हो रही घर वापसी, लेकिन कारण बताने से कतरा रहे प्रवासी मजदूर - Jai Bharat Express

Breaking

हो रही घर वापसी, लेकिन कारण बताने से कतरा रहे प्रवासी मजदूर




नई दिल्ली। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, इसके रोकथाम के लिए कई राज्यों में नाइट और वीकेंड कर्फ्यू तक लगाया गया है। हालांकि इस दौरान दिल्ली से लोग अपने घरों की ओर वापसी तो कर रहे हैं, लेकिन कारण बताने से कतरा रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली में आज से वीकेंड कर्फ्यू शुरू हो गया है। आनंद विहार बस स्टैंड पर आज यात्रियों की संख्या में काफी गिरावट दिखी, लेकिन कुछ ऐसे यात्री भी मिले जो अपने घर काम न होने के कारण वापस जा रहे हैं।
दिल्ली में अनिल कुमार कपड़े सिलाई का काम करते थे, आनंद विहार बस स्टैंड पर कानपुर जाने के खड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि, "काम नहीं होगा तो मैं क्या करूंगा यहां रहकर? मकान मालिक पैसा मांगेगा ही, तो उसे देना पड़ेगा। पिछली बार भी 2 महीने का पैसा देना पड़ा था। अब तभी आऊंगा जब काम खुलेगा।"

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच शुक्रवार रात 10 बजे से ही शुरू हो चुका है और सोमवार सुबह 5.00 बजे तक चलेगा।

आनंद विहार बस स्टैंड से प्रवासी कामगार दूरदराज के गांवों में अपने घर जाने के लिए निकल रहे हैं। लेकिन जब इनके घर जाने का कारण पूछा जाए तो गांव में चुनाव और शादियों का जिक्र करते हैं।

क्या कोरोना के कारण घर वापसी तो नहीं हो रही ? ये पूछे जाने पर अधिकांश लोग कैमरे के सामने बोलने से मना कर देते हैं, सिर्फ चुनाव और घर में शादी का जिक्र ही कर रहे हैं।

बस स्टैंड पर खड़े बस चालकों की मानें तो लोगों में लॉकडाउन फिर से लग जाने का डर है। जिसके कारण अधिकांश लोग घर वापसी कर रहे हैं।

आनंद विहार बस स्टैंड पर खड़े कंडक्टर राम ब्रजेश ने आईएएनएस को बताया कि, "लोग पिछले साल के मुकाबले इस बार डरे हुए हैं। लोग सामान लेकर दिल्ली से अपने घरों की ओर निकल रहे हैं ताकि फिर लॉकडाउन न हो जाए। पिछले साल लोग पैदल, खाली पेट अपने घर रवाना हुए थे।"

"कुछ लोग चुनाव के कारण भी अपने गांव जा रहे हैं, लेकिन शादियां अभी शुरू नही हुई हैं। लोग कोरोना के कारण एक बार फिर लॉकडाउन न लग जाए इसलिए रवाना हो रहे हैं।"

बस चालक प्रवेश शर्मा ने आईएएनएस को बताया, "लोगों के मन में यही चिंता है कि कहीं लॉकडाउन न लग जाए, वैसे ही रोजगार के साधन समाप्त हो चुके हैं। घर जाकर खाने पीने का इंतजाम तो कर लेंगे।"

आनंद विहार बस स्टैंड पर खड़े यात्री बाल गोविंद सिंह ने बताया कि, "अपने गांव जा रहे हैं, क्योंकि घर में शादी है।" हालांकि जब पूछा गया कि कब तक आओगे तो बताया कि, "अब 2 महीने बाद आऊंगा।"

आनंद विहार से लखीमपुर जाने के लिए खड़े एक व्यक्ति ने आईएएनएस को बताया कि, "अपने गांव जा रहे हैं क्योंकि 19 अप्रैल को चुनाव है, प्रधान ने बुलाया है हम सभी को।"

हालांकि जब उनसे भी पूछा गया कि क्या कोरोना के कारण घर वापसी कर रहे हैं तो वह इस बात से इनकार कर दिया।