चक्रवात यास : पीएम ने अधिकारियों को समय पर निकासी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया - Jai Bharat Express

Breaking

चक्रवात यास : पीएम ने अधिकारियों को समय पर निकासी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सभी वरिष्ठ अधिकारियों को चक्रवात यास के मद्देनजर उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों से लोगों की सुरक्षित निकासी सुनिश्चित करने के लिए राज्यों के साथ निकट समन्वय में काम करने का निर्देश दिया।

साथ ही सभी संबंधित विभागों को निर्देश दिया कि अपतटीय गतिविधियों में शामिल लोगों की समय पर निकासी सुनिश्चित की जाए। चक्रवात यास से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए संबंधित राज्यों और केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए, प्रधानमंत्री ने बिजली आपूर्ति और संचार नेटवर्क को समय पर और तेजी से बहाल करने की बात कही।

मोदी ने अधिकारियों से राज्य सरकारों के साथ उचित समन्वय और योजना सुनिश्चित करने के लिए भी कहा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अस्पतालों में कोविड के उपचार और टीकाकरण में कोई व्यवधान न हो।

प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि चक्रवात के दौरान क्या करें और क्या न करें पर सलाह और निर्देश प्रभावित जिलों के नागरिकों को समझने में आसान और स्थानीय भाषा में उपलब्ध कराए जाएं।



भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि चक्रवात के 26 मई की शाम तक पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटों को पार करने की उम्मीद है। इस दौरान हवा की गति 155 किमी प्रति घंटे से लेकर 185 किमी प्रति घंटे तक होगी।

चक्रवात के कारण पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है।

मोदी को अवगत कराया गया कि गृह मंत्रालय (एमएचए) चौबीसों घंटे स्थिति की समीक्षा कर रहा है और राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों और संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में है।

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने 46 टीमों को पहले से तैनात किया है जो पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में नावों, पेड़ काटने वालों और दूरसंचार उपकरणों से लैस हैं।

इसके अलावा रविवार को तैनाती के लिए 13 टीमों को एयरलिफ्ट किया जा रहा है और 10 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने राहत, खोज और बचाव कार्यों के लिए जहाज और हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं।

बैठक में गृह मंत्री अमित शाह समेत अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।