बीड़ी बनाने वाले को 500 रुपए का लालच देकर फर्जी दस्तावेजों में हस्ताक्षर कर जालसाजो ने बेच दी लाखो की जमीन - Jai Bharat Express

Breaking

बीड़ी बनाने वाले को 500 रुपए का लालच देकर फर्जी दस्तावेजों में हस्ताक्षर कर जालसाजो ने बेच दी लाखो की जमीन


   कूट रचित दास्तावेज तैयार कर, फर्जी भूस्वामी बनाकर किसी और की जमीन अपने नाम रजिस्ट्री कराकर बेचने वाले फरार 3 भू-माफिया जालसाज गिरफ्तार, फरार 1 की तलाश


जबलपुर : पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) को ओमकार सेन उम्र 65 वर्ष निवासी नारायण नगर गढ़ा ने लिखित शिकायत की थी  कि करमेता स्थित खसरा न. 383/11 रकबा 1200 वर्ग फिट  स्थित भूमि पर बना मकान पुष्तैनी है जिसमें वह काबिज है। संजीव कुमार चौबे निवासी पाटन रोड करमेता ने गणेश प्रसाद दुबे निवासी दरगाह रोड गुरूदेव कालोनी को फर्जी स्वामी बताकर उक्त भूमि का न्यायालय तहसीलदार पनागर वृत्त महाराजपुर जबलपुर से दिनाॅक 27-8-2016 को अवैध लाभ प्राप्त करने हेतु षणयंत्र पूर्वक नामंत्रण करा दिया एवं उक्त फर्जी कूट कृत्य नामांत्रण संजीव कुमार चौबे ने फर्जी कूटकृत्य विकृय पत्र से कराया। इसके पूर्व संजीव कुमार चौबे ने दिनाॅक 4-8-16 को 6 लाख 69 हजार 120 रूपये में फर्जी तरीके से अवैध लाभ प्राप्त करने उक्त भूमि, मकान गणेश दुबे निवासी दरगाह रोड गुरूदेव कोलानी से पंजीकृत विकय पत्र से क्रय किया है।  इस प्रकार उसके स्वामित्व एवं कब्जे की भूमि/मकान का अवैध नामांत्रण एवं अवैध विक्रय पत्र संजीव चौबे, गणेश प्रसाद दुबे एवं अन्य ने एक राय होकर कूट कृत्य दस्तावेजो द्वारा किया है।  पुलिस अधीक्षक जबलपुर द्वारा थाना प्रभारी माढोताल को शिकायत की गम्भीरता से जांच कर वैधानिक कार्यवाही करते हुये आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर शिकायत की जांच अति. पुलिस  अधीक्षक शहर दक्षिण गोपाल खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक गढ़ा  रोहित काशवानी (भा.पु.से.) के मार्ग निर्देशन में की गयी।
                   शिकायत जांच पर ओंकार सेन के पिता गणेश सेन के नाम पर दर्ज भूमि को फर्जी गणेश दुबे, संजीव चौबे, सत्यम शुक्ला, संजय विश्वकर्मा के द्वारा एक राय होकर फर्जी दस्तावेज तैयार करते हुए फर्जी गणेश दुबे के नाम पर उक्त जमीन के कागजात तैयार कराकर फर्जी गणेश दुबे से अपने नाम पर रजिस्ट्री करा लेना एवं उक्त भूमि को अवैध लाभ कमाने की नियत से आरोपी संजीव चौबे ने  अन्य व्यक्ति को बैनामा लिखाकर रजिस्ट्री कराकर अवैध लाभ कमाना पाया जाने पर दिनांक 27-8-2020 को  संजीव चौबे, सत्यम शुक्ला, संजय विश्वकर्मा तथा फर्जी गणेश प्रसाद दुबे के विरूद्ध थाना माढोताल में धारा 420,467,468,471, भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
                प्रकरण के चारों  आरोपी घटना दिनाँक से ही लगातार फरार चल रहे थे , जिनकी गिरफ्तारी हेतु सम्भावित स्थानों पर दबिश दी जा रही थी।
               आज दिनाॅक 9-12-2020 को विश्वसनीय मुखबिर की सूचना पर सत्यम शुक्ला निवासी शारदा विहार कालोनी माढोताल एवं संजय विश्वकर्मा निवासी विश्वकर्मा कालोनी माढोताल को अभिरक्षा मे लेकर बारीकी से पूछताछ की गयी तो पाया गया कि आरोपी संजीव चौबे ने जगदीश मेहरा पिता सुकरूराम मेहरा निवासी कंकाली मोहल्ला थाना सिहोरा को फर्जी गणेश दुबे बना कर गणेश दुबे के नाम पर उक्त जमीन के फर्जी दस्तावेज तैयार किए एवं जगदीश मेहरा को गणेश दुबे बनाकर अपने नाम पर फर्जी तरीके से रजिस्ट्री कराई गई थी ।
                      प्रकरण के फरार आरोपी फर्जी गणेश दुबे, बने जगदीश मेहरा पिता सुकरूराम मेहरा निवासी कंकाली मोहल्ला सिहोरा की तलाश की गयी जगदीश मेहरा  से पूछताछ की गयी तो पाया गया कि जगदीश मेहरा बीड़ी बनाने का काम करता है व अत्यधिक गरीब है उसे 500 रुपए  का लालच देकर फर्जी दस्तावेजों में हस्ताक्षर कराए गए तथा रजिस्ट्री कार्यालय में गणेश दुबे के नाम से पेश किया जबकि उक्त जमीन गणेश सेन पिता हजारी प्रसाद सेन के नाम पर थी जिसका दस्तावेजो में नाम परिवर्तित कर विक्रय पत्र तैयार किया गया, उक्त फर्जीवाड़े  में गवाह सत्यम शुक्ला निवासी शारदा बिहार कॉलोनी माढ़ोताल, संजय विश्वकर्मा निवासी विश्वकर्मा कॉलोनी माढ़ोताल का संलिप्त होना पाया गया एवं सभी के द्वारा एक मत होकर फर्जी दस्तावेज तैयार करते हुए फर्जी गुणेश दुबे के नाम से जमीन बेची गई ।
                      आरोपी सत्यम शुक्ला निवासी शारदा बिहार कॉलोनी माढ़ोताल, संजय विश्वकर्मा निवासी विश्वकर्मा कॉलोनी माढ़ोताल, जगदीश प्रसाद मेहरा (फर्जी गणेश दुबे) निवासी कंकाली मोहल्ला सिहोरा को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है । फरार आरोपी संजीव चौबे निवासी पाटन रोड करमेता की सरगर्मी से तलाश जारी है।  
उल्लेखनीय भूमिका - धोखाधड़ी के आरोपी सत्यम शुक्ला, संजय विश्वकर्मा, जगदीश प्रसाद मेहरा (फर्जी गणेश दुबे) को पकड़ने में  थाना प्रभारी माढ़ोताल रीना पांडे शर्मा, सउनि उमलेश तिवारी, प्रआर अशोक मिश्रा, आरक्षक लखन, संदीप, सचिन की सराहनीय भूमिका रही ।