चिटफंड कम्पनी के संचालक सहित 5 कर्मचारी पुलिस गिरफ्त में - Jai Bharat Express

Breaking

चिटफंड कम्पनी के संचालक सहित 5 कर्मचारी पुलिस गिरफ्त में

 👉 चिटफंड कम्पनी के संचालक सहित 5 कर्मचारी पुलिस गिरफ्त में


 

👉 बिना सक्षम आदेश के बैंक संचालित करते हुये ग्राहकों को लोन देकर एवं लोन लौटाने के नाम पर पैनाल्टी लगाकर तथा  निवेशकों से आर.डी. एफ.डी. बचत के रूप में पैसे जमा कराकर कर रहे थे धोखाधड़ी 


जबलपुर | थाना संजीवनीनगर में दिनांक 21-1-21 की देर रात्रि श्रीमती अंजना गुप्ता उम्र 55 वर्ष निवासी भूकम्प कालोनी परसवाड़ा ने लिखित शिकायत की कि लगभग ढाई वर्ष पूर्व उसे जानकारी मिली कि गंगानगर सदानंद सोसायटी में एक स्ट्रीम लाईन बैंक है जहां ग्राहकों को लोन देने और निवेशकों से पैसे आर.डी. और एफ.डी. के रूप में जमा करवाने का काम होता है तो वह बैंक गयी जहां उसे मैनेजिंग डायरेक्टर गणेश सिंह, गणेश सिंह के कर्मचारी अनिकेत श्रीवास्तव, सूरज, गायत्री ,प्रीति, ममता मिले जिन्होने बताया कि उनका स्ट्रीम लाईन नवनिधि लिमिटेड नाम से बैंक है जहां ग्राहकों को लोन देने एवं निवेशकों से पैसे डिपाजिट करने का काम होता है गणेश सिंह ने उसे बताया कि आप हमारी बैंक में एम्पलाई के रूप में काम करो और ग्राहकों एवं निवेशकों को बैंक से जोड़ो , गणेश सिंह ने उससे कहा कि सैलरी के रूप में एक निवेशक से एकाउण्ट में डिपाजिट कराने पर एवं ग्राहक को 8 हजार रूपये के लोन पर प्रत्येक किश्त पर 68 रूपये देने का कहा, उसने कई निवेशकों से बैंक में पैसा, आर.ड़ी. एफ.डी. या बचत के रूप में निवेश करवाया था और कई लोगों को लोन दिलवाया जिसमें लोन के समय बैंक द्वारा अतिरिक्त पैसें आर.डी. डिपाजिट के रूप में लिये जाते थे जिन लोगों का आर.डी. डिपाजिट उसके माध्यम से हुआ उनमें सुनीता विश्वकर्मा, आरती, सुशीला, ज्योति, रूकमणि, ज्येति नामदेव, रेखा सोनी, मीना चांदवानी से आर.डी. के रूप में जमा करवा कर इन लोगों का बैंक में खाता खुलवाया था एंव कई लोगों को 8 से 10 हजार रूपये का लोन दिलवाया था,  बैंक द्वारा यश बैंक के चैक के माध्यम से लोन दिया जाता है जिसकी 40 किश्त 280 रूपये सप्ताह के हिसाब से बैंक ने ली है और 50 रूपये अतिरिक्त प्रति किश्त लोन खत्म होने पर लौटाने के नाम पर लेते हैं , उसने अपनेे बेटे आकाश गुप्ता के नाम पर 1 हजार रूपये जमा करवाया, जब उसने अपने बेटे के नाम पर जमा पैसे वापस लेना चाहा तो गणेश सिंह  और गणेश सिंह के कर्मचारी अनिकेत, गायत्री सूरज, प्रीति, ममता ने उसके पैसे देने से मना कर दिया जबकि इन लोगों ने आर.डी. पर 10 से 12 प्रतिशत चक्रव्रति ब्याज दर पर पैसा वापस देने का वादा किया था एवं जिन लोगों को उसने लोन दिलवाया है उनसे भी बहुत दर पर किश्त बनाकर अतिरिक्त पैसा लिया गया है, तथा जिन निवेशकों ने एफ.डी.आर.डी. एवं बचत के रूप में बैंक में पैसा डिपाजिट कराया है, बैंक ने उन्हें भी पैसे नहीं लौटाया है, गणेश सिंह ने ढाई वर्ष से उसे न तो अपाइंटमेंट लेटर दिया न ही किसी तरह की सैलरी दी और जिन ग्राहकों के द्वारा किश्त देने में देरी हो जाती है तो उनसे 50 रूपये प्रतिदिन के हिसाब से पैनाल्टी ली जाती है जिससे निवेशक बहुत परेशान हैं जिन निवेशकों ने एफडी और आरडी के रूप में एवं बचत के रूप में पैसा जमा करवाया है उनका भी स्ट्रीम लाईन बैंक पैसे नहीं लौटा रही है न ही बैंक से उन्हें कोई दस्तावेज दिये गये हैं,। स्ट्रीम लाईन बैंक के द्वारा निवेशकों एवं ग्राहकों से लोन देने से पहले सिक्योरिटी के नाम पर ब्लैेंक चैक जमा करा लिया जाता है उससे भी  उसके नाम के देना बैंक के 2 चैक लिये गये हैं , स्ट्रीम लाईन नवनिधि लिमिटेड कम्पनी द्वारा ग्राहकों से लोन दिलवाने के नाम पर एवं रिकवरी के रूप में पैनाल्टी लगा कर अतिरिक्त पैसा लेकर तथा निवेशकों से आर.डी., एफ.डी. और बचत के रूप में पैसे जमा करने के बाद निवेशकों को पैसे न लौटा कर धोखाधड़ी की गयी है।

              शिकायत जांच पर गणेश सिंह के द्वारा गंगानगर सदानंद सोसायटी में स्ट्रीम लाईन नवनिधि के नाम से बैंक का संचालन करना, एवं गणेश सिंह के पास उक्त बैंकिग कार्य के संबंध में  कोई सक्षम आदेश नहीं होना तथा स्ट्रीम लाईन कम्पनी द्वारा ग्राहकों को लोन देकर , लोन लौटाने के नाम पर पैनाल्टी लगाकर अतिरिक्त पैसे लेकर एवं निवेशकों से आर.डी. एफ.डी. बचत के रूप में पैसे जमा कराकर पैसे न लौटाकर अवैध लाभ अर्जित करते हुये धोखाधड़ी करना पाया जाने पर गणेश सिंह एवं कर्मचारी अनिकेत श्रीवास्तव, सूरज, गायत्री , प्रीति, ममता के विरूद्ध धारा 420, 406 भादवि एवं 3(1), 4, 6(1)  म.प्र.निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

              पुलिस के द्वारा स्ट्रीम लाईन नवनिधि बैंक के संचालक गणेश सिंह उम्र 47 वर्ष निवासी गंगा नगर गढ़ा जो कि घर पर ही स्ट्रीम लाईन नवनिधि बैंक का संचालन कर रहा था को एवं कर्मचारी अनिकेत श्रीवास्तव उम्र 30 वर्ष निवासी साई सुबह परिसर संजीवनी नगर, सूरज सोंधिया उम्र 31 वर्ष निवासी सुदामा नगर मदनमहल, श्रीमति गायत्री चंदेल उम्र 29 वर्ष निवासी चंदन कालोनी गंगा नगर, श्रीमति प्रीति पुरोहित उम्र 37 वर्ष निवासी शिव नगर थाना विजय नगर को अभिरक्षा में लेते हुये दस्तावेज जप्त करते हुये ममता ठाकुर की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।

 उल्लेखनीय भूमिका - आरोपियों की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी संजीवनी नगर भूमेश्वरी चौहान, सहायक उप निरीक्षक राजेन्द्र जोशी, आरक्षक छत्रपाल, राजेश मिश्रा की सराहनीय भूमिका रही।