फर्जी पत्रकारों की ब्लैकमेलर गैंग के 02 और आरोपी गिरफ्तार। - Jai Bharat Express

Breaking

फर्जी पत्रकारों की ब्लैकमेलर गैंग के 02 और आरोपी गिरफ्तार।

आरोपी कपिल दुबे | आशीष अग्रवाल
फर्जी पत्रकार गैंग ने तिलवारा स्थित होटल रायल आर्बिट के मैनेजर को धमकी देते हुए 05 लाख रुपए की मांग की थी।

जबलपुर| जबलपुर में फर्जी पत्रकारों की गैंग के 02 और आरोपी कपिल दुबे और आशीष अग्रवाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। तिलवारा पुलिस ने मामले में अब तक 04 को गिरफ्तार कर लिया है, 01 को पकडऩे के लिए पुलिस की टीमें लगातार संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है, इस गैंग ने तिलवारा स्थित होटल रायल आर्बिट के मैनेजर को धमकी देते हुए 05 लाख रुपए की मांग की थी। इधर ग्वारीघाट पुलिस ने भी अपने यहां पर दर्ज प्रकरण में तीन आरोपियों के और नाम बढ़ाए है।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार तिलवारा स्थित होटल रायल आर्बिट में हुई एक शादी समारोह में 16 लाख 37 हजार रुपए बिल होने पर फर्जी पत्रकारों की गैंग ने 8 लाख रुपए की रकम तो दिला दी, तीन लाख रुपए का चैक दे दिया जो बाउंस हो गया, मैनेजर ने जब चैक बाउंस होने की जानकारी देते हुए बिल के रुपयों की मांग की तो गैंग ने होटल पहुंचकर हंगामा शुरु कर दिया, यहां तक कि होटल को बदनाम करने की धमकी देते हुए 05 लाख रुपए की मांग शुरु कर दी, अपने आप को पत्रकार बताते हुए धमकी देने वाली इस गैंग के खिलाफ होटल मैनेजर ने तिलवारा थाना में शिकायत करते हुए हंगामा के सीसीटीवी फुटेज भी दिए. जिस पर पुलिस ने मामले में प्रकरण दर्ज कर लिया पुलिस ने मामले में पुलिस इस मामले में पुरानी बस्ती करमेता निवासी अमन चौबे उम्र 28 वर्ष, मेडिकल पंप हाउस तुलसीदास अवस्थी व कपिल दुबे निवासी गढ़ा को गिरफ्तार कर लिया था, जिन्होने पूछताछ में अपने एक और साथी आशीष अग्रवाल का नाम बताया, जिसपर पुलिस ने आशीष अग्रवाल को उसके श्रद्धा कालोनी साकेत नगर कोतवाली क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया है. मामले में एक और आरोपी संदीप तिवारी फरार है जिसे पकडऩे के लिए पुलिस संभावित ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है.


ग्वारीघाट पुलिस ने दर्ज हुए प्रकरण में ब्लैकमेलर गैंग के तीन और सदस्यों पर दर्ज किया प्रकरण-

ग्वारीघाट पुलिस ने ब्लैकमेलर गैंग के खिलाफ दर्ज प्रकरण में विकास सराफ, दीपक मिश्रा व अर्पित ठाकुर है. 30 जुलाई को ब्लैकमेलर गैंग के जेपीसिंह, विवेक मिश्रा व पंकज गुप्ता व तीन अन्य के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर किया था, पुलिस को रिमांड में पकड़े गए आरोपियों ने अपने साथियों के नामक बताए, इसके बाद पुलिस ने इन तीनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।


अब तक 8 प्रकरण दर्ज, 23 आरोपी, 13 गिरफ्तार, 10 फरार-


पुलिस ने अभी तक फर्जी पत्रकारों की ब्लैकमेलर गैंग के सदस्यों के खिलाफ 8 मामले दर्ज किए है, जिसमें 23 के खिलाफ प्रकरण दर्ज किए है. 13 को पुलिस की टीमों ने सरगर्मी से तलाश करते हुए बंदी बना लिया है, वहीं 10 को पकडऩे के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है. अभी तक फर्जी पत्रकारा गिरोह के सरगना संतोष जैन, पंकज गुप्ता, विवेक मिश्रा, जेपी सिंह, अंकित श्रीवास्तव, बादल पटेल, दिलीप थोरात उर्फ बबला, प्रेमसिंह लोधी, कोमल पटेल, अमन चौबे, तुलसीदास अवस्थी, आशीष अग्रवाल व कपिल दुबे को गिरफ्तार किया है. वहीं अर्पित ठाकुर, शैलेंद्र गौतम, उसकी बहन मोना उर्फ भारती गौतम, मां चंद्रवती, रवि बेन, गौरव सोनी, देवेन्द्र यादव, विकास सराफ व दीपक मिश्रा, संदीप तिवारी फरार चल रहे हैं।