थाना प्रभारी के खिलाफ महिला थाने में दुराचार दैहिक शोषण और धमकी देने का प्रकरण दर्ज देखें Video में आरक्षक महिला का गोल - मोल जवाब - Jai Bharat Express

Breaking

थाना प्रभारी के खिलाफ महिला थाने में दुराचार दैहिक शोषण और धमकी देने का प्रकरण दर्ज देखें Video में आरक्षक महिला का गोल - मोल जवाब




थाना प्रभारी संदीप अयाची के खिलाफ महिला थाने में दुराचार दैहिक शोषण और धमकी देने का प्रकरण दर्ज किया गया है।


जबलपुर| कटनी जिले में पदस्थ थाना प्रभारी संदीप अयाची के खिलाफ बुधवार को महिला थाने में दुराचार दैहिक शोषण और धमकी देने का प्रकरण दर्ज किया गया है,25 वर्षीय महिला आरक्षक की रिपोर्ट पर यह कार्रवाई की गई है, महिला आरक्षक के अनुसार शादी का झांसा देकर थाना प्रभारी संदीप अयाची ने उसका शारिरिक शोषण किया,महिला थाना पुलिस ने बताया कि संदीप अचायी वर्ष 2018 में जबलपुर के गोरखपुर थाने में पदस्थ थे। पुलिस लाइंस में पदस्थ नव महिला आरक्षक को ड्यूटी के लिए जुलाई 2018 को गोरखपुर थाने भेजा गया था, जहां उसकी जान पहचान थाना प्रभारी अयाची से हो गई।


इसके बाद अचायी का तबादला पनागर थाने कर दिया गया, महिला आरक्षक की अक्टूबर 2018 में पनागर में ड्यूटी लगी। महिला आरक्षक का आरोप है कि टीआई अयाची उसे सोनिया पैलेस होटल में ले गए। जहां शादी का झांसा देकर उससे बलात्कार किया।


पहले शिकायत की, फिर वापस ली, और अब फिर करा दी FIR 


जनवरी 2022 के अंतिम सप्ताह में यह मामला सबसे पहले सामने आया था, महिला आरक्षक ने SP को फोन लगाकर टीआई संदीप अयाची की शिकायत की थी। फिर स्वयं एक शपथ पत्र प्रस्तुत किया, और अपनी शिकायत वापस ले ली, शपथ पत्र में महिला आरक्षक ने बताया कि उसकी सोचने समझने की क्षमता खत्म हो गई थी। उसने जो भी शिकायत की है सब गलत है। इसके बाद कुछ समय तक मामला शांत रहा और अब अगस्त 2022 में उसी महिला आरक्षक की शिकायत पर महिला थाने में दुराचार, अभद्रता करने और धमकी देने का मामला दर्ज कराया है।


महिला ने थाने में किया हंगामा ,तो मना लिया था अयाची ने


25 वर्षीय महिला आरक्षक ने जब कोतवाली थाने में शिकायत के साथ हंगामा किया था, उस वक्त संदीप अचायी कटनी में बरही थाना प्रभारी के पद पर पदस्थ थे जब थाना प्रभारी ने शादी नहीं की तो , तो महिला आरक्षक जनवरी में कोतवाली थाने में अयाची के खिलाफ शिकायत की,पर उसे बातों के जाल में फंसाया और मांग में सिंदूर भर दिया। इससे मामला शांत हो गया। लेकिन टीआई ने फिर उससे दूरियां बनानी शुरू कर दी थी।