क्राइम ब्रांच एवं थाना भेड़ाघाट पुलिस की बड़ी कार्रवाई भारी मात्रा में जब्त की शराब - Jai Bharat Express

Breaking

क्राइम ब्रांच एवं थाना भेड़ाघाट पुलिस की बड़ी कार्रवाई भारी मात्रा में जब्त की शराब



क्राईम एवं थाना भेड़ाघाट पुलिस की संयुक्त कार्यवाही बुलेरो पिकअप वाहन में अवैध रूप से लोड कर रखी हुयी 1500 पाव अंग्रेजी गोवा शराब कीमती 1 लाख 75 हजार रूपये की जप्त,आरोपी की तलाश।






क्राईम ब्रांच एवं थाना भेड़ाघाट की टीम को बुलेरो वाहन में 1500 पाव अंग्रेजी गोवा शराब कीमती लगभग 1 लाख 75 हजार रूपये की पकड़ने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है।


जबलपुर | कोरोना कर्फ्यू के दौरान शराब की भारी माँग के चलते शराब की तशकरी का कारोबार बढ़ता ही जा रहा है। भेड़ाघाट थाना प्रभारी सफीक खान ने बताया कि आज दि. 14-5-21 की रात्रि में क्राईम ब्रांच की टीम को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम पिण्डरई मोड़ वाईपास चौराहा के पास सफेद रंग की महिन्द्रा बुलेरो लोडिंग वाहन जिसका रजिस्टेरेशन नम्बर एमपी 20 जीबी 2086 है जिसमें पीछे की तरफ प्लास्टिक के खाली कैरेट भरे हुये लोड हैं, कैरेट के आगे की ओर शराब की पेटियां रखी हैं, सूचना पर क्राईम ब्रांच एवं थाना भेड़ाघाट पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गयी, जहाँ बताये हुये नम्बर की बुलेरो वाहन खड़ी हुई मिली वाहन में चालक, परिचालक नहीं मिले, बुलेरो वाहन से खाली कैरेट को निकालकर चैक करने पर 30 कार्टून अंग्रेजी गोवा शराब रखी हुई मिली, चैक करने पर प्रत्येक कार्टून पेटी में 50-50 पाव कुल 1500 पाव कीमती 1 लाख 75 हजार रूपये की अवैध अंग्रेजी गोवा शराब रखी पाई गई, उक्त शराब, शराब के  परिवहन में प्रयुक्त बुलेरो वाहन क्रमांक एमपी 20 जीबी 2086 एंव 30 खाली कैरेट जप्त करते हुये बुलेरो वाहन के चालक के विरूद्ध धारा 34(2) आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये आरोपी की तलाश पतासाजी जारी है रजिस्टेशन नम्बर के आधार पर उक्त बुलेरो वाहन अंशुमान कोरी पिता रामकिशोर कोरी निवासी 1359 कांचघर द्वारका नगर घमापुर के नाम पर रजिस्टर्ड होना पाई गयी है।

उल्लेखनीय भूमिका - अवैध शराब पकड़ने में क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक धनंजय सिंह, सहायक उप निरीक्षक विजय शुक्ला, प्रधान आरक्षक बृजेन्द्र कसाना, आरक्षक दीपक तिवारी, नितिन, मोहित तथा थाना भेड़ाघाट के सहायक उप निरीक्षक डालसिंह झारिया, प्रधान आरक्षक रविशंकर तिवारी की सराहनीय भूमिका रही।