्त करते हुये तीनों के विरूद्ध धारा 8, 20 एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये उक्त गांजा कहाॅ से और कैसे प्राप्त किया के सम्बंध में पूछताछ की जा रही है।

उल्लेखनीय भूमिका - तीन आरोपियों को मादक पदार्थ गांजा के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार करने में क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक राजेश शुक्ला, प्रधान आरक्षक वीरेन्द्र सिंह, आरक्षक अजय यादव, सुग्रीव तिवारी, सादिक अली, ज्ञानेन्द्र पाठक, मुकेश परिहार एवं सायबर सेल के आरक्षक अमित पटेल, दुर्गेश तथा थाना कुण्डम के प्रधान आरक्षक रूपसिंह कुशराम, आरक्षक सरोज कुमार, प्रिंस कुमार, राज नागवंशी, भीमू सोनवंशी एवं सैनिक तिवारी सिंह की सराहनीय भूमिका रही।