शारदा चिट फंड मामला : कलाकार शुभप्रसन्न ईडी के सामने पेश हुए - Jai Bharat Express

Breaking

शारदा चिट फंड मामला : कलाकार शुभप्रसन्न ईडी के सामने पेश हुए

 


कोलकाता। प्रसिद्ध कलाकार शुभप्रसन्न सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष शारदा चिट फंड मामले की जांच के संबंध में पूछताछ के लिए पेश हुए। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। ईडी सूत्रों के मुताबिक, पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के करीबी माने जाने वाले कलाकार वित्तीय जांच एजेंसी के अधिकारियों के समक्ष यहां इसके सीजीओ कॉम्प्लेक्स कार्यालय में पेश हुए।


सूत्र ने कहा कि वह बैंकिंग लेनदेन से संबंधित दस्तावेजों के साथ एजेंसी के समक्ष उपस्थित हुआ।

उनका बयान धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया जाएगा।

ईडी के सूत्रों के अनुसार, शुभप्रसन्न से उनके बैंक खाते के माध्यम से शारदा समूह के साथ किए गए कुछ वित्तीय लेनदेन के बारे में पूछताछ की गई, जो कि जेल में बंद शारदा समूह के प्रमुख सुदीप्त सेन को एक टेलीविजन चैनल बेचे जाने से संबंधित है। ईडी के सूत्रों के मुताबिक, शुभप्रसन्न और सेन के बीच 6 करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ था।

साल 2019 और 2015 के मामले में भी शुभप्रसन्न से पूछताछ की गई। ईडी द्वारा मामले के संबंध में उनकी बेटी से 2016 में पूछताछ की गई थी।

ईडी ने तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष से पूछताछ के लगभग 13 दिनों बाद शुभप्रसन्न से पूछताछ की।

ईडी ने इससे पहले 12 मार्च को दो घंटे के लिए तृणमूल कांग्रेस के विधायक समीर चक्रवर्ती से पूछताछ की थी।

पोंजी घोटाले की जांच कर रहे सीबीआई और ईडी ने पिछले कुछ सालों में तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं और पार्टी के करीबी सहयोगियों से पूछताछ की है।

हाल के दिनों में केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी और उनकी बहन मेनका गंभीर के खिलाफ भी अवैध कोयला तस्करी के मामले में बयान दर्ज किए हैं।

केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाइयों ने पश्चिम बंगाल में चुनावी माहौल को और भी गर्म कर दिया है, जहां सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच तीखी बयानबाजी भी हो रही है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा की 294 सीटों पर 27 मार्च, 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को आठ चरणों में चुनाव होने हैं।