खान-पान से Diabetes को कर सकते हैं नियंत्रित, जानिए मधुमेह रोगियों का Diet Plan - Jai Bharat Express

Breaking

खान-पान से Diabetes को कर सकते हैं नियंत्रित, जानिए मधुमेह रोगियों का Diet Plan

 


दुनियाभर में ज्यादातर लोग डायबिटीज की समस्या से परेशान हैं. शरीर में शुगर लेवल के बढ़ने के कारण डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है. रोगी अपने खान पान को नियंत्रित कर इसके खतरे को कम कर सकता है.

नई दिल्लीः वर्तमान समय में ज्यादातर लोग आसानी से मधुमेह यानी डायबिटीज का शिकार हो जाते हैं. ब्लड में शुगर की मात्रा के बढ़ने के कारण मनुष्य को मधुमेह की शिकायत होती है. मधुमेह से ग्रस्त होने के कारण मनुष्य को बार-बार भूख लगने के साथ- साथ प्यास लगने लगती है, जिससे कि, उसे कई बार पेशाब भी जाना पड़ सकता है. मधुमेह शरीर के लिए काफी नुकसानदायक भी साबित हो सकती है.

मधुमेह के कारण मनुष्य के शरीर में इंसुलिन का निर्माण होना बंद हो जाता है. जिसके कारण रोगी कई प्रकार की दूसरी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है. मधुमेह से ग्रस्त होने पर रोगी को अपने खान-पान का काफी सतर्कता से ध्यना देना पड़ता है. रोगी अपने खान-पान में सावधानी बरत कर इस रोग से छुटकारा भी पा सकते हैं, वहीं इसमें बरती गई लापरवाही घातक भी साबित हो सकती है.


डायबिटीज के मरीज क्या खाएं


मधुमेह के मरीज को हमेशा अपनी डाइट में किसी भी तरह के फल को शामिल करने से पहले यह जांचना आवश्यक है कि उसके शुगर लेवल से मरीज को किसी तरह की परेशानी ना हो. मधुमेह के रोगी केला, सेब, अमरूद, नाशपती औऱ जामुन का इस्तेमाल कर सकते हैं. मधुमेह के रोगियों को दिन में एक केला और सेब को आधा-आधा करके दिन में दो बार में उसे खाना चाहिए.


वहीं, अमरूद में विटामिन ए और विटामिन सी की अच्छी खासी मात्रा के साथ ही फाइबर भी काफी मात्रा में मिलता है. जो डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी लाभदायक साबित होता है. जामुन का फल ब्लड शुगर लेवल को कम करने में काफी मदद करता है. इसलिए इसका सेवन शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है.


डायबिटीज के मरीज क्या नहीं खाएं


फिलहाल मधुमेह के रोगियों को मीठे फलों का जूस लेने से बचना चाहिए. मीठे फलों का जूस शरीर में ब्लड शुगर लेवल को खतरनाक स्तर तक बढ़ा सकते हैं. वहीं आम, अंगूर, चेरी, अनानास और सूखे मेवे का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए.


डायबिटीज के मरीज का फूड चार्ट


मधुमेह के मरीज के भोजन में कार्बोहाइड्रेट की 60 प्रतिशत मात्रा होना अनिवार्य है. इसके साथ ही उसकी डाइट में वसा और प्रोटीन की 20 प्रतिशत की मात्रा को जरूरी बताया गया है. इसके लिए मधुमेह के रोगी को अपनी दिनचर्या में दो मौसमी फल और तीन तरह की सब्जियों को शामिल करना चाहिए. मधुमेह के रोगी को मांस के सेवन से पूरी तरह बचना चाहिए.