बेलारूस में गिरफ्तार किए गए ब्लॉगर ने ‘कुबूला जुर्म’, कहा- ‘हां! मैं हिंसक आंदोलन कराने में हूं शामिल - Jai Bharat Express

Breaking

बेलारूस में गिरफ्तार किए गए ब्लॉगर ने ‘कुबूला जुर्म’, कहा- ‘हां! मैं हिंसक आंदोलन कराने में हूं शामिल


बेलारूस (Belarus) में गिरफ्तार किए गए विपक्षी ब्लॉगर रोमन प्रोतासेविच (Roman Protasevich) ने कहा कि ‘मेरे प्रति कर्मचारियों का रवैया सही और कानून के अनुसार है. मैं जांचकर्ताओं के साथ सहयोग कर रहा हूं।

मिन्स्क. बेलारूस (Belarus) में गिरफ्तार किए गए विपक्षी ब्लॉगर रोमन प्रोतासेविच (Roman Protasevich) ने कहा है कि वह सहयोग कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने सोमवार को सरकारी टीवी चैनलों द्वारा प्रसारित एक वीडियो में विरोध प्रदर्शन आयोजित करने के आरोपों को स्वीकार किया. एथेंस से विनियस के लिए उड़ान को रविवार को बेलारूसी हवाई क्षेत्र में एक कथित बम की धमकी के बाद डायवर्ट किया गया था. विमान को जबरन उतारने के बाद दुनिया भर के लोगों में जबर्दस्त गुस्सा पैदा हो गया. प्रोतासेविच ने शायद एक मोबाइल कैमरे में रिकॉर्ड किए गए वीडियो में कहा – ‘मैं मिन्स्क में डिटेंशन सेंटर नंबर 1 में हूं. मैं कह सकता हूं कि मुझे अपने दिल या किसी अन्य अंग सहित कोई स्वास्थ्य समस्या नहीं है.’ उन्होंने कहा कि ‘मेरे प्रति कर्मचारियों का रवैया सही और कानून के अनुसार है. मैं जांचकर्ताओं के साथ सहयोग कर रहा हूं और मिन्स्क शहर में बड़े पैमाने पर कार्यक्रम हिंसक आयोजन करने की बात कबूल कर रहा हूं.’ इससे पहले बेलारूस के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि प्रोतासेविच को मिन्स्क में रखा गया. प्रोतासेविच को नहीं है कोई बीमारी मंत्रालय ने उन अपुष्ट रिपोर्टों को खारिज कर दिया कि प्रोतासेविच को दिल की बीमारी के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मंत्रालय ने अपने टेलीग्राम चैनल पर कहा, ‘ प्रशासन को उनके स्वास्थ्य के बारे में कोई शिकायत नहीं मिली है।

बीते दिनों मिन्स्क शहर में हुए प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों ने अलेक्जेंडर लुकाशेंको (Alexander Lukashenk) के इस्तीफे की मांग की थी. वह दो दशकों से अधिक समय तक बेलारूस की सरकार में और हाल ही में संपन्न हुए चुनाव में भारी जीत हासिल की है. हालांकि उनके विरोधियों का कहना है कि चुनाव में धांधली हुई थी. अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों पर हिंसक कार्रवाई शुरू की. इस दौरान हजारों को हिरासत में लिया. इस दौरन कई लोग मारे गए.