ओलिंपिक जाने वाले पहलवान सुमित मलिक डोप टेस्ट में फेल, WFI ने की पुष्टि - Jai Bharat Express

Breaking

ओलिंपिक जाने वाले पहलवान सुमित मलिक डोप टेस्ट में फेल, WFI ने की पुष्टि



नई दिल्ली:एक और भारतीय पहलवान ने देश को शर्मसार कर दिया है. ओलंपिक (Olympic) टिकट हासिल करने वाले भारतीय पहलवान सुमित मलिक (Wrestler Sumit Malik) को बुल्गारिया में हाल ही में क्वालीफायर के दौरान डोप परीक्षण (Dop Test) में विफल रहने के बाद अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है. टोक्यो खेलों के शुरू होने से कुछ सप्ताह पहले यह देश के लिए एक बड़ी शर्मिंदगी का सबब है. कुछ दिन पहले दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Wrestler Sushil Kumar) अपने ही शिष्य सागर राणा हत्याकांड (Sagar Rana Murder Case) में फंसे थे. खास यह है कि सुशील की तरह सुमित मलिक का भी छत्रसाल स्टेडियम (Chhatrashal Stedium) से गहरा रिश्ता है.

यह लगातार दूसरा ओलंपिक है, जब खेलों के शुरू होने से कुछ दिन पहले डोपिंग का मामला मिला है. इससे पहले 2016 रियो ओलंपिक से कुछ सप्ताह पूर्व नरसिंह पंचम यादव (Narsingh Pancham Yadav) भी डोपिंग जांच में विफल हो गये थे और उन पर 4 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था. सुमित ने पिछले महीने ही टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था. गोल्ड कोस्ट कॉमनेवल्थ गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट 28 साल के सुमित ने पहली बार ओलंपिक का टिकट कटाया था. हालांकि, वह बुल्गारिया में क्वालिफायर के दौरान डोप परीक्षण में विफल रहे. इसके बाद उन्हें अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है.

टोक्यो खेलों के शुरू होने से कुछ सप्ताह पहले यह देश के लिए एक बड़ी शर्मिंदगी का सबब है. यह लगातार दूसरा ओलंपिक है जब खेलों के शुरू होने से कुछ दिन पहले डोपिंग का मामला मिला है. इससे पहले 2016 रियो ओलंपिक से कुछ सप्ताह पूर्व नरसिंह पंचम यादव भी डोपिंग जांच में फेल हो गए. उन पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था.




भारतीय कुश्ती संघ (WFI) ने ANI समाचार एजेंसी को बताया कि 'यूडब्ल्यूडब्ल्यू (यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग) ने कल भारतीय कुश्ती महासंघ को सूचित किया कि सुमित डोप टेस्ट में विफल हो गया है. अब उन्हें 10 जून को अपना ‘बी’ नमूना देना है. मलिक घुटने की चोट से जूझ रहे हैं. उन्हे ये चोट ओलंपिक क्वालिफायर शुरू होने से पहले राष्ट्रीय शिविर के दौरान लगी थी.' WFI ने बताया कि 'सुमित ने चोट के इलाज के दौरान अनजाने में कुछ लिया होगा. वह अपने चोटिल घुटने के इलाज के लिए कोई आयुर्वेदिक दवा ले रहे थे. उसमें कुछ प्रतिबंधित पदार्थ हो सकते थे.'