जबलपुर सटोरियों से दोस्ती निभाने पर क्राइम ब्रांच के 6 पुलिस कर्मचारी सस्पेंड सटोरिए के साथ संलिप्तता आई सामने - Jai Bharat Express

Breaking

जबलपुर सटोरियों से दोस्ती निभाने पर क्राइम ब्रांच के 6 पुलिस कर्मचारी सस्पेंड सटोरिए के साथ संलिप्तता आई सामने

जबलपुर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा


जबलपुर सटोरियों से दोस्ती निभाने पर क्राइम ब्रांच के 6 पुलिस कर्मचारी सस्पेंड, एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने उठाया सख्त कदम।


78 मामलों के आरोपी सूरज पटेल से याराना निभाने वाले 6 पुलिस कर्मचारी सस्पेंड


एएसआई राजेश शुक्ला, रमाकांत मिश्रा, विजय शुक्ला, प्रधान आरक्षक ज्ञानेंद्र पाठक, आनंद तिवारी, अजय यादव, को निलंबित कर दिया है।



विधायक विनय सक्सेना ने उठाया था विधानसभा में सवाल।

जबलपुर| पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने क्राइम ब्रांच में पदस्थ तीन एएसआई सहित छह पुलिस कर्मियों को आज निलंबित कर दिया। इन पुलिस कर्मियों पर पिछले दिनों 8 अक्टूबर को मदनमहल क्षेत्र में पकड़े गए शातिर सटोरिए सूरज पटेल जिस पर पूर्व से 78 मामले दर्ज हैं। के साथ सांठगांठ कर सट्टे का कारोबार संचालित करने के प्रमाण मिले थे, जांच में क्राइम ब्रांच के इन लोगों की संलिप्तता सामने आई है। 78 मामलों का आरोपी आरोपी सूरज पटेल अपनी पत्नी के साथ सट्टा पट्टी लिखते हुए पकड़ा गया था। बड़े पैमाने पर लिखा पढ़ी के साथ उसके पास से जब्त मोबाइल में इन पुलिस कर्मियों की बातचीत की पूरी रिकॉर्डिंग मिली थी। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने मामले की जांच एसपी सिटी नार्थ संजय अग्रवाल को सौंपी है।


पुलिस लाइन से भेजा था छापे के लिए बल


78 मामलों के आरोपी  सूरज पटेल से याराना निभाने वाले एएसआई राजेश शुक्ला, रमाकांत मिश्रा, विजय शुक्ला और प्रधान आरक्षक ज्ञानेंद्र पाठक, आनंद तिवारी और अजय यादव को निलंबित कर दिया है। सभी को लाइन अटैच किया गया है। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर बदमाश सूरज पटेल के यहां लाइन से बल भेजकर रेड कराई गई थी।छापे के दौरान पुलिस ने आरोपी सहित उसकी पत्नी फातिमा और 6 अन्य सट्‌टा लिखने वालों को पकड़ा था। आरोपी सूरज के जब्त मोबाइल की रिकॉर्डिंग में इन 6 पुलिस कर्मियों की बातचीत रिकॉर्ड मिलने पर ये कार्रवाई की गई है।


 


20 अन्य कर्मियों को ट्रैफिक भेजा


क्राइम ब्रांच में लंबे समय से पदस्थ और संख्या से अधिक होने का मामला विधायक विनय सक्सेना ने विधानसभा में भी उठाया था। और इसकी कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए थे, जिसके बाद से ही क्राइम ब्रांच थाने में संख्या से अधिक बल और आयोजन उन पर लग रहे वसूली एवं अपराधियों को संरक्षण देने के आरोपों के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने शक्ति दिखाते हुए 20 कर्मियों को ट्रैफिक थाना मालवीय चौक ट्रांसफर किया है। एसपी बहुगुणा के अनुसार यह प्रशासनिक दृष्टि से लिया गया निर्णय है। वर्तमान समय की आवश्यकता को देखते हुए यातायात व्यवस्था के अनुरूप यह निर्णय लिया है


यह देंगे अब ट्रैफिक थाना मैं ड्यूटी


एएसआई राजेंद्र बिलोहा, प्रधान आरक्षक मतुकेश पाटकर, दीपक तिवारी, सुग्रीव तिवारी, सत्यसेन यादव, अमीरचंद, अजय जैन, रूस्तम अली, अमित दुबे, अजय सोनकर, संतोष सिंह, आरक्षक रोहित द्विवेदी, रिव सागर, अनिल शर्मा, बलजीत, जितेंद्र दुबे, महेश कहार, बीरबल, शैलेंद्र कौरव व खुमान सिंह शामिल हैं।