holi 2021 : महीनों से गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने ऐसे मनाई होली, बिजली के लिए सौर पैनल स्थापित - Jai Bharat Express

Breaking

holi 2021 : महीनों से गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने ऐसे मनाई होली, बिजली के लिए सौर पैनल स्थापित

 


Holi 2021: सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ कई महीनों से दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने भी होली मनाई. दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर से किसान नाचते हुए दिखाई दिए. किसानों के आंदोलन को  124 दिन पूरे हो गए है. रविवार को होलिका दहन के मौके पर किसानों से तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर होली मनाई. इस मौके पर बॉर्डर पर भारी संख्या में किसान मौजूद रहे.

एक रिपोर्ट के अनुसार गाजीपुर बॉर्डर विरोध स्थल पर परिचालन रसोई में बिजली की कमी को दूर करने के लिए, प्रदर्शनकारियों ने रविवार को 5KW का सौर पैनल स्थापित किया. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि सौर पैनल उन्हें फ्रिज, रोटी बनाने वाली मशीन और रसोई के अंदर पंखे चलाने में मदद करेगा. उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन से किसी भी तरह की मदद पाने में विफल रहने के बाद यह निर्णय लिया गया.

हिन्दू की रिपोर्ट के अनुसार एक किसान ने कहा “हमने सौर ऊर्जा पर काम करने का फैसला किया क्योंकि यह ऊर्जा का एक स्वच्छ स्रोत है. डीजल पर चलने वाले बिजली जनरेटर एक विकल्प हो सकते हैं, लेकिन यह स्थायी समाधान नहीं है क्योंकि यह प्रदूषण का कारण होगा.”

सौर पैनल का उद्घाटन किसान नेता राकेश टिकैत ने किया. उन्होंने कहा “हमने इसे हमारे घर, हमारी बिजली’ योजना के तहत स्थापित किया है. भविष्य में हम बिजली की मांग को पूरा करने के लिए गाजीपुर विरोध स्थल पर अधिक सौर पैनल स्थापित करेंगे. टिकैत ने कहा “कृषि कानूनों को वापस नहीं लेना इस सरकार की सबसे बड़ी गलती होगी.”

एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा कि उन्होंने अपने टेंट की छत को ठंडा रखने के लिए अधिक छप्पड़ का निर्माण किया है. वे भीषण गर्मी की स्थिति में उस पर पानी छिड़केंगे. उन्होंने कहा, 'हम प्रदर्शनकारियों को सुरक्षित रखने के लिए विरोध स्थल पर लगातार बदलाव कर रहे हैं क्योंकि यह लड़ाई बड़ी होने वाली है और उन्हें किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहना होगा. हम सभी ने अपने गांवों में ऐसे घर बनाए हैं.''

बीकेयू ने राकेश टिकैत ने दावा किया कि रविवार को आंदोलन स्थल पर बिजली काट दी गई थी. फ्लाईओवर के ऊपर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर बिजली की आपूर्ति कई दिनों से बाधित है. रविवार को फ्लाईओवर के नीचे की बिजली भी काट दी गई. टिकैत ने चेतावनी दी कि अगर बिजली बहाल नहीं की गई, तो किसान सभी यूपी के राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल वसूली में बाधा डालेंगे. बयान के अनुसार इसके बाद शाम 6 बजे बिजली बहाल हुई.