Corona Spike in India: कोरोना ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़े, 3,32,730 नए COVID19 केस आए, 24 घंटे में 2263 मौतें - Jai Bharat Express

Breaking

Corona Spike in India: कोरोना ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़े, 3,32,730 नए COVID19 केस आए, 24 घंटे में 2263 मौतें



Coronavirus, Coronavirus, India, News: कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. आज शुक्रवार को 3,32,730 नए COVID19 केस दर्ज किए गए हैं और 24 घंटे में 2263 मरीजों की मौतें हो गईं हैं.

भारत में पिछले 24 घंटे में COVID19 के 3,32,730 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,62,63,695 हो गई है. 2,263 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,86,920 हो गई है. अब देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 24,28,616 है. आज तक इस बीमारी से ठीक हुए डिस्चार्ज मरीजों की कुल संख्या 1,36,48,159 हो गई है.

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 31,47,782 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 13,54,78,420 हो गया है.

सर गंगाराम अस्पताल में 25 मरीजों की मौत, खतरे में 60 की जान, दो घंटे के लिए बची ऑक्‍सीजन
नई दिल्ली: दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार 25 मरीजों की मौत हो गई है. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए घटना के पीछे संभावित वजह ऑक्सीजन की कमी को बताया है. दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के निदेशक-मेडिकल ने कहा कि 60 अन्य बीमार मरीजों की जान जोखिम में. ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है और इसे एयरलिफ्ट करने की जरूरत है.सर गंगाराम अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने कहा कि अस्पताल में ऑक्सीजन का भंडार अगले दो घंटे और चलेगा, वेंटिलेटर और बीआईपीएपी मशीनें भी प्रभावी रूप से काम नहीं कर रही हैं. उन्होंने बताया कि गंभीर रूप से बीमार अन्य 60 मरीजों की जान भी खतरे में हैं और गंभीर संकट की आशंका है. चिकित्सा निदेशक ने बताया कि अस्पताल के आईसीयू और आपात-चिकित्सा विभाग में गैर-मशीनी तरीके से वेंटिलेशन बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है.

न्‍यूज एजेंसी, एएनआई के मुताबिक, दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल के निदेशक-मेडिकल ने कहा कि अस्पताल में पिछले 24 घंटे में 25 बीमार मरीजों की मौत हो गई है.ऑक्सीजन और 2 घंटे तक चलेगी. वेंटिलेटर और Bipap प्रभावी ढंग से काम नहीं कर रहे हैं. तत्‍काल ऑक्‍सीजन की आवश्यकता है. 60 अन्य बीमार मरीजों की जान जोखिम में.