1 मई से कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए आज से रजिस्ट्रेशन शुरू, जानें कैसे और कहां करें - Jai Bharat Express

Breaking

1 मई से कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए आज से रजिस्ट्रेशन शुरू, जानें कैसे और कहां करें




भारत में कोरोना के खिलाफ जंग के दायरे को बढ़ाते हुए 1 मई से टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत हो रही है। 1 मई से 18 साल से 45 साल के बीच के लोगों को टीका लगेगा। देश में 18 साल से अधिक उम्र के लोग टीका लगवाने के लिए आज यानी 28 अप्रैल से कोविन पोर्टल (cowin.gov.in) या फिर आरोग्य सेतु ऐप पर रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। बता दें कि देश में फिलहाल, 45 साल से अधिक लोगों को वैक्सीन दी जा रही है। 1 मई से देश में प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन उपलब्ध रहेगी।

1 मई से शुरू होने वाले टीकाकरण में सरकारी स्वास्थ्य केंद्र के साथ-साथ निजी अस्पतालों को भी शामिल किया गया है। वर्तमान में 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। 18 से 44 साल की आयु के सभी लोगों के टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन आज यानी 28 अप्रैल से कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु एप पर शुरू होगा। टीकाकरण के लिए दस्तावेज प्रक्रिया पहले की तरह ही रहेगी। पंजीकरण कराते ही रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर कन्फर्मेशन आएगा, जिसे चेक करना होगा। अप्वाइंटमेंट मिलने के बाद वैक्सीन लगवाने के दौरान अपनी स्लिप और फोटो आईडी साथ लेकर जाना होगा।

कैसे और कहां करें रजिस्ट्रेशन
कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए युवाओं को कोविन ऐप, अरोग्य सेतु ऐप या फिर कोविन की वेबसाइट पर जाना होंगा। वहां पर उन्हें अपने मोबाइल नम्बर को दर्ज करना होगा। उसके बाद एक ओटीपी के जरिए अपना एकाउंट बनाना होंगा। वहीं उसमें दिए गए फॉर्म में नाम, उम्र, लैंगिक जानकारी के साथ कोई आधार-कार्ड अपलोड करना होगा, जिसके बाद टीकाकरण केंद्र का चयन कर अप्वाइंटमेंट लेकर वैक्सीन लगवाई जा सकेगी। इतना ही नहीं वरिष्ठ लोगों का रजिस्ट्रेशन 1507 पर डायल करके भी कराया जा सकता है।

राज्यों में टीके की कमी नहीं
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी भी उपलब्ध है। अन्य 80 लाख खुराक उन तक अगले तीन दिनों में पहुंचेगी। सरकार ने अब तक राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को टीके की 15,65,26,140 खुराक प्रदान की हैं।
अपव्यय सहित कुल खपत 14,64,78,983 खुराक की है। एक करोड़ से अधिक खुराक (1,00,47,157) अभी भी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास देने के लिए उपलब्ध है। 80 लाख से अधिक (86,40,000) खुराक अगले तीन दिनों में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पास पहुंच जाएगी।