5 मई को ममता बनर्जी का शपथ ग्रहण, बिना विधायक बने कैसे बनेंगी मुख्यमंत्री? - Jai Bharat Express

Breaking

5 मई को ममता बनर्जी का शपथ ग्रहण, बिना विधायक बने कैसे बनेंगी मुख्यमंत्री?



Mamata Banerjee Latest Update: बंगाल की सत्ता पर तीसरी बार काबिज होने जा रही टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी 5 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रही हैं. ममता बनर्जी के मंत्रियों का शपथ ग्रहण गुरुवार (6 मई) को होगा. ममता बनर्जी ने शपथ ग्रहण समारोह को साधारण रखने की बात कही है. इसके पहले टीएमसी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक में ममता बनर्जी को सर्वसम्मति से पार्टी का लीडर चुना जा चुका है.

कोरोना वायरस पर जीत के बाद जश्न


शपथ ग्रहण समारोह के पहले टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा है जब तक देश कोरोना संक्रमण से जीत नहीं जाता है, तब तक किसी भी तरह का जश्न नहीं मनाया जाएगा. यहां जिक्र करना जरूरी है पश्चिम बंगाल के चुनाव रिजल्ट में टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी नंदीग्राम से हार चुकी हैं. पश्चिम बंगाल चुनाव के रिजल्ट में टीएमसी ने 292 में से 213 सीटें जीती थी. जबकि, बीजेपी 77 सीटों पर जीत हासिल की है. वहीं, निर्दलीय ने एक और राष्ट्रीय सेक्युलर मजलिस पार्टी ने भी एक सीट जीती है. इस बार पश्चिम बंगाल में कुल 294 सीटों में 292 पर वोटिंग हुई थी. शमशेरगंज और जंगीपुर में 16 मई को वोटिंग होगी.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव का रिजल्ट



टीएमसी -- 213


बीजेपी -- 77


स्वतंत्र -- 01


आरएसएमपी -- 01

(कुल सीट -- 294)

बिना विधायक सीएम कैसे बनेंगी ममता?


बंगाल चुनाव के रिजल्ट में ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को प्रचंड बहुमत तो मिला है, सुप्रीमो खुद चुनाव हार चुकी हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या वो बिना विधायक बने सीएम बन सकती हैं. इसका जवाब है- हां. देश के किसी भी राज्य के सीएम बनने के लिए विधानसभा या विधान परिषद् (जहां दो सदन हैं) का सदस्य होना जरूरी है. अगर मुख्यमंत्री दोनों के सदस्य नहीं हैं तो उन्हें शपथ लेने के छह माह के भीतर ही सदस्य बनना जरूरी होता है. बंगाल में विधान परिषद नहीं है तो माना जा रहा है कि ममता बनर्जी के पार्टी के कोई नवनिर्वाचित विधायक अपनी सीट छोड़ेंगे और उस जगह से ममता बनर्जी उपचुनाव में लड़ेंगी.

बिना विधायक बने सीएम बनने वाले नेता


नीतीश कुमार - बिहार

योगी आदित्यनाथ - उत्तरप्रदेश

राबड़ी देवी - बिहार

कमलनाथ - मध्यप्रदेश

तीरथ सिंह रावत - उत्तराखंड

उद्धव ठाकरे - महाराष्ट्र

लालू प्रसाद यादव - बिहार