देखें VIDEO - मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश ने की मुस्लिम समाज के लोगों से अपील - Jai Bharat Express

Breaking

देखें VIDEO - मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश ने की मुस्लिम समाज के लोगों से अपील

 


शब-ए-बारात पर घर में ही पढ़ें नफिल की नमाज 


कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश ने की मुस्लिम समाज के लोगों से अपील


शासन-प्रशासन द्वारा जारी गाइड लाइन पर करें अमल


जबलपुर | मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश मौलाना हजरत मोहम्मद हामिद अहमद सिद्दीकी ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुये मुस्लिम समाज के सभी नागरिकों से शब-ए-बारात के त्यौहार पर घरों में रहकर ही नफिल की नमाज पढ़ने की अपील की है । उन्होंने कहा कि चूंकि शब-ए-बारात का त्यौहार रविवार को है और इस दिन कोरोना पर नियंत्रण के लिये शहरी क्षेत्र में लॉकडाउन लगाया गया है । हमारी भी यह जिम्मेदारी है कि इस महामारी से सभी की सुरक्षा के लिये शासन द्वारा लगाई गई पाबंदियों एवं गाइड लाइन का समाज का हर व्यक्ति पालन करे । 

मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश ने कहा कि कोविड की महामारी इस वर्ष ज्यादा ताकतवर होकर लौटी है । पिछले वर्ष भी इसी समय सभी धर्मों और समाज के लोगों ने इस बीमारी की वजह से काफी मुश्किलों तथा लॉकडाउन जैसी कई पाबंदियों का सामना किया था । अब जबकि इस बार यह महामारी और ज्यादा ताकतवर होकर आई है पिछले बार की पाबंदियों का हमें फिर सख्ती के साथ पालन करना होगा । मुफ्ती-ए-आजम हजरत मौलाना मोहम्मद हामिद अहमद सिद्दीकी ने कहा कि शासन द्वारा त्यौहार को मनाने पर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है । लेकिन समाज के सभी लोगों का यह फर्ज बनता है कि कोरोना पर लगातार बढ़ते संक्रमण पर नियंत्रण के लिये शासन द्वारा जारी गाइड लाइन की हिदायतों पर अमल करें और शब-ए-बारात के मुबारक मौके पर घर में ही नफिल की नमाज अदा कर मुल्क और आवाम की बेहतरी की दुआ करें । मुफ्ती-ए-आजम ने शब-ए-बारात के त्यौहार पर समाज के सभी लोगों को मुबारकबाद देते हुये कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को नुकसान दायक बताया ।