रेस्टोरेंट में आगजनी करने वाला पकड़ा गया आरोपी सतीष यादव दिवंगत गैंगस्टर विजय यादव का सगा भाई है। - Jai Bharat Express

Breaking

रेस्टोरेंट में आगजनी करने वाला पकड़ा गया आरोपी सतीष यादव दिवंगत गैंगस्टर विजय यादव का सगा भाई है।

 


रेस्टोरेंट में आगजनी करने वाले  5 - 5 हजार रूपये के फरार तीनों बदमाश गिरफ्तार



जबलपुर
| थाना मदनमहल में दिनाॅक 26-12-2020 को अभिषेक श्रीवास्तव उम्र 28 वर्ष निवासी आमनपुर ने रिपोर्ट दर्ज करायी कि लिंक रोड पर उसका स्पूनवेल नाम से रेस्टोरेंट है उसके रेस्टोरेंट की उपरी मंजिल में उसके दोस्त राज ठाकुर की डाउन टाउन नाम से पार्टी हाल है, उक्त प्रतिष्ठान को देानों मिलकर चलाते है। दिनाॅक 24-12-2020 को रात 10 बजे सतीष यादव निवासी गोरखपुर, राजा श्रीवास्तव निवासी नया मोहल्ला, अक्षय समुद्रे निवासी आगा चौक तथा पारस बेन उसके रस्टोरेंट में खाना खाने आये थे जो काफी देर तक बैठे रहे, जिन्हें जाने को कहते हुये कहा कि रेस्टोरेंट बंद करने का समय हो गया है, इसी बात पर पाॅचों गालीगलोज कर धमकी देने लगे कि रेस्टोरेंट मे आग लगा देंगे, देखते है कैसे दुकान चलाता है तुझे भी जान से मार देंगे, एैसा कहते हुये चले गये थे। दिनाॅक 25-12-220 को अपना रेस्टोरेंट बंद कर अपने घर की तरफ जा रहा था तभी  रात 00-30 बजे एक एक्सिस स्कूटी एवं एक मोटर सायकिल पर सतीष यादव, राजा श्रीवास्तव, आयुष समुद्रे  अक्षय समुद्रे, पारस बेन मदनमहल स्टेशन तरफ से उसके रेस्टोरेंट तरफ जाते दिखे, उसे संदेह होने पर वह उनके पीछे पीछे आया एवं निसार खान के गैरिज के पीछे रूक कर देखा तो पांचो लोगों ने उसके रेस्टोरेंट के चैनल को उठाकर पैट्रोल डालकर अंदर आग लगा दी,

वह डर के कारण पास नहीं गया, सभी चले गये तथा रात 1-10 बजे पुनः आये ओर पत्थर पटक कर तोड़फोड़ किये एवं मोटर सायकिल व स्कूटी से पांचो भाग गये। वह डर के कारण अपने घर चला गया था। सुबह रेस्टोरेंट आया तो देखा कि काउंटर जिस पर लैपटाप रखा था तथा अन्य फर्नीचर आग से जल गया था, पाॅचों ने पूर्व की रंजिश को लेकर आग लगा दिया है जिससे लगभग 2 लाख रूपये का नुकसान हो गया है। रिपोर्ट पर सतीष यादव निवासी गोरखपुर, राजा श्रीवास्तव निवासी नया मोहल्ला, अक्षय समुद्रे निवासी आगा चौक तथा पारस बेन के विरूद्ध 402/2020 धारा 436,34, भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान  प्रकरण में धारा 114, 109, 120 बी भादवि का इजाफा किया गया।

                  पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपियों  की शीघ्र गिरफतारी हेतु आदेशित किये जाने पर 4 आरोपी 1. अक्षय समुद्रे, 2. आयुष समुद्रे, 3. पारस बेन, 4. समीर चावड़ा की प्रकरण में गिरफ्तारी की गयी थी,   1. सतीश यादव 2. राजा श्रीवास्तव, 3. कमलेश महोबिया  घटना दिनाॅक से फरार चल रहे थे, जिनकी गिरफ्तारी हेतु हर सम्भावित स्थानों पर दबिश दी जा रही थी, पकड़े न जाने पर प्रत्येक की गिरफ्तारी पर 5000-5000/- पांच-पांच हजार रुपये का इनाम पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा उद्घोषित करते हुये आरेापियेां की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया था।

 पुलिस को सूचना मिली कि उपरोक्त फरार तीनों आरोपी लिंक रोड स्थित कलारी के पास खड़े हैं, और किसी का इंतजार कर रहे हैं। सूचना पर टीम द्वारा तत्काल घेराबंदी कर दबिश देते हुये  आरोपी 1. सतीश यादव पिता स्वर्गीय श्यामराज यादव उम्र 28 वर्ष निवासी 1584 एल आई सी कॉलोनी जय नगर पार्क यादव कॉलोनी थाना लॉर्डगंज, 2. राजा श्रीवास्तव पिता स्वर्गीय किशन श्रीवास्तव उम्र 35 वर्ष निवासी 112 भीम नगर ग्वारीघाट, 3. कमलेश महोबिया पिता सिंह महोबिया उम्र 25 वर्ष निवासी 761 आगा चौक बापू कॉलोनी थाना लार्ड गंज को अभिरक्षा में लिया गया।

                    उल्लेखनीय है पकड़ा गया आरोपी सतीष यादव दिवंगत गैंगस्टर विजय यादव का सगा भाई है। वर्चस्व की लड़ाई में इनके द्वारा गैंगस्टर दुर्गेश पण्डा ग्रुप के बाबू उर्फ अभिषेक श्रीवास्तव एवं राज ठाकुर की लिंक रोड स्थित स्पून बेल नामक रेस्टारेंट में अपने चार अन्य साथी जो कि पूर्व में गिरफ्तार हो चुके हैं के साथ मिलकर आगजनी की गयी थी।

उल्लेखनीय भूमिका -  फरार ईनामी तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी मदनमहल नीरज वर्मा  के नेतृत्व में गठित टीम के उप निरीक्षक रिषभ सिंह बघेल, मंजूषा धुर्वे, प्रधान आरक्षक निर्मल राय, पारस पाठक, आरक्षक रूप लाल, महिला आरक्षक प्रिया सिंह की सराहनीय भूमिका रही।