फर्जी दस्तावेज तैयार कर मकान को बैंक में बंधक रखकर लोन लेने वाले आरोपी पति-पत्नि गिरफ्तार, फरार 1 की तलाश - Jai Bharat Express

Breaking

फर्जी दस्तावेज तैयार कर मकान को बैंक में बंधक रखकर लोन लेने वाले आरोपी पति-पत्नि गिरफ्तार, फरार 1 की तलाश

 


कूट रचित दस्तावेज तैयार कर मकान को बैंक में बंधक रखकर लोन लेने वाले आरोपी पति-पत्नि गिरफ्तार, फरार 1 की तलाश


जबलपुर | थाना ओमती में श्रीमती गीता राजपूत उम्र 49 वर्ष निवासी सुभाष नगर महाराजपुर अधारताल ने लिखित शिकायत की उसके पति स्वर्गीय रमेश सिंह राजपूत उर्फ हेमराज सिंह को एमपी हाउसिंग बोर्ड द्वारा नियामानुसार महाराजपुर  दिनांक 28-11-1998 एक एलआईजी मकान आवंटित किया गया था, उसके पति की मृत्यु दिनांक 1-2-2005 को हो गयी थी, तब से लेकर आज तक वह  उपरोक्त मकान में अपने परिवार के साथ निवास कर रही है। जनवरी 2015 मे यह ज्ञात हुआ कि उक्त मकान श्रीमती ममता झा एवं नवीन चंद झा दोनो निवासी ई डब्ल्यु एस 137 महाराजपुर तथा अन्य सहयोगी एवं एमपी हाउसिंग बोर्ड के तत्कालीन अधिकारियों द्वारा उसके पति को मारणोपरांत जीवित बताकर उनकी फोटो व नकली हस्ताक्षर कर उपरोक्त भूखण्ड को अपने नाम करा लिया है।  

                    उसे ज्ञात हुआ है कि ममता झा ने उक्त भूमि को सेंट्रल बैंक महानद्दा मे गिरवी रखकर लोन ले रखा है, बैंक के कर्मचारी उसके घर आकर उक्त मकान को खाली करने को कह रहे है। भवन आवंटन से 2005 तक उसके पति द्वारा सम्बंधित किश्तें विधिवत रूप से एमपी हाउसिंग बोर्ड में जमा करवाई गयी थी।

                शिकायत जांच पर पाया गया कि उक्त भवन 1998 में रमेश सिंह राजपूत को आवंटित किया गया था, रमेश सिंह की मृत्यु 13-12-2005 को हो गयी थी। मृत्यु उपरांत 26-11-2015 को उक्त मकान को मृतक रमेश सिंह के स्थान पर आरा सिंह द्वारा हस्ताक्षर कर ममता झा को विक्रय कर दिया गया, तथा श्रीमति ममता झा एवं ममता के पति नवीनचंद झा द्वारा उक्त मकान को  सेंट्रल बैंक में बंधक रखकर लोन ले लिया गया  है।

                   शिकायत पर श्रीमति ममता झा, नवीनचंद्र झा, आरा सिंह एवं अन्य के विरूद्ध धारा 419,420,467,468,471, 120बी भादवि का अपराध कर  प्रकरण विवेचना में लिया गया।


श्रीमति ममता झा उम्र 41 वर्ष एवं नवीनचंद्र झा, उम्र 52 वर्ष दोनों निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी अधारताल  को अभिरक्षा मे लेते हुये फरार आरा सिंह की तलाश जारी है।


               आरोपियों को तलाश पतासाजी कर गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी ओमती एस.पी.एस. बघेल के नेतृत्व में उप निरीक्षक सतीष झारिया, महिला आरक्षक भावना, आरक्षक ओमनाथ गुनगे की सराहनीय भूमिका रही।