न ड्रग लायसेंस न रजिस्ट्रेशन धड़ल्ले से चला रहे थे क्लीनिक जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कराया बंद - Jai Bharat Express

Breaking

न ड्रग लायसेंस न रजिस्ट्रेशन धड़ल्ले से चला रहे थे क्लीनिक जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कराया बंद

अवैध रूप से संचालित स्किन क्लीनिक को कराया बंद।


जबलपुर के अलावा डॉ. मीत के नाम से इंदौर और भोपाल में अवैध रूप से चल रहे क्लीनिक।




जबलपुर |न ड्रग लायसेंस न रजिस्ट्रेशन धड़ल्ले से चला रहे थे क्लीनिक, जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कराया बंद, मुख्य चिकित्सा एवं अधिकारी कार्यालय द्वारा गठित चिकित्सा अधिकारियों की टीम द्वारा आज राइट टाउन में चलाई जा रही अवैध स्किन क्लीनिक की जांच कर उसे बंद करा दिया गया है। कार्यवाही के दौरान डॉ. मीत क्लीनिक के नाम से संचालित इस क्लीनिक पर कोई भी चिकित्सक नहीं पाया गया। तथा यहां बीएचएमएस डिग्री धारक ऐलोपैथी पद्धति से ईलाज कर रहे थे।


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस क्लीनिक में ब्लड से पीआरपी बनाने की तथा लेजर से उपचार संबंधी मशीनें भी पाई गई थीं। क्लीनिक संचालित करने वाले व्यक्ति के पास ड्रग लायसेंस नहीं था, और इसका रजिस्ट्रेशन भी नहीं कराया गया था। कार्यवाही के दौरान पाया गया कि जबलपुर के अलावा डॉ. मीत के नाम से इंदौर और भोपाल में अवैध रूप से क्लीनिक का संचालन किया जा रहा है।


डॉ. मीत क्लीनिक की आकस्मिक जांच की कार्यवाही जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.के. वर्मा के नेतृत्व में की गई। कार्यवाही में डॉ. एहतेशाम अंसारी एवं डॉ. विभोर हजारी भी शामिल थे। अवैध रूप से गैर प्रशिक्षित चिकित्सक डॉ. मतरंजन द्विवेदी द्वारा संचालित इस क्लीनिक के बारे में गत दिवस नर्सिंग होम एसोसिएशन द्वारा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय को जानकारी दी गई थी।