फफक-फफक के रोया पुलिस वाला बोला 12-12 घंटे काम कराती है सरकार और रोटी देती है यैसी, जिसे कुत्ता भी नहीं खाता देखें Virel Video - Jai Bharat Express

Breaking

फफक-फफक के रोया पुलिस वाला बोला 12-12 घंटे काम कराती है सरकार और रोटी देती है यैसी, जिसे कुत्ता भी नहीं खाता देखें Virel Video

सरकार हमसे 12-12 घंटे काम कराती है और बदले में ऐसा खाना देती है।फिरोजाबाद मुख्यालय में तैनात पुलिस के सिपाही मनोज कुमार ने रो रो कर सुनाई अपनी व्यथा।






उत्तर प्रदेश |फिरोजाबाद में पुलिस लाइन के सामने हाईवे पर भोजन की थाली हाथ में लिए एक सिपाही ने बुधवार को जमकर हंगामा किया, सिपाही मेस के खाने की गुणवत्ता पर सवाल उठाते हुए फूट-फूटकर रोया, उसने कहा कि वह दो दिन से भूखा है, लेकिन कोई अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है। इसकी जानकारी प्रतिसार निरीक्षक को हुई तो तत्काल फोर्स भेजकर सिपाही को पुलिस लाइन लाया गया। एसएसपी ने मामले की जांच सीओ लाइन हीरालाल कन्नौजिया को सौंपी है।



 

बुधवार को दोपहर का जिला मुख्यालय के बाहर हाईवे पर एक सिपाही हाथ में भोजन की थाली लेकर पहुंचा। सिपाही हाईवे के डिवाइडर पर बैठकर थाली से रोटी उठाकर उसकी गुणवत्ता पर सवाल उठाने लगा। लोगों को रोटी दिखाते हुए सिपाही ने कहा कि इस रोटी को जानवर भी नहीं खा सकते हैं। ऐसी रोटी हमें परोसी जा रही है। जब भरपेट खाना ही नहीं मिलेगा तो कैसे ड्यूटी होगी। इस दौरान वहां मौजूद किसी शख्स ने इसका वीडियो बना लिया।

 

सिपाही के पास जब मुख्यालय चौकी के उप निरीक्षक के साथ अन्य सिपाही पहुंचे तो उनके सामने भी रो-रोकर गुणवत्ता पर सवाल उठाने लगा, सिपाही ने कहा कि वह घर से काफी दूर रहता है, उसे भूख लगी है लेकिन ऐसी रोटी कैसे खाए,


इस संबंध में पुलिस लाइन के निरीक्षक देवेंद्र सिंह सिकरवार ने बताया कि पुलिस कार्यालय के सम्मन सेल में तैनात सिपाही मनोज कुमार का पत्नी से विवाद चल रहा है। इसके कारण वह परेशान रहता है।


बुधवार को मेस में खानावह लेने गया तो कतार लगी थी। मेस कमांडर ने नंबर से खाना लेने की बात कही इसी बात को लेकर वह गाली-गलौज करने लगा। उसने खाना तो ले लिया लेकिन खाने के बजाय बाहर पहुंच गया।एसपी ग्रामीण अखिलेश नारायन सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में है। इसकी जांच एसएसपी ने सीओ लाइन हीरालाल कनौजिया को सौंपी है। जांच की जा रही है कि खाना सभी को ऐसा मिल रहा है या केवल मनोज की शिकायत है।