हिस्ट्री शीटर अब्दुल रज्जाक के टॉप 20 संपर्कों की बन रही सूची - Jai Bharat Express

Breaking

हिस्ट्री शीटर अब्दुल रज्जाक के टॉप 20 संपर्कों की बन रही सूची


अमित और मुंशी शरीफ के नाम से खरीदी गई संपत्ति की होगी जाँच।

होटल मैनेजर से मुंशी बनकर मोहम्मद शरीफ उर्फ टकला अब्दुल रज्जाक की सरपरस्ती में आते ही करोड़ों का बना मालिक।

हबीबगंज भोपाल में खरीदी 0.204 हैक्टर भूमि पुलिस के पास भोपाल में क्रय की गई संपत्ति के साथ की अन्य समपत्ति के मिले दस्तावेज। 


जबलपुर |पुलिस के शिकंजे में फंसे अब्दुल रज्जाक और उसके साथियों से सम्बंधित जाँच में आये दिन नए नए तथ्य सामने आ रहे है। जाँच दल के संज्ञान में यह मामला भी आया कि है की अब्दुल रज्जाक के पैसे से भोपाल में रज्जाक कंपनी के साथी अमित खम्परिया और उसके मुंशी मोहम्मद शरीफ के नाम पर करोड़ों रुपए का निवेश किया है। होटल मैनेजर से मुंशी बनकर मोहम्मद शरीफ उर्फ टकला अब्दुल रज्जाक की सरपरस्ती में आते हो करोड़ों का मालिक कैसे बन गया इस बात को जाँच में शामिल किया गया है। अमित व शरीफ ने 10 करोड़ की संपत्ति 2015 में महज 3.30 करोड़ रुपए में खरीद ली। जाँच टीम इस बात की भी जाँच कर रही है । पुलिस जाँच दल को यह सूचना भी मिली है रेत के धंधे में हुई काली कमाई को मुंशी शरीफ उर्फ टकला ने अमित खम्परिया के साथ मिलकर भोपाल सहित कई जगह प्रॉपर्टी में लगाई है। हालांकि पुलिस द्वारा गठित एसआईटी संपत्ति से संबंधित सभी बिंदुओं पर जाँच कर रही है।

हबीबगंज भोपाल में खरीदी 0.204 हैक्टर भूमि पुलिस के पास भोपाल में क्रय की गई संपत्ति के साथ की अन्य समपत्ति के दस्तावेज भी पहुँचे हैं।

सूत्रों के मुताबिक बताया जाता है कि हबीबगंज नाका अंडर ब्रिज के समीप स्थित खसरा क्रमांक 8/1/1/1 में दर्ज कुल रकबा 0.204 लगभग 22 हजार 500 वर्ग फिट भूमि 13 जुलाई 2015 में अमित कुमार खम्परिया पिता अनिरूद्ध प्रसाद निवासी मकान नंबर 702 अग्रवाल कालोनी और  मोहम्मद शरीफ उर्फ टकला पिता स्व, मोहम्मद हनीफ निवासी 260 नया मोहल्ला ने जिन्सी जहांगीराबाद भोपाल निवासी जलाल उद्दीन पिता स्व. अमीन उद्दीन से खरीदी थी। उक्त भूमि का वर्ष 2015 में बाजार मूल्य करीब 10 करोड़ था जिसे महज 3 करोड़ 30 लाख में खरीदा गया जिसकी स्टाम्प ड्यूटी 71 लाख 25 हजार 300 रूपये भी चुकाई गई थी।


सूत्रों के अनुसार वर्ष 2004-05 में नया मोहल्ला निवासी मोहम्मद शरीफ उर्फ टकला इन्कम टैक्स चौराहे स्थित होटल ब्लूमून में मैंनेजर के पद पर पदस्थ था जिसके बाद वह 2007-08 में रज्जाक के संपर्क में आ गया और उसका मुंशी बन गया। मुंशी बनने के बाद शरीफ रज्जाक की संचालित होने वाली माइंस, रेत और खदानों का काम संभालने लगा था जिसको लेकर रज्जाक ने मुंशी शरीफ को भोपाल स्थित अप्सरा अपार्टमेंट में फ्लैट भी दिलाए जहां से पूरा कारोबार संचालित किया जाता था।

फरार आरोपियों की कुर्क करने की कार्रवाई शुरू

वहीं कोर्ट परिसर में अफरा-तफरी एवं भय का वातावरण निर्मित करने वाले 13 आरोपी अब भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। फरार आरोपियों पर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने 5-5 हजार का ईनाम घोषित किया है। फरार आरोपियों को जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर उनकी संपत्तियों को कुर्क करने की कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है।


इनका कहना है


सम्पत्ति से संबंधित बिंदुओं पर संज्ञान लिया जा रहा है, इन विषयों पर भी जाँच की जायेगी। रोहित काशवानी, आईपीएस, प्रभारी, एसआईटी