हनुमानताल के सौंदर्यीकरण में कई वर्षों से बाधक बने निर्माण हटाये गये देखिए - Jai Bharat Express

Breaking

हनुमानताल के सौंदर्यीकरण में कई वर्षों से बाधक बने निर्माण हटाये गये देखिए

जिला प्रशासन की कार्यवाही हनुमानताल के सौंदर्यीकरण में बाधक कई निर्माण हटाये गये


जबलपुर |हनुमानताल के सौंदर्यीकरण में कई वर्षों से बाधक बने निर्माणों को आज हटा दिया गया, हर पचास मीटर की दूरी पर बने मंदिर मस्जिद को आज प्रशासन की मदत से हटाया दिया गया है।हनुमानताल की साफ-सफाई एवं सौंदर्यीकरण के प्रयासों के तहत कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी के निर्देशानुसार आज जिला प्रशासन, नगर निगम एवं पुलिस द्वारा संयुक्त कार्यवाही कर तालाब के सौंदर्यीकरण में बाधक कई स्थाई और अस्थाई निर्माणों को ढहा दिया गया। कार्यवाही के दौरान मुस्लिम समाज की सहमति से जहां सड़क के बीच में बनी मजार के शेष बचे हिस्से को हटाने की कार्यवाही की गई, तो वहीं तालाब किनारे स्थित हनुमान मंदिर में से हनुमान जी की प्रतिमा को पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर समीप के अन्य मंदिर में शिफ्ट कर शेष निर्माण गिरा दिया गया।



एसडीएम आधारताल के नेतृत्व में की गई इस कार्यवाही में मजार के शेष हिस्से को हटाने के पहले खुद एसडीएम और सीएसपी अखिलेश गौर ने फातिहा पढ़ा। हनुमानताल के सौंदर्यीकरण में बाधक बने निर्माणों को हटाने आज की गई कार्यवाही के दौरान सराफाघाट स्थित शिव मंदिर एवं गणेश मंदिर को भी शिफ्ट कर दिया गया है। इसी प्रकार तालाब के किनारे स्थित एक और शिव मंदिर के परिक्रमा पथ को अतिक्रमणों से मुक्त कराया गया है।



एसडीएम अधारताल नम: शिवाय अरजरिया ने बताया कि कार्यवाही के दौरान तालाब के किनारे मालपाणी निवास के सड़क पर तथा नाली को ढंककर किये गये तीन गुना तीस के अतिरिक्त निर्माण एवं उसके बगल वाले निवास में तीन गुना बीस के अतिरिक्त निर्माण को भी जेसीबी मशीनों से ध्वस्त कर दिया गया है। इसी प्रकार बखरी के सामने गोपाललाल जी मंदिर से लगकर अवैध रूप से बना लिये गये शौचालय को भी जमींदोज कर दिया गया। इस शौचालय से निकलने वाला गंदा पानी तालाब में मिल रहा था। कार्यवाही के दौरान विद्युत विभाग द्वारा बिजली के पैनल के लिए अवैध तौर पर बना लिये गये कक्ष को भी गिरा दिया गया।


 

हनुमानताल के सौंदर्यीकरण में बाधक निर्माणों को हटाने की इस कार्यवाही के दौरान एसडीएम आधारताल नम:शिवाय अरजरिया के साथ सीएसपी गोहलपुर अखिलेश गौर, तहसीलदार राजेश सिंह, थाना प्रभारी उमेश गोल्हानी तथा नगर निगम के अतिक्रमण दस्ता का अमला भी मौजूद था।