परमबीर सिंह की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई, ट्रांसफर के आदेश को भी दी चुनौती - Jai Bharat Express

Breaking

परमबीर सिंह की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई, ट्रांसफर के आदेश को भी दी चुनौती

 


महाराष्ट्र में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के पत्र को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है। इसी बीच आज महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ परमबीर सिंह की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है।

पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने अपनी याचिका में अनिल देशमुख पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं और सीबीआई जांच की मांग की है। बताया जा रहा है कि परमबीर सिंह ने अपने ट्रांसफर के निर्देश को भी याचिका में चुनौती दी है।

जानकारी के अनुसार, 22 मार्च को परमबीर सिंह ने होमगार्ड विभाग में ट्रांसफर किए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी। इस याचिका में सभी आरोपों की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग की है।

साथ ही परमबीर सिंह ने राज्य गृहमंत्री अनिल देशमुख के घर के बाहर की सीसीटीवी फुटेज को जब्त कर उसकी जांच भी कराए जाने की भी मांग की है, ताकि सच सभी के सामने आ सके।

अनिल देशमुख ने कहा मीडिया में झूठी खबरें घूम रही

गृहमंत्री अनिल देशमुख ने मंगलावर को कहा था कि मैंने आधिकारिक कार्य के लिए पहली बार 28 फरवरी को अपने घर से बाहर कदम रखा। मैं यह सब इसलिए साझा कर रहा हूं ताकि लोग गुमराह न हों। डॉक्टर की सलाह के अनुसार, मैं प्राणायाम के लिए देर रात पार्क जाता था। मैंने नागपुर अस्पताल में और बाद में होम क्वारंटाइन के दौरान कुछ वर्चुअल बैठकों में भाग लिया।

कुछ अधिकारियों एक मार्च को बजट सत्र से पहले ब्रीफिंग के लिए मेरे घर आये थे। राज्य गृहमंत्री ने यह भी कहा कि पिछले कुछ दिनों से मीडिया में झूठी खबरें घूम रही हैं। 5 फरवरी को मेरा कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया। जिसके बाद मुझे 5 से 15 फरवरी तक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 15 फरवरी को मुझे छुट्टी मिली, 15 फरवरी से मैं 10 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन था। फिर में निजी विमान से मुंबई आया।

शरद पवार को दी गई गलत जानकारी

प्रेस वार्ता के दौरान देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य गृहमंत्री अनिल देशमुख होम क्वारंटाइन में नहीं थे। एनसीपी प्रमुख शरद पवार को गलत जानकारी दी गई है। पुलिस विभाग के रिकॉर्ड के मुताबिक, 17 फरवरी दिन बुधवार को अनिल देशमुख का शेड्यूल तीन बजे सहयाद्री गेस्ट हाउस में रहने का था।

बता दें कि मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने उद्धव सरकार को पत्र लिखकर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर वाजे के जरिए 100 करोड़ रुपये की वसूली के आरोप लगाए हैं।