पुलिस स्मृति दिवस पर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि। - Jai Bharat Express

Breaking

पुलिस स्मृति दिवस पर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि।


6वीं प्रशिक्षण वाहिनी वि.स. बल जबलपुर में आज दिनॉक 21-10-21 को शहीद वीर पुलिस कर्मियों की स्मृति में पुलिस शहीद स्मृति दिवस कार्यक्रम आयोजित।



जबलपुर | गुरूवार को शहीदों की याद में पुलिस स्मृति दिवस का आयोजन 6वीं प्रशिक्षण वाहिनी वि.स. बल जबलपुर में आयोजन किया गया। इस दौरान शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई और उन्हें नमन किया गया। इस मौके पर पुलिस अफसरों ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें याद किया 21 अक्टूबर 1959 को पूर्वी लद्दाख के हॉट स्प्रिंग में देश की सुरक्षा की प्रथम पंक्ति तैनात केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सी.आर.पी.एफ.) के एक छोटे से गस्तीदल पर चीनी सेना द्वारा भारी संख्या में घात लगाकर हमला किया गया था। इस लड़ाई में सामना करते हुये 10 केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सी.आर.पी.एफ.) के जांबाज सैनिकों ने आटोमेटिक वेपन से लेस चीनी सेना का सामना करते हुये अपने प्राणों की आहुती दी थी। देश के इतिहास में यह पहला मौका था जब सीमा पर सेना नही, पुलिस के जवान शहीद हुये थे।







माह जनवरी 1960 में दिल्ली में पुलिस महानिरीक्षकों के सम्मेलन में यह निर्णय लिया गया कि, इन शहीद वीर पुलिस कर्मियों की स्मृति में प्रतिवर्ष 21 अक्टूवर को ‘‘पुलिस शहीद स्मृति दिवस’’ के रूप में मनाया जाये तभी से आज के दिन उन वीर पुलिस कर्मियों का स्मरण करते हुये श्रृध्दा भाव से श्रद्वांजली अर्पित करतें है। जिन्होंने देश की अखण्डता व एकता की रक्षा करनें में अपने प्राणों की आहुती दी है, तथा देश प्रेम त्याग और बलिदान की सर्वोच्च परंपरा स्थापित की है।6वीं प्रशिक्षण वाहिनी वि.स. बल जबलपुर में आज दिनॉक 21-10-21 को शहीद वीर पुलिस कर्मियों की स्मृति में ‘‘ पुलिस शहीद स्मृति दिवस’’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर उमेश जोगा (भा.पु.से.) के 6वीं वाहिनी पहुंचने पर जिला पुलिस बल, जी.आर.पी. एस.ए.एफ. के प्लाटूनों ने सलामी दी।

मुख्य अतिथि पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर  उमेश जोगा (भा.पु.से.), द्वारा दिनांक 01.09.2020 से 31.08.2021 तक कर्तव्य की वेदी पर पूरे देश की सिविल पुलिस एवं पैरा मेलिट्री फोर्स के 377 एवं प्रदेश के 15 अधिकारी/कर्मचारी 01. स्व0 उनि  चन्दनलाल उईके 02. स्व0 सउनि (अ) शरद अग्रवाल 03. स्व0 सउनि  राजेन्द्र वर्मा 04. स्व0 सउनि  रमेष मेहरा, 05 स्व0 सउनि (एसएएफ) श्याम लाल डेहरिया 06. स्व0 प्रआर0  रामप्रकाष, 07 स्व0 प्रआर0  सत्येन्द्र अग्निहोत्री  08. स्व0 प्रआर0 कलू तिवारी, 09 स्व0 प्रआर0  दिनेष चन्द्र शर्मा, 10 स्व0 प्रआर0 भरतलाल चौहान, 11 स्व0 सउनि  गोवर्धन सोलंकी, 12 स्व0 आर0 दीपक राजूरकर, 13 स्व0 आर0 राजकुमार यादव, 14 स्व0 आर0 सुरेष मुडिया 15 स्व0 आर0 राजेष कुमार राजपूत ने अपने प्राणों की आहुती दी है के नामों का वाचन करते हुये, सम्मान सूची शहीद स्मारक पर रखी गयी, पश्चात परेड द्वारा शहीदों को श्रद्धांजली दी गयी।

पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर उमेश जोगा (भा.पु.से.), कमाण्डेंट 6वीं वाहिनी वि.स. बल रूडोल्फ अल्वरेस (भा.पु.से.),  पुलिस अधीक्षक जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा  (भा.पु.से.),  पुलिस अधीक्षक रेल विनायक वर्मा (भा.पु.से.),  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) रोहित काशवानी (भा.पु.से.),  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर दक्षिण/अपराध)  गोपाल प्रसाद खाण्डेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर/यातायात संजय कुमार अग्रवाल, ए.आई.जी. पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय जबलपुर जोन जबलपुर ऋषि सरोठिया, ए.आई.जी  रामसुहावन रावत, उप सेनानी एस.एस. शुक्ला, श्री जगन्नाथ सिंह मरकाम, एस.डी.ओ.पी. सिहोरा  श्रुतकीर्ति सोमवंशी (भा.पु.से.), द्वारा पुष्पचक्र अर्पित करते हुये शहीदों को श्रद्धांजली दी गयी। पुलिस शहीद स्मृति दिवस कार्यक्रम में 246 अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे जिनके द्वारा भी अमर जवान पर श्रद्धा सुमन अर्पित किय गये।

 

पूर्व इतिहास -  सरकारी रिकार्ड के अनुसार 1959 में सी.आर.पी.एफ. के 15 जवान पूर्वी लद्दाख के हाॅट स्प्रिंग के पास गस्त कर रहे थे, चांग चिनमों घाटी में चीनी सेना जो कि आटोमेटिक वेपन से लेस थी ने घात लगाकर सी.आ.पी.एफ. की टुकड़ी पर हमला कर दिया, जिससे 10 जवान मौके पर ही शहीद हो गये थे वहीं बोल्ट एक्सन 303 रायफल से लेस सी.आर.पी.एफ. के जवानों ने 3 चीनी सैनिकों केा मार गिराया था। बेवजह चीनी सेना के हिंसक होने से  सीमा पर तेजी से समीकरण बदलने लगे, जिसके चलते सीमा पर सेना व आई.टी.बी.पी. को तैनात किया गया है।