पुरानी रंजिश पर अधिवक्ता को गोली मारने वाले फरार 2 आरोपी गिरफ्तार पुलिस ने किया खुलाशा - Jai Bharat Express

Breaking

पुरानी रंजिश पर अधिवक्ता को गोली मारने वाले फरार 2 आरोपी गिरफ्तार पुलिस ने किया खुलाशा

 


सिहोरा अंतर्गत पुरानी रंजिश पर अधिवक्ता को गोली मारने वाले फरार 2 आरोपी गिरफ्तार, घटना में प्रयुक्त, कट्टा, 2 कारतूस, 1 खोखा, 1 मोटर सायकिल, 3 मोबाईल जप्त


गिरफ्तार आरोपियो का नाम 

1- अंकित उर्फ आदित्य पिता अशोक पाली उम्र 26 वर्ष निवासी सरकारी कुआं गौतम नगर कब्रिस्तान के बाजू में बेलबाग  

2 - राहुल सिंह पिता सुशील ठाकुर उम्र 32 वर्ष निवासी मदना पनागर हाल शिवधाम कालोनी स्वास्तिक अस्पताल के पास माढोताल,  


पूर्व में गिरफ्तार आरोपी - 1-सुशील सिंह पिता द्वारका प्रसाद ठाकुर उम्र 74 वर्ष निवासी ग्राम मदना थाना पनागर हाल शिवधाम कालोनी स्वास्तिक हाॅस्पिटल के सामने माढोताल।


एक आरोपी पूर्व से जेल में निरूद्ध है -  राजेश सिंह निवासी ग्राम मदना पनागर (वर्तमान में केंन्द्रीय जेल जबलपुर में निरूद्ध है की गिरफ्तारी की जा रही है)


जप्ती - घटना में प्रयुक्त देेशी 1 कट्टा, 02 जिन्दा कारतूस, 1 खाली खोखा, 03 मोबाईल फोन, 01 मोटर सायकिल  जप्त।

 

घटना विवरण - थाना सिहोरा में दिनाॅक 22-3-21 को सिहोरा न्यायालय परिसर के सामने गोली चलने एवं घायल को उपचार हेतु जबलपुर मैट्रो अस्पताल ले जाने की सूचना पर मैट्रो अस्पताल पहुंची पुलिस को सूर्यभान सिंह राजपूत उम्र 31 वर्ष निवासी करमेता माढोताल ने बताया कि वह पेशे से अधिवक्ता है,  दिनाॅक 22-3-21 को उसके पिता उजियार सिंह की जमानत पर सिहोरा कोर्ट में सुनवाई थी जिसमे अपने साथी अधिवक्ताओं के साथ न्यायालय में बहस उपरांत शाम 5 बजे कोर्ट के बाहर आया तभी सुशील ठाकुर  जिससे 302 के केश में रंजिश चल रही है उसके पीछे पीछे चलकर आया एवं उसकी तरफ इशारा करते हुये गालीगलौज कर बोला मारो इसे, तभी स्कूटी से उतरकर आये युवक ने गाली गलौज कर कट्टा निकाला और जान से मारने की नीयत से उस पर गोली चला दी, गोली उसके पेट मे एवं छर्रे हाथ की गदेली में लगे, उसके साथी उसे तत्काल सिहोरा अस्पताल ले गये जहाॅ से उसे जबलपुर रिफर कर दिया गया। रिपोर्ट पर थाना सिहोरा में अपराध क्र0 166/2021  धारा 294, 307, 120बी, 506, 34 भा.द.वि. का प्रकरण कायम कर विवेचना में लिया गया।

                   

पुलिस टीम के द्वारा सरगर्मी से तलाश करते हुये सुशील सिंह पिता द्वारका प्रसाद ठाकुर उम्र 74 वर्ष निवासी ग्राम मदना थाना पनागर हाल शिवधाम कालोनी स्वास्तिक हाॅस्पिटल के सामने माढोताल की प्रकरण मे गिरफ्तारी की गयी थी। वहीं फरार आरोपियों की गिरफ्तारी पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा 10000/- रूपये (दस हजार रूपये) के नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की उद्घोषणा की गई।

गठित टीम द्वारा आरोपी राहुल सिंह पिता सुशील सिंह ठाकुर उम्र 32 वर्ष निवासी ग्राम मदना थाना पनागर हाल शिवधाम कालोनी स्वास्तिक हाॅस्पिटल के सामने माढोताल, को जिला निवाड़ी के ग्राम कुलुआ से गिरफ्तार किया गया जिसने पूछताछ पर बताया कि घटना के पूर्व से अपने पिता सुशील ठाकुर तथा भतीजे विकास के साथ काम करने वाले अंकित उर्फ आदित्य पाली निवासी सरकारी कुआं गौतम नगर कब्रिस्तान के बाजू में थाना बेलबाग के साथ गनियारी निवासी सूर्यभान सिंह की हत्या करने की योजना बनाई तथा अंकित को सूर्यभान की हत्या करने के लिये एक 315 बोर का कट्टा एवं 03 कारतूस दिया था, उक्त कट्टा  बड़े भाई  राजेश सिंह ठाकुर ने जब पैरोल पर छूट कर आये थे उस समय दिया था।

राजेश सिंह ठाकुर जो पैरोल अवधि समाप्त होने के बाद केन्द्रीय जेल जबलपुर में निरूद्ध की प्रकरण में विधिवत गिरफ्तारी की जा रही है।

आरोपी अंकित उर्फ आदित्य पाली पिता अशोक पाली उम्र 26 वर्ष निवासी सरकारी कुआं गौतम नगर कब्रिस्तान के बाजू में थाना बेलबाग को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा मे लेते हुये सघन पूछताछ की गयी तो बताया की योजना के अनुसार दिनांक 19/03/2021  एक काले रंग की एक्सेस स्कूटी में सिहोरा गया और अपने दोस्त रोहित उर्फ संजय पटेल निवासी खितौला के माध्यम से किराये का मकान लेकर रूक गया इस बीच उसकी राहुल सिंह व सुशील सिंह से सूर्यभान को मारने के संबंध में  मोबाईल पर बातचीत लगातार होती थी।

दिनांक 22/03/2021 को भी राहुल ने फोन पर बताया था कि आज सूर्यभान सिहोरा आयेगा तब वह स्कूटी से 04 बजे शाम सिहोरा न्यायालय पहुंच गये, वह सूर्यभान की कार के पास कट्टा लेकर इंतजार कर रहा था उस दौरान राहुल ने उसे फोन पर बताया था की सूर्यभान सिहोरा कोर्ट पहुंच गया। करीब 05.30 बजे सूर्यभान अकेला कोर्ट से निकलकर अपनी कार के पास पहुंचा तभी उसने अपने पास रखे 315 बोर के कट्टे से सूर्यभान को गोली मार दिया जो सूर्यभान के पेट में लगी, सूर्यभान वहाँ से दौड़ लगा दिया, स्कूटी से वह अपने घर जबलपुर वापस आ गया।  

 जिस कट्टे से अंकित ने सूर्यभान को गोली मारी थी अंकित की निशादेही पर उस कट्टे को तथा 2 जिन्दा   कारतूस, एवं 1 खाली खोखा, अंकित का मोबाईल फोन तथा आरोपी राहुल जिस मोटर सायकल से निवाड़ी के लिये भागा था उस मोटर सायकिल सहित 02 मोबाईल फोन जप्त किये जाकर दोनों आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।


उल्लेखनीय भूमिका - हत्या के प्रयास के प्रकरण में फरार आरोपियों को पकड़ने में थाना प्रभारी सिहोरा गिरीश धुर्वे, उप निरीक्षक जे0पी0 द्विवेदी, महेन्द्र जाटव, रविन कन्नौज, आरक्षक राजेश पटेल, हेमन्त शर्मा, अमित रैकवार क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक रामसनेह शर्मा, धनंजय सिंह, विजय शुक्ला, रमाकांत मिश्रा, प्रधान आरक्षक राजेन्द्र बिलौहा, ब्रजेन्द्र सिंह कसाना, दीपक तिवारी, हरि शंकर गुप्ता आरक्षक अजीत पटेल, नितिन मिश्रा, अमित श्रीवास्तव, नीरज तिवारी, अनिल शर्मा, बीरबल, अजय सोनकर, बलजीत, मोहित, रवि पाण्डे, अनूप सिंह, अखिलेश यादव, राजेश केवट, सायबर सेल के आरक्षक अमित पटेल, नवनीत चक्रवर्ती चालक मुकेश परिहार की सराहनीय भूमिका रही।