ममता पर नड्डा का हमला, हिंदू विरोधी होने का लगाया आरोप - Jai Bharat Express

Breaking

ममता पर नड्डा का हमला, हिंदू विरोधी होने का लगाया आरोप

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर गुरुवार को जमकर हमला बोला।
उन्होंने ममता बनर्जी पर हिंदू विरोधी मानसिकता के साथ काम करने का आरोप लगाया। कहा कि वह बकरीद के दिन लॉकडाउन हटा लेतीं हैं, जबकि राम मंदिर के शिलान्यास के दिन 5 अगस्त को लॉकडाउन लगा देतीं हैं।
नड्डा ने पश्चिम बंगाल प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में कहा, 5 अगस्त को राम मंदिर का भूमि पूजन हुआ। लेकिन दुख के साथ कहना पड़ता है कि उसी दिन ममता दीदी ने पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन लगा दिया। करोड़ों लोगों की इच्छाओं को कुचलने का काम किया। ये अलग बात है कि 31 जुलाई को बकरीद में लॉकडाउन हटा लिया गया था।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि ये सरासर वोटबैंक और तुष्टीकरण की राजनीति है। पश्चिम बंगाल में एंटी हिंदू माइंडसेट खड़ा किया जा रहा है। नड्डा ने पश्चिम बंगाल प्रदेश कार्यसमिति के सदस्यों से ममता बनर्जी की तुष्टीकरण और वोटबैंक की राजनीति को जनता के सामने बेनकाब करने के लिए कहा।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, बीते दिनों स्वच्छ भारत मिशन की रैंकिंग में जो सबसे दूषित शहरों के नाम आए उसमें 8 बंगाल के हैं। ममता दीदी हर बात में कहती हैं कि ये काम नहीं हो सकता। मैं कहता हूं कि बंगाल में विकास के लिए सब कुछ होगा।
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने पश्चिम बंगाल के आगामी विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस की सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील की है।
उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल में कमल खिलकर रहेगा। टीएमसी को बीजेपी हराएगी। जनता कमल को आशीर्वाद देने के लिए तैयार है। पश्चिम बंगाल की तस्वीर और तकदीर दोनों बदलेगी। पश्चिम बंगाल प्रदेश कार्यसमिति की गुरुवार की बैठक को संबोधित करते हुए नड्डा ने सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस सरकार पर हिंसा करने का आरोप लगाया। नड्डा ने कहा, पश्चिम बंगाल में 100 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ता मारे गए हैं। हमने उनका तर्पण किया है। ये जंगल राज नहीं तो क्या है? लेकिन दिल्ली में बैठे डेमोक्रेसी के चैंपियंस की इस पर आवाज तक नहीं निकलती।
बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पश्चिम बंगाल में पार्टी के बढ़ते जनाधार को आंकड़ों के जरिए बताया। उन्होंने कहा, 2011 में हमारे पास पश्चिम बंगाल में दो प्रतिशत वोट शेयर और चार सीटें थीं। वहीं 2014 में हमने 18 प्रतिशत वोट शेयर और दो सीटें हासिल कीं। वहीं 2019 में हमने 40 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया।

नड्डा ने कार्यकतार्ओं से इसी गति से प्रयास जारी रखने को कहा। उन्होंने कहा, आने वाले चुनाव में टीएमसी को हराएंगे। विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को उखाड़ फेंकना है। पश्चिम बंगाल की जनता कमल को आशीर्वाद देने के लिए तैयार है। ममता के कार्यकर्ता जब राशन चोरी में लगे हुए थे, तब भाजपा के कार्यकर्ता राशन पहुंचा रहे थे।