VIDEO - कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर है देखिए क्या बोले शिवराज - Jai Bharat Express

Breaking

VIDEO - कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर है देखिए क्या बोले शिवराज

 


भोपाल |मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर है। तो क्या हम फिर लॉकडाउन की ओर जा रहे हैं। रविवार को 24 घंटे में तीन हजार 3,000 से अधिक मामले सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया है। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड एक लाख से अधिक संक्रमण के मामले सामने आए हैं। लगातार बढ़ते कोरोना केस के बीच लॉकडाउन की खबरों को लेकर अटकलें जारी है। लेकिन सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस पर अपनी मंशा साफ करते हुए कहा है कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प है।मध्यप्रदेश में रविवार को 3178 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ अब तक मध्यप्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 3,06,851 तक पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में 11 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है । और 21,335 एक्टिव मरीजहैं। इसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नए लोग संक्रमित न हो उसका एक उपाय है लॉकडाउन। लेकिन लंबा लॉकडाउन अर्थव्यवस्था को तोड़ देता है व्यापार ठप होता है और गरीब बेरोजगार हो जाता है। सीएम ने कहा कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प है। सीएम ने कहा कि जिले में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप वहां की स्थितिनुसार लॉकडाउन का निर्णय ले सकता है लेकिन इसके लिए अनुमति लेना आवश्यक है। मैं किसी कीमत पर लंबा लॉकडाउन नहीं चाहता हूं। शिवराज ने कहा कि एक दिन के लॉकडाउन से भी काम चल सकता है अगर जनता पूरी तरह से सहयोग करे। और सहयोग का पहला अर्थ है मास्क लगाएं। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करें तथा साबुन सैनेटाइजर का उपयोग करें। सीएम ने कहा कि वो एक दिन दो दिन से लंबा लॉकडाउन नहीं चाहते हैं और यथासंभव एक दिन के लॉकडाउन से काम चलाएंगे।

इसी के साथ सीएम सोमवार शाम साढ़े पांच बजे अपने परिवार को मास्क लगाएंगे और जनता को संदेश देंगे कि सभी परिवारों के मुखिया स्वयं भी मास्क लगाएं और अपने परिवार को भी मास्क लगाए बिना बाहर जाने न दें।

आज से कोरोना वालंटियर अभियान भी शुरू हो रहा है। इसमें इच्छुक वालंटियर अपना रजिस्ट्रेशन 181 नंबर पर करा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन होने के बाद वालंटियर्स को मास्क लगाने के जागरण के काम के साथ अन्य संबंधित कार्यों में लगाया जाएगा। सीएम ने कहा कि कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए अगर गांव के लोगों को आगे लाना है तो उसमें भी वो सहयोग करेंगे। वैक्सीन स्थल पर व्यवस्था बनाने में सहयोग करेंगे वहां पानी पिलाने चाय पिलाने में भी हाथ बटाएंगे। ये वालंटियर्स अगर भीड़ ज्यादा हो गई है तो सोशल डिस्टेंसिंग बनवाने में सहयोग करेंगे। व्यवस्था बनाने में वैक्सीनेशन में सहयोग करेंगे।