सीएम शिवराज का बयान, COVID-19 से बचाव के लिए 3 तरह की अपनाई जा रही है रणनीति - Jai Bharat Express

Breaking

सीएम शिवराज का बयान, COVID-19 से बचाव के लिए 3 तरह की अपनाई जा रही है रणनीति



 भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते आंकड़ों ने चिंता बढ़ा दी है, इस वजह से भोपाल, इंदौर और जबलपुर के अलावा छोटे शहरों में सख्ती बढ़ा दी गई है। बता दें कि मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा केस वाले शहर भोपाल, इंदाैर और जबलपुर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं, भोपाल में कोरोना की रफ्तार बढ़ने के साथ एक्टिव केस में तेजी से वृद्धि हो रही है।

प्रदेश में महानगरों में कोरोना महा संक्रमण की तरफ फैल रहा है : CM

आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना महा संक्रमण की तरह फैल रहा है, इसे रोकने के लिए संक्रमण को रोकना, अस्पतालों में व्यवस्था और वैक्सीनेशन पर सरकार का ज्यादा फोकस है। मुख्यमंत्री शिवराज ने संकेत दिए कि अब ज्यादा सख्त निर्णय लिए जाएंगे।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीएम का सामने आया बयान :

मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बयान देते हुए कहा कि कोरोना से बचाव को लेकर राज्य सरकार द्वारा तीन तरह की रणनीति अपनाई जा रही है, CM ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति सावधानियों का पालन करें, इन सावधानियों में फेस मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग, बार-बार साबुन या सैनिटाइजर से हाथ साफ करना और वैक्सीनेशन शामिल है।

सीएम ने किया ट्वीट

सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है, कि कोरोना से बचाव को लेकर कई उपाय हमने किये हैं, लेकिन और प्रयास जरूरी हैं वही COVID-19 संक्रमण के स्तर को कम करने के लिए तीन रणनीति पर हो रहा है काम, कई उपाय हमने किये हैं, लेकिन और प्रयास जरूरी हैं।

हमारी तीन तरह की रणनीति है-

1 - संक्रमण रोकना

2 - बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए अस्पतालों में बिस्तर की व्यवस्था करना

3 - तेजी से वैक्सीनेशन कर इस संकट को कम करना।

CM ने जनता से की ये अपील-

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना से बचाव के लिये लोगों से अपील की है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- मैं फिर अपील करता हूं कि मास्क लगायें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और हाथ बार-बार धोयें, यही संक्रमण को रोकने का उपाय है, ये तीनों उपाय जरूरी हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए हम आगे भी फैसले करेंगे, इसके अलावा वैक्सीनेशन के लिए हम तेजी से कार्य कर रहे हैं।