जिला जबलपुर गढ़ा थाना अंतर्गत गोली मारकर टैटू दुकान संचालक की हुई अंधी हत्या का खुलासा - Jai Bharat Express

Breaking

जिला जबलपुर गढ़ा थाना अंतर्गत गोली मारकर टैटू दुकान संचालक की हुई अंधी हत्या का खुलासा

जिला जबलपुर गढ़ा थाना  अंतर्गत गोली मारकर टैटू दुकान संचालक की हुई अंधी हत्या का खुलासा

प्रेम प्रसंग को लेकर गोली मारकर की थी हत्या  उत्तर प्रदेश गाजियाबाद निवासी तीनों आरोपी गिरफ्तार

जिला जबलपुर थाना गढ़ा :   अपराध क्रमांक -437/2020 धारा- 302 भादवि, 25,27 आम्र्स एक्ट

 नाम पता गिरफ्तार आरोपी :  
01. उत्कर्ष मिश्रा पिता विनोद कुमार मिश्रा उम्र 24 वर्ष निवासी सुचेतापुरी  चौकी गोविंदपुरी थाना मोदीनगर जनपद गाजियाबाद उ.प्र.

02. मयंक अग्रवाल पिता प्रहलाद राय अग्रवाल उम्र 30 वर्ष निवासी संतपुरा, चौकी गोविंदपुरी थाना मोदीनगर जनपद गाजियाबाद उ.प्र.

03. शिवम छलेरिया पिता दीपक कुमार छलेरिया उम्र 24 वर्ष निवासी जगन स्कूल के पास कृष्णापुरी चौकी गोविंदपुरी थाना मोदीनगर जनपद गाजियाबाद उ.प्र.

  जप्ती :  वैगनार कार क्रमांक डी.एल. 9 सी.आर 5292

 घटना विवरण :   थाना गढ़ा में दिनांक 12-08-2020 की रात्रि में स्वर्णिका होम्स के सामने शारदा मंदिर रोड में एक व्यक्ति को  गोली मारने की सूचना पर पहुंची पुलिस को एक व्यक्ति मृत हालत में पड़ा मिला  अनिल कुमार चंडोक उम्र 65 वर्ष निवासी शिवानी होम्स फेस 6 हाथीताल गोरखपुर ने बताया कि वह रेल्वे का रिटायर्ड कर्मचारी है उसका पुत्र अंकित चंडोक जो कि सिविक सेंटर समदड़िया माॅल में टैटू बनाने की दुकान चलाता है दिनांक 12-08-2020 की रात्रि लगभग 9-15 बजे दुकान बंद कर घर आया था और हाथ मुंह धोकर लगभग 10 - 30 बजे प्रतिदिन की भांति अपनी एक्टिवा क्रमांक एमपी 20 एसके 8887 में बोरी में  फल सब्जी एवं बिस्किट लेकर गाय को खिलाने शारदा चौक तरफ निकला था वह भी उसी समय राम मंदिर मदनमहल चला गया था रात्रि लगभग 12 बजे उसकी बहू ने मंदिर मे आकर उसे बतायी कि अंकित फोन नहीं उठा रहा है तब उसने अंकित के मोबाइल पर कॅाल किया तो किसी पुलिस वाले ने फोन उठाया एवं बताया कि शारदा चौक से शारदा मंदिर जाने वाले रोड में अंकित को किसी व्यक्ति ने गोली मार दिया है तो वह अपनी बहू को साथ लेकर शारदा चौक से शारदा मंदिर रोड में  अपनी गाड़ी से स्वर्णिका होम्स के सामने पहुचा जहाँ गेट के सामने अंकित की एक्टिवा खड़ी थी और उसी के बाजू में सीमेंट की सड़क में बेटा अंकित मृत हालत में पड़ा था सड़क में  खून फैला हुआ था अंकित को बायें तरफ सीने में 2 गोली लगने के निशान थे पास ही गोली के 2 खोखा एवं एक बगैर चला कारतूस पड़ा था बहुत से लोग इकट्ठे हो गये थे उसके पुत्र अंकित चंडोक उम्र 35 वर्ष की किसी अज्ञात व्यक्ति ने गोली मारकर हत्या कर दी है ।
                    घटित हुई घटना  की जानकारी लगते ही पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) अति. पुलिस अधीक्षक शहर  (दक्षिण) डाॅ संजीव उइके, अति. पुलिस अधीक्षक शहर श्री अमित कुमार, (भा.पु.से.) अति. पुलिस अधीक्षक अपराध श्री गोपाल प्रसाद खांडेल, पहुंचे, वरिष्ठ अधिकारियों एवं एफ.एस.एल. टीम तथा डाॅग स्क्वाड की उपस्थिति में पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये रिपोर्ट पर धारा 302 भादवि एवं 25, 27 आम्र्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।
                            पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपी की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपी की अविलम्ब गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर (दक्षिण) डाॅ संजीव उइके एवं अति. पुलिस अधीक्षक अपराध श्री गोपाल प्रसाद खांडेल, द्वारा थाना प्रभारी गढ़ा श्री राकेश तिवारी के नेतृत्व में थाना गढ़ा  स्टाफ एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर आरोपी की तलाश पतासाजी हेतु लगाया गया।
                        दौरान विवेचना के घटनास्थल के आस पास के सीसीटीवी फुटेज खगांले गये, संदेहियो से पूछताछ करते हुये तकनीकी विवचेना के आधार पर  पाया गया कि गाजियाबाद उ.प्र. निवासी वैगनार कार क्रमांक डी.एल. 9 सी.आर 5292 में  सवार अज्ञात आरोपियों ने  अंकित चंडोक की गोली मारकर हत्या की है ।
                         संदेहियो की तलाश पतासाजी वास्ते 02 टीमें गाजियाबाद उ.प्र. रवाना की गयी । टीम के द्वारा पतासाजी करते हुये  गाजियाबाद उ.प्र. में स्थानीय पुलिस के सहयोग से तीन संदेही उत्कर्ष मिश्रा, मयंक अग्रवाल, शिवम छलेरिया को पूछताछ हेतु पुलिस अभिरक्षा में  जिला जबलपुर लाया गया, नगर पुलिस अधीक्षक गढ़ा श्री रोहित काशवानी (भा.पु.से.) की उपस्थिति में सघन पूछताछ की गयी जिस पर पाया गया कि साहिल जग्गी जो कि मृतक अंकित चंडोक का रिश्ते का भाई लगता है, साहिल जग्गी के साथ उत्कष मिश्रा वर्ष 2018 में  जबलपुर में  नागपाल गार्डन में आयजित डाॅग शो में गया था, जहाॅ मृतक की पत्नि भी सपरिवार गयी थी, डाॅग शो के दौरान मृतक की पत्नि की उत्कर्ष मिश्रा से जान पहचान हुई थी, तभी से मोबाईल पर दोनो की बात होती थी, उत्कर्ष मिश्रा जब कभी जबलपुर आता था, साहिल जग्गी के पास रूकता था, जबलपुर में रूकने के दौरान  उत्कर्ष मिश्रा की मृतक अंकित की पत्नि से मुलाकात होती थी, लगातार मोबाईल पर बातचीत एवं जबलपुर में रूकने के दोैरान मुलाकात के कारण उत्कर्ष मिश्रा, मृतक की पत्नि से प्यार करने लगा तथा यह सोच कर कि अंकित चंडोक को यदि रास्ते से हटा दिया तो अपने प्यार को पा लेगा, तथा उत्कर्ष मिश्रा को यह भी मालूम था कि अंकित चंडोक का व्यवसायिक प्रतिद्वंदिता को लेकर  समदडिया माॅल मे ही टैटू की दुकान संचालित करने वाले दीपक जैन से विवाद चल रहा है, किसी को उस पर शक नहीं होगा, दीपक जैन पर ही शक होगा तथा योजना के मुताबिक अपने प्यार को पाने के लिये अपने साथी मयंक अग्रवाल व शिवम छलेरिया के साथ मिलकर रैकी कर सूनसान रास्ते में अकेला पाकर अंकित चंडोक की गोली मारकर हत्या कर दी, एवं सीधे कार से पाटन सागर होते हुये गाजियाबाद उ.प्र. भाग गये। घटना में प्रयुक्त वैगनार कार जप्त करते हुये आरोपियों से घटना में प्रयुक्त देशी पिस्टल की बरामदगी हेतु आरोपियों का मान्नीय न्यायालय से पुलिस रिमांड  लिया जा रहा है।
                     
 उल्लेखनीय भूमिका - आरोपियो की पतासाजी तथा गिरफ्तारी मे थाना प्रभारी थाना गढा श्री राकेश तिवारी, क्राईंम ब्रांच के प्रधान आरक्षक धनंजय सिंह, विजय शुक्ला, प्रमोद पाण्डे, आरक्षक प्रेम विश्वकर्मा, ब्रजेन्द्र कसाना, नीरज तिवारी, बीरबल , मोहित उपाध्याय व साईबर के आरक्षक भगवान सिंह, चंद्रिका तथा थाना गढ़ा के उप निरीक्षक बृजेन्द्र तिवारी, उप निरीक्षक नीलेश पोर्ते, परीवीक्षाधीन उनि प्रशांत शुक्ला, आरक्षक अश्विनी द्विवेदी, सचिन मेहरा, राजेश्वर मिश्रा, की सराहनीय भूमिका रही । पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा  टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूष्कृत करने की घोषणा की गई है।