मानव तस्करी में लिप्त गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश 2 महिलाओं सहित 3 आरोपी गिरफ्तार, - Jai Bharat Express

Breaking

मानव तस्करी में लिप्त गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश 2 महिलाओं सहित 3 आरोपी गिरफ्तार,

 


मानव तस्करी में लिप्त गिरोह के 2 महिलाओं सहित 3 आरोपी गिरफ्तार, फरार 2 आरोपियों की तलाश


 अपराध जिनमें गिरफ्तारी की गयी 


थाना मदनमहल अपराध क्र. 105/2021 धारा  342,370,370ए(2),376(2)एन ,114, 109, 120बी, 506 भा.द.वि.

थाना ग्वारीघाट अपराध क्रमांक 128/2021 370, 370 क,(2), 511, 34 भा.द.वि.


 थाना ग्वारीघाट एवं थाना मदनमहल के प्रकरण में गिरफ्तार आरोपी 


1 - अनिल कुमार बर्मन पिता अनारीलाल बर्मन उम्र 28 वर्ष निवासी कटरा मोहल्ला अधारताल स्थाई निवासी ग्राम रमखिरिया थाना मझगवाॅ

2 -  ज्योति बर्मन पति अनिल कुमार बर्मन उम्र 20 वर्ष निवासी कटरा मोहल्ला अधारताल स्थाई निवासी ग्राम बीजाखेड़ा थाना शाह नगर पन्ना

3 - संतोषी बैरागी (मराठी ) पति दाउ बैरागी उम्र 28 वर्ष हाल  निवासी  परसवाड़ा शांति नगर थाना संजीवनी नगर , स्थाई निवासी ग्राम खुरसौली थाना हट्टा जिला बालाघाट


 फरार आरोपी   

1 - सुरेश सिंह ठाकुर जिला बूंदी राजस्थान,  ( थाना ग्वारीघाट एवं थाना मदनमहल के प्रकरण में फरार )

2 - जमना शंकर निवासी ग्राम बलशाखा राजस्थान (  थाना मदनमहल के प्रकरण में फरार )


 

           

जबलपुर |  थाना ग्वारीघाट में दिनाॅक 28-1-21 को ग्वारीघाट निवासी 62 वर्षिय महिला ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि दिनांक 22.01.2021 के दोपहर 02.00 बजे  उसकी 23 वर्षिय शादीशुदा नातिन घर से कपड़े लेने का कहकर कहीं चली गयी है जो घर वापस नहीं आयी, जिसकी तलाश मोहल्ले आस पास पड़ोस में, रिश्तेदारी  की कुछ पता नहीं चला है। सूचना पर गुमइंसान क्रमांक 5/21 कायम कर जांच  मे लिया गया। जांच के दौरान  गुमशुदा को दस्तयाब किया गया,  पूछताछ के दौरान  गुमशुदा ने बताया कि दिनांक 22.01.2021 को उसे भुकंप कालोनी की रहने वाली संतोषी मराठी बहला फुसलाकर पैसों का लालच देकर मजदूरी का काम दिलाने के बहाने से राजस्थान मे कोटा के पास बूंभदी ले गयी, जहां पर जबलपुर का अनिल बर्मन व अनिल की पत्नी ज्योति बर्मन मिले तथा एक गढ़ा की रहने वाली एक महिला थी, संतोषी , अनिल बर्मन व उसकी पत्नी ज्योति बर्मन आपस मे कुछ बात किये इसके बाद हम दोनों को बूदी में  एक दादा जिसका नाम सुरेश सिह ठाकुर है जो औरतों को बिकवाने का काम करता है, जिसके पास ले गये उसके साथ ले जायी गयी महिला को बेच दिये कहाँ बेचे हैं यह बूदीं का सुरेश सिंह ठाकुर बता पायेगा उसका रंग सावला होने से उसे नही बेच पाये तो संतोषी के साथ उसे वापस जबलपुर भेज दिये है।


                      गुमशुदा की रिपोर्ट पर थाना ग्वारीघाट में संतोषी मराठी, अनिल बर्मन व ज्योति बर्मन एंव सुरेश सिंह ठाकुर निवासी बूंदी राजस्थान व अन्य के विरूद्ध अपराध क्रमांक 128/21 धारा 370, 370(क)(2), 511, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध  करते हुये अनिल बर्मन, ज्योति बर्मन तथा संतोषी मराठी को अभिरक्षा में लेते हुये आरोपी सुरेश सिंह ठाकुर की तलाश पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु टीम रवाना की जा रही है।


          इसी प्रकार थाना मदनमहल में दिनाॅक 11-3-21 को गढा निवासी 31 वर्षिय महिला ने आकर बताया कि 15 वर्ष पूर्व उसकी शादी हुई थी, शादी के 3 वर्ष बाद ही पति से आपसी वाद विवाद के चलते अलग रहने लगी थी, विगत 12 वर्षो से अपने बेटे को लेकर अलग किराये के कमरे मे मायके वालों के सहयोग से रह रही थी तथा घरों एंव होटलो मे काम कर जीवन यापन करते  हुये नवम्बर 2020 से छोटी लाईन स्थित एक भोजनालय में 200 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से रोटी बनाने का काम करने लगी थी , वहीॅ काम करने वाले अनिल बर्मन ने उसे अपनी पत्नि ज्योति बर्मन तथा संतोषी बैरागी से परिचय कराकर उसे विश्वास मे लेकर कहा कि यहाॅ तुम्हें बहुत कम तन्ख्वाह मिलती है, तुम हमारे साथ राजस्थान चलो वहाॅ पर अच्छी तन्ख्वाह मिलेगी, दिनाॅक 20-1-21 को ज्योति बर्मन एवं संतोषी बैरागी ने उसके बेटे को नानी के यहाॅ छोड़ने को बोला, तो उसने अपने बेटे को अपने मायके रीवा भेज दिया था। दिनाॅक 26-1-21 को ज्योति बर्मन कोटा लेकर गयी, जहाॅ अनिल बर्मन, संतोषी बैरागी एवं ग्वारीघाट निवासी एक अन्य महिला मिली, कोटा से दोनों को बूंदी राजस्थान मे किसी सुरेश सिंह के घर ले गये जहाॅ पर बलशाखा राजस्थान का जमना शंकर उन्हें देखने आया एवं 2  लाख 80 हजार रूपये में सौदा तय करके, सुरेश सिंह ठाकुर ने अपना कमीशन काट कर बाकी पैसा, अनिल बर्मन, ज्योति बर्मन तथा संतोषी बैरागी को बाट दिया, उसने कहा मै मजदूरी करती हॅू मुझे गलत धंधे मे मत डालो तो पाॅचों ने धमकाया कि यहाॅ तुम्हारी खोज खबर लेने वाला कोई नहीं है, जेैसा बोला जा रहा है वैसा करो, नहीं तो मारकर फेंक देंगे, कुछ पता नहीं चलेगा, तुम्हारे बेटे की भी हत्या करवा देंगे, वह डर के कारण जमना शंकर के घर बलशाखा राजस्थान चली गयी थी, जहाॅ उससे दिन भर नौकरों की तरह काम कराया जाता था, तथा रात्रि में जमना शंकर के द्वारा लगातार 1 महीने तक दुराचार किया जाता रहा, फिर उसने जमना शंकर को विश्वास मे लेकर कहा कि एक बार मुझे जबलपुर जाकर अपने बेटे को ले आने दो फिर मैं आपके साथ ही रहूंगी, आप जैसा कहेंगे, करूंगी, जमना शंकर उसकी बातों को मान गया और उसे ट्रेन की टिकिट करा कर एवं पैसे देकर जबलपुर भेज दिया।


                  रिपोर्ट पर थाना मदनमहल अपराध क्र. 105/2021 धारा  342,370,370ए(2),376(2)एन ,114, 109, 120बी, 506 भा.द.वि. का अपराध पंजीबद्ध कर थाना ग्वारीघाट मे गिरफ्तार आरोपी अनिल बर्मन, ज्योति बर्मन तथा संतोषी बैरागी (मराठी) की थाना मदनमहल के प्रकरण में गिरफ्तारी शुमार करते हुये फरार आरोपी सुरेश सिंह ठाकुर निवासी बूंदी राजस्थान एवं जमना शंकर निवासी ग्राम बलशाखा राजस्थान की पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु राजस्थान टीम भेजी जा रही है। सुरेश सिंह ठाकुर निवासी बूंदी राजस्थान के पकड़े जाने पर और भी घटनाओं के खुलासा होने की संभावना है।

 

 तरीका वारदात - उक्त गिरफ्तार आरोपियों द्वारा गरीब एवं आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को राजस्थान मे अधिक मजदूरी पर काम दिलाने का लालच देकर राजस्थान ले जाकर सुरेश सिंह निवासी बूंदी राजस्थान के माध्यम से सौदा कर बेच दिया जाता था तथा मिले रूपयों को सभी आपस में बांट लेते थे।


उल्लेखनीय भूमिका -  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण अपराध  गोपाल खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक कैंट भावना मरावी, के मार्गदर्शन में मानव तस्करी मे लिप्त 2 महिलाओं सहित 3 आरोपियों  को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी ग्वारीघाट विजय सिंह परस्ते, थाना प्रभारी मदनमहल नीरज वर्मा, थाना मदनमहल के उप निरीक्षक मंजूषा धुर्वे, सहायक उप निरीक्षक राजेन्द्र शुक्ला, महिला आरक्षक शिल्पी सिंह, प्रिया सिंह, राजेश अग्निहोत्री एवं रूपलाल इडपाचे, तथा थाना ग्वारीघाट के उप निरीक्षक बुद्धन मरावी, सहायक उप निरीक्षक रणजीत सिंह ठाकुर, आरक्षक अजय सिंह, महिला आरक्षक आकृति राजपूत, लवली बागरी, पद्मा ठाकरे, वैशाली रजक, सैनिक राहुल गुप्ता, की सराहनीय भूमिका रही।