220 केवी सब स्टेशन हाई बस पर रस्से के झूले के सहारे लटके 18 मीटर ऊँचाई पर तेजा ने दिखाई जाबांजी - Jai Bharat Express

Breaking

220 केवी सब स्टेशन हाई बस पर रस्से के झूले के सहारे लटके 18 मीटर ऊँचाई पर तेजा ने दिखाई जाबांजी

 



बरसते पानी, कड़कती बिजली और ठिठुरन भरी सर्द

तेज हवाओं के बीच 18 मीटर ऊँचाई पर तेजा ने दिखाई जाबांजी


तेज सिंह धुर्वे उर्फ तेजा


जबलपुर |  मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी के 220 केवी सब स्टेशन सूखा में पावर ग्रिड से आने वाली ट्रांसफार्मर इनकमिंग में आये हाट पाइंट को विपरीत परिस्थिति में अटेंड कर लाइनमेन के पद पर पदस्थ तेज सिंह धुर्वे उर्फ ‘तेजा’ ने सराहनीय कार्य किया। 


कम समय व व‍िपरीत पर‍िस्थि‍त‍ि में करना था काम 


दरअसल गत दिवस जब पूरे शहर और आसपास में बेमौसम अंधड़ और तेज बारिश के बीच विद्युत व्यवस्था प्रभावित हुई, तब सिस्टम में लोड कम होने के कारण पावर ग्रिड स्थित 400/220 केवी ट्रांसफार्मर के आई.सी.टी. एक (जो कि 220 केवी सब स्टेशन सूखा में स्थित है) अचानक शट डाउन उपलब्ध हो गया। इसमें एक जम्पर के क्लैम्प में हाट पाइंट में तकनीकी खराबी थी। यह शटउाउन सीमित समय के लिये था इसलिये इसे कम से कम समय में सटीकता के साथ करना अनिवार्य था, लेकिन अचानक मौसम विपरीत हो गया, बारिश होने लगी, तेज हवाओं के साथ बिजली कड़क रही थी और ठंड भी अचानक बढ़ गई। 


18 मीटर ऊंचाई पर क‍िया काम


इन व‍िपरीत पर‍िस्थि‍तियों के बीच तेज सिंह धुर्वे, ‘तेजा’ इसे ठीक करने के ल‍िए स्वेच्छा से आगे आये। वे निडरतापूर्वक तकरीबन 18 मीटर ऊँची 220 केवी सब स्टेशन हाई बस पर रस्से के झूले के सहारे लटक गये। तेज चल रही हवा में संतुलन बनाना बेहद कठिन कार्य था, परन्तु तेजा ने इस विषम परिस्थिति का मुकाबला करते हुए हिम्मत और निडरता के साथ निर्धारित शट डाउन पीरियड में कलेम्प बदल कर अपने कार्य कौशल का एक उत्कृष्ट नमूना पेश किया। 


हमेशा व‍िश‍िष्ट कार्यों को देते हैं अंजाम 


उन्होंने अपनी हिम्मत और उत्कृष्ट कौशल से एक अत्यावश्यक सुधार कार्य को समय सीमा में कर दिखाया, जिसके कारण बार-बार शटडाउन लेने की प्रक्रिया से सिस्टम को बचाया जा सका। तेज सिंह धुर्वे हमेशा से ही विशिष्ट कार्यो को अंजाम देते आये पर उनके द्वारा किया गया यह कार्य निस्संदेह प्रशंसनीय है।