सागर धनखड़ हत्याकांड - सुशील कुमार के 3 साथियों की तलाश में पुलिस - Jai Bharat Express

Breaking

सागर धनखड़ हत्याकांड - सुशील कुमार के 3 साथियों की तलाश में पुलिस



नई दिल्ली । दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार को दो बार के ओलंपियन और स्टार पहलवान सुशील कुमार को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया, लेकिन दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को अभी भी सागर धनखड़ हत्याकांड मामले की जांच के सिलसिले में तीन और लोगों की तलाश है। इस मामले की जांच से जुड़े दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हत्या के मामले में पुलिस अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।
दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को दो बदमाशों - रोहित और विजेंदर को हत्या के मामले में उनकी भूमिका के बाद गिरफ्तार किया।

सुशील कुमार को 4 मई से 18 दिनों तक फरार रहने के बाद 23 मई को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था। वह छत्रसाल स्टेडियम में धनखड़ की हत्या में शामिल था।

छत्रसाल स्टेडियम में मामूली झगड़े को लेकर कई लोगों ने धनखड़ की कथित तौर पर पिटाई की थी। बाद में चोटों के कारण उसने दम तोड़ दिया।

गुरुवार शाम को क्राइम ब्रांच के अधिकारी सुशील कुमार को हरियाणा और चंडीगढ़ ले गए थे और उनसे उन जगहों के बारे में पूछताछ की गई।

सुशील कुमार ने पूछताछ के दौरान कथित तौर पर कई नाम साझा किए हैं। गुरुवार शाम को ओलंपियन को चुपचाप हरियाणा और चंडीगढ़ ले जाया गया और शुक्रवार सुबह राष्ट्रीय राजधानी लौट आया।

क्राइम ब्रांच के एक सूत्र ने बताया कि सुशील कुमार के खुलासे के आधार पर पुलिस हत्या के मामले में विनोद प्रधान, प्रदीप उर्फ बबलू और प्रवीण उर्फ छोटी की तलाश कर रही है।

सूत्र ने बताया कि छत्रसाल स्टेडियम में हुई घटना के दौरान तीनों मौजूद थे। पुलिस ने स्टेडियम परिसर से बरामद एक वाहन से एक डबल बैरल बंदूक भी बरामद की है।

उन्होंने कहा कि डबल बैरल गन प्रधान की थी।

सूत्र ने कहा कि तीनों लोग हरियाणा के झज्जर जिले के रहने वाले हैं और पुलिस उनके ठिकाने के बारे में जानकारी जुटा रही है।

दिल्ली पुलिस धनखड़ की हत्या के मामले में नीरज बवाना और काला असौदा गिरोह के कई लोगों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

इससे पहले, दिल्ली की एक अदालत ने सुशील कुमार के खिलाफ गैर-जमानती वारंट (एनबीडब्ल्यू) जारी किया था। दिल्ली पुलिस ने 2008 बीजिंग ओलंपिक खेलों में कांस्य पदक और 2012 लंदन ओलंपिक खेलों में रजत पदक जीतने वाले कुमार के लिए लुकआउट नोटिस भी जारी किया था।

सूत्र ने यह भी बताया कि धनखड़ की पिटाई का वीडियो बनाने वाले सुशील कुमार का दोस्त प्रिंस इस मामले में गवाह बना है।