कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम परिवार ने मालिक को वापस किया गुमा हुआ बैग, बैग मिलने पर मालिक ने ली राहत की साँस बैग में रखे थे कई अहम दस्तावेज - Jai Bharat Express

Breaking

कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम परिवार ने मालिक को वापस किया गुमा हुआ बैग, बैग मिलने पर मालिक ने ली राहत की साँस बैग में रखे थे कई अहम दस्तावेज

कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम परिवार ने मालिक को वापस किया गुमा बैग।

बैग में दो ओरिजिनल रजिस्ट्री, चार एटीएम कार्ड, एक लाख रुपये का चेक, फोर व्हीलर गाड़ी के ओरिजिनल कागजात,पैन कार्ड, 5-5 हजार के तीन स्टॉप पेपर एवं अन्य कागजात रखे मिले।


जबलपुर
|कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम परिवार ने मालिक को वापस किया गुमा हुआ बैग, बैग मिलने पर मालिक ने ली राहत की साँस बैग में रखे थे कई अहम दस्तावेज, कलेक्ट्रेट परिसर में कल देर शाम एक काले रंग का बैग कर्मचारियों को मिला बैग मिलने पर पहले तो संदेह और भय की स्थिति निर्मित हुई तत्पश्चात उसको खोलकर देखा तो समझ में  आया कि किसी व्यक्ति के अत्यन्त महत्वपूर्ण निजी और व्यावसायिक दस्तावेज रखे हैं । कर्मचारियों ने ईमानदारी का परिचय देते हुये बैग तुरन्त कलेक्ट्रेट स्थित कन्ट्रोल रूम में जमा किया, बैग में रखे दस्तावेज यदि किसी अन्य के हाथों में पड़ जाते तो बैग मालिक को नुकसान होता और कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ता, बैग में दो ओरिजिनल रजिस्ट्री, चार एटीएम कार्ड,  एक लाख रुपये का चेक, फोर व्हीलर गाड़ी के ओरिजिनल कागजात,पैन कार्ड, 5-5 हजार के तीन स्टॉप पेपर एवं अन्य कागजात रखे थे। कागजात चेक करने पर ग्राम सूरतलाई पनागर निवासी रज्जू यादव पिता छोटे लाल यादव के होने की पुष्टि हुई, जिसके आधार पर उनसे मोबाइल पर संपर्क करके बैग की जानकारी दी गई, आज शनिवार को रज्जू यादव ने कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम पहुंचकर अपने बैग को सही सलामत पाकर राहत की सांस ली उन्होंने गुमा बैग वापस करने पर कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम परिवार को  धन्यवाद भी दिया, बैग के मालिक का पता लगाने और उसे वापस दिलाने में कंट्रोल रूम में पदस्थ उमाशंकर अवस्थी, राकेश मून, दीपक अहिरवार अनिल मरावी एवं उमेश यादव की भूमिका सराहनीय रही।